Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / November 30.
Homeडिफेंसमहाराष्ट्र पुलिस का बड़ा ऑपरेशन, 50 लाख के इनामी नक्सली समेत 26 को मार गिराया

महाराष्ट्र पुलिस का बड़ा ऑपरेशन, 50 लाख के इनामी नक्सली समेत 26 को मार गिराया

26 Naxals Killed
Share Now

महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) ने नक्सलियों के खिलाफ बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया है. महाराष्ट्र पुलिस की सी-60 यूनिट ने इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है. महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने जानकारी दी है कि गढ़चिरौली जिले के ग्यारापट्टी में पुलिस ने 26 नक्सलियों को मार गिराया (26 Naxals Killed). जिसमें नक्सल कमांडर मिलिंद तेलतुम्बड़े भी शामिल था. इसके ऊपर पुलिस 50 लाख का इनाम घोषित किया था.

एनकाउंटर में इनामी नक्सली ढेर

इसके अलावा लोकेश मंगू के ऊपर 20 लाख, महेश शिवाजी राव पर 16 लाख, सानू कोवाची और कमांडर किशन के ऊपर 8-8 लाख का इनाम घोषित जबकि भगत सिंह/प्रदीप पर 6 लाख का इनाम घोषित किया था. ये सभी नक्सली पुलिस एनकाउंटर (26 Naxals Killed) में मारे गए. हालांकि इस कार्रवाई में तीन पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

घंटों चला ऑपरेशन

जानकारी के मुताबिक शनिवार सुबह नक्सलियों के खिलाफ शुरू हुआ महाराष्ट्र पुलिस का ऑपरेशन घंटों चलता रहा. घंटों तक चले इस एनकाउंटर में एक के बाद एक कई नक्सली मार गिराए गए, पुलिस को ऐसी जानकारी मिली थी कि गढ़चिरौली के जंगलों में नक्सली छिपे हैं, जिसके बाद पुलिस ने वहां पहुंचकर तलाशी शुरू की तो दोनों तरफ से मुठभेड़ शुरू हो गई.

26 Naxals Killed

Image Courtesy: Google.com

ये भी पढ़ें: केन्द्रीय गृहमंत्री ने उग्रवाद प्रभावित राज्यों के CM के साथ की बैठक, हर 3 महीने में समीक्षा बैठक के निर्देश

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में कमी

नक्सलियों के खिलाफ देश के कई राज्यों में पुलिस और अर्द्धसैनिक बल की ओर से लगातार ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं, हाल ही में केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने नक्सल प्रभावित क्षेत्र के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी. रिपोर्ट की माने तो साल 2009 में वापमंथी उग्रवाद (Left Wing Extremism) संबंधित हिंसा की घटनाएं जहां 2,258 थी तो वहीं साल 2020 में इसमें 70 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है. साल 2020 में ये आंकड़ा 665 पहुंच गया है. इन घटनाओं में होने वाली मौत की बात करें तो उसमें भी 82 प्रतिशत की कमी आई है. साल 2010 में 96 जिले माओवादी प्रभाव वाले थे, जो साल 2020 में 53 तक सीमित हुए और अब माओवादियों को 25 जिलों तक सीमित कर दिया गया है.

No comments

leave a comment