Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / November 27.
Homeहेल्थगुजरात समेत इन राज्यों के बच्चे हैं कुपोषण के शिकार, RTI जवाब में खुलासा

गुजरात समेत इन राज्यों के बच्चे हैं कुपोषण के शिकार, RTI जवाब में खुलासा

Global Hunger Index
Share Now

भारत के राज्यों में आज भी बच्चे कुपोषण का शिकार हो रहे हैं, कोरोना महामारी से देश के कई राज्यों में निवास करते गरीब और गांववासियों पर कुपोषण का संकट बढ़ रहा है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक भारत के 33 लाख से ज्यादा बच्चे कुपोषण (Malnourishedका शिकार हो रहे हैं। देश के 34 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मिलाकर गंभीर आंकड़े सामने आए हैं जिसमें गंभीर रूप से लगभग 17.7 लाख बच्चे कुपोषित हैं, इस लिस्ट में बिहार, महाराष्ट्र  समेत गुजरात जैसे बड़े राज्य भी शामिल है। 

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय (Ministry of Women and Child Development/WCD) ने आरटीआई के जवाब में खुलासा किया है, आरटीआई जवाब में खुलासा किया कि देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मिलाकर लगभग 33,23,322 बच्चे कुपोषित हैं।

वहीं ग्लोबर हंगर इंडेक्स (Global Hunger Index)  में भारत  101वें स्थान पर पहुंच गया है, वहीं पिछले वर्ष भारत वैश्विक भुखमरी सूचकांक में भारत 94 वें स्थान पर था। इसके अलावा पड़ोसी देश बांग्लादेश, पाकिस्तान और नेपाल भी इस इंडेक्स में शामिल है। 

महाराष्ट्र, गुजरात और बिहार में कुपोषण का संकट: 

देश की आर्थिक राजधानी महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा बच्चे कुपोषण (Malnourished) के शिकार हो रहे हैं वहीं दूसरे और तीसरे नंबर पर बिहार और  गुजरात राज्य हैं। आरटीआई के जवाब के मुताबिक, महाराष्ट्र में कुपोषित बच्चों की संख्या सबसे अधिक यानी 6.16 लाख दर्ज हुई है, जिसमें 1,57,984 बच्चे अल्प कुपोषित और 4,58,788 बच्चे अत्यंत कुपोषित थे। इन आंकड़ों में दूसरे नंबर पर बिहार है, वहां 4,75,824 लाख कुपोषित बच्चे हैं। और तीसरे नंबर पर गुजरात है, कुपोषित बच्चों की कुल संख्या 3.20 लाख है। 

मंत्रालय का अनुमान है कोरोना महामारी से कुपोषण का संकट बढ़ सकता है:- 

मंत्रालय का मानना है कोरोना जैसे वैश्विक महामारी के कारण गरीबों में कुपोषण (Malnourished) का संकट बढ़ सकता है। चिंता का विषय बन चुका है, पिछले वर्ष नवंबर की तुलना में वर्ष 2020 से 14 अक्टूबर, और वर्ष 2021 के दौरान कुपोषित बच्चों की संख्या में 91 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई है। 

यहां पढ़ें: बकरी का दूध डेंगू बुखार में बना संजीवनी! ऐसा कौनसा चमत्कारिक गुण है इसमें विद्यमान, जानिए..

इसके अलावा अन्य राज्यों में भी बच्चे कुपोषण के शिकार हो रहे हैं, जहां आंध्र प्रदेश में 2,67,228 बच्चे, तमिलनाडु में 1.78 लाख, तेलंगाना में 1,52,524 लाख, उत्तर प्रदेश में 1.86 लाख, असम में 1.76 लाख और कर्नाटक में 2,49,463 बच्चे कुपोषण के शिकार हैं। 

देखें यह वीडियो: जानिए क्या है मायोपिया के लक्षण? 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment