Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / December 1.
HomeBusiness5 Years of Demonetization: आज से पांच साल पहले पीएम मोदी ने लिया था नोटबंदी का ऐतिहासिक फैसला

5 Years of Demonetization: आज से पांच साल पहले पीएम मोदी ने लिया था नोटबंदी का ऐतिहासिक फैसला

5 years of Demonetization
Share Now

5 Years of Demonetization: भारत के इतिहास में आज का दिन शायद ही कभी भुलाया जा सकता है। आज ही के दिन 5 साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया था, जिसकी कल्पना आम आदमी ने कभी नहीं की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने आठ नवंबर 2016 की रात आठ बजे देश को संबोधित किया था। इस संबोधन में पीएम मोदी ने रात 12 बजे से देश में 500 और 1000 की नोटों को बंद (5 years of Demonetization) करने का ऐलान कर दिया। पीएम मोदी के इस ऐलान के बाद देश में हड़कंप मच गया था।

काले धन और नकली मुद्रा की समस्या के लिए उठाया था ये कदम:

किसी भी देश के नोटबंदी करना कोई आसान काम नहीं होता है। कई सदियों में ऐसे कदम उठाए जाते है। लेकिन पीएम मोदी ने ये साहसिक फैसला लेते हुए नोटबंदी की। प्रधानमंत्री ने ऐलान किया कि देश में मौजूद काले धन और नकली मुद्रा की समस्या को समाप्त करने के लिए यह कदम उठाया है। 2016 में हुई नोटबंदी को आज पांच साल हो गए हैं। आमजन को कई महीनों तक काफी परेशानी भी हुई। लेकिन करीब 6 महीनों बाद देश में नई मुद्रा पर्याप्त मात्रा में बाजार में आ गई। उसके बाद लोगों की परेशानी बहुत कम हो गई।

2000 रूपये का नोट आया चलन में:

पीएम मोदी के नोट बंदी के फैसले के बाद उस समय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए 500 और 2000 के नए नोट सार्वजनिक किए थे। नोट बंदी के बाद लोगों को दो दिन में ही पुराने नोट बैंक से बदलवाने का एलान किया गया। सरकार ने लोगों द्वारा बैंक से राशि निकलवाने की राशि भी तय की गई, जिससे बाजार में नोटों के लिए मारामारी ना हो। पहले एटीएम से 2500 रुपये निकाल सकते थे, वहीं कुछ दिनों बाद इसे बढ़ाकर चार हजार कर दिया गया।

बैंको और एटीएम के आगे दो-दो किलोमीटर की लगी थी लाइन:

सरकार के इस फैसले के बाद लोगों में हड़कंप मच गया था। हर व्यक्ति हैरान था कि अब क्या होगा। बैंकों और एटीएम के आगे उस समय दो-दो किलोमीटर तक की लाइन भी देखने को मिली थी। बैंकों और एटीएम के आगे पुलिस जाब्ता तैनात किया गया था। जिससे कोई अप्रिय घटना ना हो। लोग रात-रात भर बैंको के बाहर और एटीएम के बाहर लाइन में खड़े रहे। पूरे देश में यही हाल रहा। इस दौरान देश में कई लोगों की मौत की खबर भी सामने आई। विमुद्रीकरण के बाद महीनों तक एटीएम में नकदी की कमी थी।

यहाँ पढ़ें: चेन्नई में भारी बारिश ने बरपाया कहर, 3 जिलों में NDRF की 4 टीमें तैनात

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment