Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / November 27.
Homeन्यूज5G का इंतजार खत्म! दो कंपनियों को मिला स्पेक्ट्रम और लाइसेंस, गुजरात में होगी टेस्टिंग

5G का इंतजार खत्म! दो कंपनियों को मिला स्पेक्ट्रम और लाइसेंस, गुजरात में होगी टेस्टिंग

5G Network
Share Now

5जी (5G Network) का इंतजार कर रहे लोगों को लिए अच्छी ख़बर सामने आई है. अब सरकार की ओर से दो टेलीकॉम कंपनियों को इसके लिए बकायदा लाइसेंस और स्पेक्ट्रम दे दिया गया है. 5जी की टेस्टिंग गुजरात (5G Testing Gujarat)  में होगी.

तकनीकी टीम ने किया परीक्षण स्थल का दौरा

पीआईबी (PIB) की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक दूरसंचार विभाग ने गुजरात में 5जी की टेस्टिंग के लिए 27 मई को ही लाइसेंस और स्पेक्ट्रम आवंटित कर दिए थे. 11 नवंबर को दूरसंचार विभाग के निदेशक सुमित मिश्रा, गुजरात लाइसेंस सर्विस एरिया की संचालन समिति के निदेशक विकास दधीच और सहायक मंडल अभियंत सूर्यश गौतम ने वोडाफोन आइडिया लिमिटिड और नोकिया की तकनीकी टीम के साथ गांधीनगर में परीक्षण स्थलों का दौरा किया.

5G Network

Image Courtesy: Google.com

4जी से 100 गुना ज्यादा मिली स्पीड

परीक्षण के दौरान गांधीनगर के महात्मा मंदिर स्थित 5जी (5G Network) साइट पर डेटा स्पीड 4जी से करीब 100 गुना तेज 1.5 जीबीपीएस पाई गई. स्पीड का परीक्षण नॉन स्टैंडअलोन 5जी मोड पर किया गया.

वोडाफोन आइडिया और रिलायंस को मिला है लाइसेंस

बता दें कि वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (Vodafone Idea Limited) और रिलायंस जियो इन्फोकॉम (Reliance Jio Infocomm) को इसके लिए लाइसेंस मिला है. इनमें से वोडाफोन आइडिया लिमिटेड गांधीनगर शहरी, मनसा अर्ध शहरी और उनाव ग्रामीण में उपकरण आपूर्तिकर्ता के रूप में नोकिया के साथ काम करेगा. जबकि रिलायंस जियो इन्फोकॉम जामनगर अर्ध शहरी/ग्रामीण में उपकरण आपूर्तिकर्ता के रूप में सैमसंग के साथ काम करेगा.

5G Network

Image Courtesy: Google.com

ये भी पढ़ें: क्यों हो रहा है 5G नेटवर्क का विरोध ?

5जी तक के सफर पर एक नजर

5जी (5G Network) का परीक्षण सफल होने और इस तकनीक के आने से इंटरनेट की दुनिया इतनी तेज हो जाएगी कि आज आप और हम जिस स्पीड से डेटा ट्रांसफर करते हैं, उससे 20 गुना ज्यादा तेजी से ये काम होगा. परीक्षण के दौरान भी 100 गुना तेज स्पीड दर्ज की गई है. जहां तक 5जी के सफर की बात है तो साल 1980 से वॉयल कॉल के जरिए 1जी का सफर शुरू हुआ, उसके दस साल बाद 2जी (2G Network) आया. उसके दस साल बाद 3जी जिसने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के सफर की शुरुआत की और फिर 2009 में 4जी (4G Network) ने इंटरनेट स्पीड को पहले की तुलना में काफी तेज कर दिया और अब 5जी की मदद से इंटरनेट स्पीड और तेज होने के साथ-साथ संचार के क्षेत्र में नई क्रांति आने की उम्मीद है.

No comments

leave a comment