Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / May 17.
Homeन्यूजAgni Prime Missile का सफल परीक्षण, 2000 KM तक करेगी मार

Agni Prime Missile का सफल परीक्षण, 2000 KM तक करेगी मार

Agni Prime Missile
Share Now

Agni Prime Missile: भारत सरकार के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन ने अग्नि सीरीज की नई मिसाइल Agni-Prime का सफल परीक्षण किया है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन द्वारा विकसित इस मिसाइल का ओडिशा के तट पर सफल परीक्षण किया गया। भारत ने सोमवार सुबह 10:55 बजे ओडिशा के तट पर अग्नि सीरीज की एक नई मिसाइल अग्नि-प्राइम (Agni Prime Missile) का सफल परीक्षण किया।

जानकारी के अनुसार परीक्षण सोमवार सुबह 10.55 बजे ओडिशा के तट के पास डॉ अब्दुल कलाम टापू पर किया गया है। सूत्रों के अनुसार परीक्षण के दौरान मिसाइल सभी पैमानों पर सटीक पाई गई है। Agni सीरीज की यह नई मिसाइल Agni Prime 1000-2000 किलोमीटर तक सटीक निशाना साध सकती है।

DRDO ने ट्वीट करके दी जानकारी:

यहाँ पढ़ें: पुलवामा में SPO के परिवार पर आतंकी हमला!

अग्नि-3 से 50 प्रतिशत कम है इसका वजन:

डीआरडीओ द्वारा लॉन्च की गई अग्नि पी का वजन अग्नि-3 से 50 प्रतिशत कम है। इसमें गाइडेंस एवं उड़ान के लिए नई तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। अग्नि पी की एक बड़ी खासियत यह है कि इसे रेल एवं सड़क मार्ग से लॉन्च किया जा सकता है। यहां तक कि इसे किसी स्थान पर लंबे समय तक रखा जा सकता है और जरूरत पड़ने पर देश भर में कहीं भी ले जाया जा सकता है।

यहाँ पढ़ें: पहली बार दो भारतीय तैराकों ने हासिल किया ‘A’ मार्क

मारक क्षमता 1000-2000 किलोमीटर:

इस मिसाइल की मारक क्षमता 1000-2000 किलोमीटर के बीच बताई गई है। यह भारत-प्रशांत महासागर में दुश्मन के युद्धपोतों को तहस-नहश कर सकती है।

मोबाइल लॉन्चर से भी कर सकेंगे फायर:

अग्नि प्राइम मिसाइल दो स्टेज और सॉलिड फ्यूल पर आधारित है। इसे एडवांस रिंग-लेजर गायरोस्कोप पर आधारित जड़त्वीय नेविगेशन सिस्टम द्वारा निर्देशित किया जाएगा। दोनों चरणों में समग्र रॉकेट मोटर्स हैं। इसका गाइडेंस सिस्टम इलेक्ट्रोमैकेनिकल एक्ट्यूएटर्स से लैस हैं। रक्षा विभाग से जुड़े सूत्रों ने बताया कि सिंगल स्टेज वाले अग्नि-1 के विपरीत, डबल स्टेज वाले अग्नि प्राइम फ्लैक्सिबिलिटी के साथ सड़क और मोबाइल लॉन्चर दोनों से फायर किया जा सकता है।

यहाँ पढे: जम्‍मू एयरफोर्स स्‍टेशन पर हुए ड्रोन हमलें के पीछे क्या है वजह?

पहली बार 1989 में अग्नि का हुआ था परीक्षण

आंकड़ों के अनुसार, ‘अग्नि प्राइम’ एक छोटी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल है जिसकी मारक क्षमता 1000 किमी से 1500 किमी होगी। यह सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल है जो लगभग 1,000 किलोग्राम का पेलोड या परमाणु शस्त्र ले जा सकती है। डबल स्टेड वाली मिसाइल ‘अग्नि-1’ की तुलना में हल्की और अधिक पतली होगी। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अग्नि प्राइम को 4,000 km रेंज वाली अग्नि 4 और 5,000 km वाली अग्नि पांच में इस्तेमाल होने वाली तकनीक को मिलाकर बनाया गया है।

भारत के पास हैं अग्नि सीरीज की मिसाइलें

अग्नि-1 700 से 1200 किलोमीटर
अग्नि-2 2000 से 3,500 किलोमीटर
अग्नि-3 3000 से 5000 किलोमीटर
अग्नि-4 3,500-4000 किलोमीटर
अग्नि-5 5000-8000 किलोमीटर
अग्नि-6 11,000-12,000 किलोमीटर (विकास जारी)

जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले गुरुवार को भारत ने ओडिशा तट के चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज से 1000 किलोमीटर की दूरी के साथ अपनी सबसोनिक क्रूज परमाणु-सक्षम मिसाइल निर्भय का सफल परीक्षण किया था। मिसाइल का परीक्षण लगभग 10 बजकर 45 मिनट पर आईटीआर के III के लॉन्च कॉम्प्लेक्स से किया गया। निर्भय मिसाइल की तुलना अमेरिका के टॉमहॉक और पाकिस्तान के बाबर मिसाइल से की जाती है।

यहाँ पढ़ें: आईपीएल की वजह से मुश्किल में फंसे ये ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, जानिए पूरा मामला

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें OTT INDIA App पर….

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment