Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Friday / September 30.
Homeडिफेंसश्रीलंका तट के निकट केमिकल से लदे कार्गो शिप ‘MVX-Press Pearl’ में लगी आग

श्रीलंका तट के निकट केमिकल से लदे कार्गो शिप ‘MVX-Press Pearl’ में लगी आग

Share Now

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो के निकट तट पर, एक कार्गो शिप ‘MVX-Press Pearl’ में आग लगने की वजह से देश के समुद्री जीवों पर और पर्यावरण पर खतरा मंडरा रहा है। खबरों के मुताबिक, MVX-Press Pearl सिंगापुर का रजिस्‍टर्ड जहाज है। यह एक केमिकल से लदा मालवाहक जहाज है। जो कि पूरी तरह से डूबने की कगार पर है। इस जहाज में 25 मई से आग लगी हुई है। लगभग पिछले 2 हफ्तों से आग लगी है।आशंका यह भी जताई जा रही है कि अब जहाज से केमिकल रिस कर समुद्र में पहुंच सकता है। सैकड़ों टन इंजन ऑयल समुद्र में पहुंचने से समुद्री जीवों पर खतरा मंडरा रहा है। जहाज के बचाव कार्य में भारतीय सेना और श्रीलंकन सेना निरंतर प्रयास कर रही है और कप्तान सहित 25 कर्मचारियों को सुरक्षित जहाज से निकाला जा चुका है। 

श्रीलंका और भारत की नौसेनाएं मिलकर पिछले कुछ दिनों से आग बुझाने की कोशिश कर रही थीं, ताकि जहाज टूटकर डूब न जाए। 

श्रीलंका की नौसेना के प्रवक्ता, कैप्टन इंडिका सिल्वा ने बताया कि, समुद्र में उठती तेज लहरों और मॉनसूनी हवाओं के कारण इस काम में कई मुश्किलें आ रही हैं। जिस वजह से जहाज़ डूब रहा है। लेकिन इसे डूबने से पहले गहरे समुद्र की ओर ले जाने की कोशिश हो रही है, ताकि तटीय इलाकों के  पानी को दूषित होने से बचाया जा सके।  

देखें यह वीडीओ:भारतीय सेना ने पुराने शिव मंदिर की मरम्मत 

जहाज की वजह से तटीय इलाकों में टनों प्‍लास्टिक हुई जमा: 

तटीय इलाकों में प्लास्टिक और तेल का मलबा Image Credit: file Photo

सूत्रों के मुताबिक, श्रीलंका के तटीय इलाकों में से नेगोम्बो शहर के नजदीक का तटीय इलाका देश का सबसे पुराना तट माना जाता है। पिछले कुछ दिनों से इन इलाकों में प्लास्टिक और तेल का मलबा देखा जा रहा है। फिशरीज डिपार्टमेंट के राज्यमंत्री ने बताया कि नेगोम्बो खाड़ी से जहाजों के आने और पानादुरा से नेगोम्बो तक मछली पकड़ने पर तुरंत रोक लगा दी गई है। उनका यह भी  कहना है कि खाड़ी और इसके आसपास के इलाके को किसी भी तरह के मलबे या लीक होने वाले तेल के नुकसान से बचाने के लिए सभी आपातकालीन एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। 

यहाँ पढ़ें: जानिए, कौन सा देश है क्षेत्रफल में सबसे बड़ा लेकिन जनसंख्या सबसे कम!

सिंगापुर एक्स-प्रेस शिपिंग कंपनी का है जहाज: MVX-Press Pearl

खबरों के मुताबिक, MVX-Press Pearl केमिकल मालवाहक जहाज सिंगापूर एक्सप्रेस शिपिंग कंपनी रजिस्‍टर्ड जहाज है। कंपनी ने इस बात की पुष्टि की है कि जहाज के कर्मचारियों को जहाज लीक की जानकारी थी। कंपनी के मुताबिक कर्मचारियों ने बताया कि जहाज में आग लगने से पहले कतर और भारत ने उन्हें जहाज छोड़कर जाने की इजाज़त नहीं दी थी। दो देशों के इजाजत न देने के बाद श्रीलंका ने इस जहाज को अपनी सीमा में आने की इजाजत दी। 

अधिकारियों द्वारा जहाज के कप्तान के खिलाफ शिकायत दर्ज

आपको बात दें, अधिकारियों द्वारा जहाज के कप्तान के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है। इसके साथ ही भारतीय सेना और श्रीलंका सेना द्वारा कप्तान और जहाज के बाकी कर्मचारियों को पिछले हफ्ते सुरक्षित जहाज से निकाला जा चुका है। मंगलवार के दिन श्रीलंका पुलिस ने बताया कि  जहाज के कप्तान और इंजीनियर से 14 घंटे तक पूछताछ की गई है। जिस वजह से अदालत की ओर से जारी आदेश के बाद अब जहाज के कप्तान, चीफ इंजीनियर और अन्य इंजीनियर को देश छोड़कर जाने की अनुमति नहीं है।   

एक्स-प्रेस फीडर्स का सबसे बड़ा मालवाहक जहाज: MVX-Press Pearl

दुनिया की सबसे बड़ी फीडर ऑपरेटर कंपनी एक्स-प्रेस फीडर्स (X-PRESS FEEDERS)  का 186 मीटर लंबा मालवाहक जहाज है जो 1,486 कंटेनर ले जा रहा था।  इनमें 25 टन नाइट्रिक एसिड समेत कई अन्य केमिकल और कॉस्मेटिक्स थे। 15 मई 2021 को ये जहाज भारत के हजीरा पोर्ट से रवाना हुआ था।

यहाँ पढ़ें: रक्षा मंत्रालय द्वारा ‘108 सैन्य साज़ोसामानों’ के आयात पर रोक, निर्यात को बढ़ावा

अथॉरिटीज को शक है कि जहाज में नाइट्रिक एसिड लीक की वजह से ब्‍लास्‍ट हुआ होगा। इसके बार में क्रू को कोई जानकारी नहीं थी। अथॉरिटीज मान रही हैं कि 11 मई को नाइट्रिक एसिड लीक हुआ होगा। 

सबसे बड़ा मालवाहक जहाज है:MVX-Press Pearl

भारतीय नौसेना ने की मदद:- 
भारत ने 25 मई को आग बुझाने में श्रीलंकाई नौसेना की मदद करने के लिए आईसीजी वैभव, आईसीजी डोर्नियर और टग वाटर लिली को रवाना किया था। प्रदूषण से निपटने के लिए भारत का एक विशेष पोत ‘समुद्र प्रहरी’ भी 29 मई को वहां पहुंचा था।  जहाज पर सवार क्रू के सभी 25 सदस्यों को 21 मई को बचाया गया था। MVX-Press Pearl केमिकल मालवाहक जहाज में भारत, चीन, फिलीपीन और रूस के नागरिक थे। जहाज अभी कोलंबो के पोर्ट पर खड़ा है। 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें..  स्वस्थ रहें.. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment