Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 2.
Homeन्यूजनोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर Akhilesh का कटाक्ष, कहा- बीजेपी उसे भी बेच देगी

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर Akhilesh का कटाक्ष, कहा- बीजेपी उसे भी बेच देगी

Akhilesh
Share Now

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में छोटे दलों से गठबंधन करने के बाद अब समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) सहयोगियों के सहयोग से चुनाव के लिए अनुकूल माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं. गुरुवार को पीएम मोदी ने जेवर में एयरपोर्ट गिफ्ट दिया, तभी अखिलेश लखनऊ से दहाड़ते नजर आए. अखिलेश ने कहा कि एक तरफ एयरपोर्ट बिक रहे हैं तो दूसरी तरफ एयरपोर्ट बन रहे हैं. ये बीजेपी की कमाई का खेल है.

रैली लखनऊ में आयोजित हुई थी

जहां पीएम मोदी जेवर में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर जमीन का भूमिपूजन कर विकास की सौगात दे रहे थे, उसी समय अखिलेश यादव उन पर निशाना साधते नजर आए. अखिलेश यादव ने कहा कि लखनऊ का अमोसी एयरपोर्ट अब सरकार का नहीं रहा. सरकार ने इसे बेच दिया है. आज जेवर हवाई अड्डे के लिए 90,000 से अधिक सीटें निर्धारित की गईं और पूरा स्टाफ भीड़ जुटाने में लगा हुआ है.

देखें ये वीडियो: Jewar Airport Foundation Stone | Noida Airport

वह पहले एयरपोर्ट बनाएंगे और फिर एयरपोर्ट को बेचेंगे

अखिलेश ने कहा कि एक तरफ वे एयरपोर्ट बेच रहे हैं और दूसरी तरफ नए बना रहे हैं. क्या बेचारा जूता बेचने वाला हवाई जहाज तक पहुंच गया है? उन्होंने कहा कि देश के सभी हवाईअड्डे घाटे में हैं और एयरलाइंस 60,000 करोड़ रुपये के घाटे में चल रही हैं. ऐसे में एयरपोर्ट बनाना बीजेपी के लिए मुनाफा कमाने का गणित है, क्योंकि एयरपोर्ट बनने पर बीजेपी उसे भी बेच देगी.

भाजप हटाओ, देश बचाओ के नारे लगाए गए

अखिलेश यादव ने लखनऊ में पीपुल्स सोशलिस्ट पार्टी की जनक्रांति महारेली में ‘भाजपा हटाओ, राज्य बचाओ’ के नारे लगाए. उन्होंने पिछड़ी जातियों से 2022 के चुनाव में भाजपा को हराने के लिए एकजुट होने का भी आह्वान किया.

Akhilesh

COURTESY: GOOGLE.COM

कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाते दिखे अखिलेश यादव!

पीपुल्स सोशलिस्ट पार्टी के अध्यक्ष संजय चौहान के साथ मंच साझा करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि कार्यकर्ताओं का उत्साह देखकर लगता है कि निकट भविष्य में भाजपा का निधन निश्चित है. उन्होंने कहा कि हर वर्ग और समाज के लोग बीजेपी से नाखुश हैं. राज्य में पहले भी कई सरकारें रही हैं, लेकिन किसी भी सरकार ने लोगों को इतनी परेशानी नहीं दी.

अखिलेश यादव भी पीपुल्स सोशलिस्ट पार्टी की रैली के जरिए सपा के जातिगत समीकरण को सुधारते दिखे. उन्होंने कहा कि भाजपा ने लोगों को परेशान करने के अलावा चौहान समुदाय के साथ विश्वासघात करने का भी काम किया है. भाजपा ने आपके अधिकार छीन लिए हैं, इसे सत्ता से हटाने का काम करें. इस तरह अखिलेश ने पश्चिमी यूपी के मऊ, गाजीपुर, आजमगढ़ जिलों में एक प्रभावी नोनिया और पासी समुदाय स्थापित करने की मांग की.

बीजेपी पर हमला

निजीकरण का मुद्दा उठाते हुए अखिलेश ने कहा कि अगर सरकारी संस्थानों और संपत्तियों को इस तरह बेचा जाएगा तो दलितों और पिछड़े वर्गों को रिजर्व कहां से मिलेगा. उन्होंने यह भी कहा कि किसानों की हालत खराब है, धान की फसल आ रही है. बिजली, खाद, डीजल सब महंगा हो गया है. अखिलेश ने कहा कि ये लोग उद्योगपतियों के लिए दाम बढ़ा रहे हैं. शिक्षा बर्बाद हो रही है और युवान बेरोजगार भटक रहे है. बिजली बिल से जनता को बिजली मिल रही है.

ये भी पढ़ें: बिना किसी अप्रूवल के विदेशी बोर्ड के छात्रों को मिलेगा एडमिशन, CBSE ने जारी की प्रेस रिलीज

अखिलेश ने कहा कि 2022 के चुनाव नजदीक हैं. सपा सभी दलों को एकजुट करने का काम कर रही है. ओमप्रकाश राजभर, महान दल, कृष्ण पटेल के साथ आए और अब आप भी आएं और शामिल हों. इस एक रंग के लोग खुशी नहीं ला सकते. अभी तक भाजपा ने अपना कोई काम नहीं किया है, सिर्फ नाम बदलकर दूसरों के काम का उदघाटन और शिलान्यास किया है.

जाती आधारित जनगणना का मुद्दा उठाया

कृषि कानून वापस लेने पर अखिलेश यादव ने कहा कि मोदी सरकार ने वोट न मिलने के डर से तीन कृषि कानूनों को वापस ले लिया है. वे किसानों का कल्याण नहीं चाहते. उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी जाति जनगणना नहीं कराना चाहती है, लेकिन जैसे ही सपा सरकार आएगी, जाति के आधार पर जनगणना कराकर सभी को अधिकार दिए जाएंगे. अखिलेश ने ओबीसी जातियों तक पहुंचने के लिए जाति जनगणना का मुद्दा उठाया है.

No comments

leave a comment