Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / August 17.
Homeन्यूजअखिलेश यादव इस सीट से ठोकेंगे चुनावी ताल! जानिए कैसा रहा है करहल का राजनीतिक इतिहास

अखिलेश यादव इस सीट से ठोकेंगे चुनावी ताल! जानिए कैसा रहा है करहल का राजनीतिक इतिहास

akhilesh
Share Now

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) किस विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगे इसे लेकर कयासों का दौर खत्म हो गया. सीएम योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) के गोरखपुर सदर से चुनाव लड़ने के बाद सपा प्रमुख ने भी अपने गढ़ से ही चुनाव लड़ने का फैसला लिया है. ख़बर है कि अखिलेश यादव ने अपने लिए मैनपुरी(Mainpuri) के करहल विधानसभा सीट(Karhal Assembly Seat) को चुना है.

सपा का गढ़ है मैनपुरी  

बता दें कि मैनपुरी शुरू से समाजवादी पार्टी(Samajwadi Party) का गढ़ रहा है, कहते हैं कि नेताजी के परिवार का कोई भी व्यक्ति मैनपुरी के किसी भी सीट से चुनाव जीत सकता है. हालांकि कई मौको पर मैनपुरी के अलग-अलग विधानसभा सीटों पर सपा प्रत्याशियों को भी हार का सामना करना पड़ा है. मैनपुरी की करहल(Karhal) विधानसभा सीट भी उसी में एक है. इस सीट पर साल 2002 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को जीत हासिल हुई थी.

सपा के लिए है सेफ सीट

हालांकि सपा के लिए फिलहाल ये काफी सेफ सीट है. बीते तीन विधानसभा चुनाव से यहां समाजवादी पार्टी के नेता सोवरन सिंह यादव विधायक चुने जाते रहे हैं. साल 2017 के चुनाव में सोवरन सिंह यादव ने बीजेपी प्रत्याशी को बड़े अंतर से मात दी थी. बता दें कि इससे पहले अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) के आजमगढ़ के गुन्नौर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की चर्चा हो रही थी.

फिलहाल आजमगढ़ से सांसद हैं अखिलेश

बता दें कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) फिलहाल आजमगढ़(Azamgarh) से सांसद(MP) हैं. साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में अखिलेश यादव ने आजमगढ़ लोकसभा सीट से जीत हासिल की थी. ऐसे में उन्हें सांसद पद से इस्तीफा देना होगा. यूपी चुनाव(UP Election 2022) के ऐलान से पहले ऐसी ख़बरें सामने आई थी कि सपा की वापसी के दावे करने वाले अखिलेश खुद चुनावी मैदान में नहीं होंगे.

ये भी पढ़ें: गोरखपुर सदर से सीएम योगी को टक्कर देंगे भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर, ‘भइया’ से नहीं बनी थी बात

हालांकि ये सवाल पूछे जाने पर अखिलेश यादव ने यही कहा था कि अगर पार्टी तय करती है तो वह चुनाव जरूर लड़ेंगे. खास बात ये है कि इसी सीट से पहली बार नेताजी मुलायम सिंह यादव(Mulayam Singh Yadav) ने चुनाव लड़ा था, करहल के ही इंटर कॉलेज से ही मुलायम सिंह ने शिक्षा ग्रहण की थी. यह नेताजी के पैतृक गांव सैफई से काफी नजदीक भी है.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment