Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 20.
Homeन्यूजपेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के बीच एथेनॉल के विकल्प पर विचार, जानें क्या है सरकार का प्लान

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के बीच एथेनॉल के विकल्प पर विचार, जानें क्या है सरकार का प्लान

Ethanol
Share Now

PIB: पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) की बढ़ती कीमतों और पर्यावरण में बढ़ते प्रदूषण के बीच एथेनॉल (Ethanol) के विकल्प पर विचार जारी है, यहां तक कि भारत में कई अरब लीटर एथेनॉल (Ethanol) का उत्पादन हो रहा है, लेकिन वो पर्याप्त नहीं है, इसे और बढ़ाए जाने की जरूरत है. केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि देश में 100 फीसदी वाहन एथेनॉल से चलने चाहिए.

ईंधन की हो सकती है बचत

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि एथेनॉल के उत्पादन (Ethanol Production) से देश में ईंधन की बचत हो सकती है. ब्राजील की तरह की बिजली और एथेनॉल से वाहन चलाए जाने की जरूरत है. बीते साल देश में 4.65 अरब लीटर एथेनॉल (Ethanol) का उत्पादन हुआ, जबकि हमें 16.5 अरब लीटर एथेनॉल की जरूरत है, यानि भारत को अभी भी करीब 12 अरब लीटर और एथेनॉल का उत्पादन करने की जरूरत है.

Ethanol

Image Courtesy: Google.com

पेट्रोल की तुलना में सस्ता है एथेनॉल

केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि एथेनॉल (Ethanol) पेट्रोल की तुलना में न सिर्फ सस्ता है बल्कि हरित ईंधन भी है, मतलब पर्यावरण के अनुकूल है, इससे पर्यावरण के नुकसान नहीं पहुंचता. आंकड़ों की बात करते हुए गडकरी ने कहा कि फिलहाल 12 लाख करोड़ रुपये का कच्चा तेल और प्राकृतिक गैस हम आयात कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने एथेनॉल पंप को अनुमति दे दी है. चीनी मिलों को अपने-अपने क्षेत्रों में एथेनॉल पंप शुरू कर देने चाहिए.

ethanol sugarcane

Image Courtesy: Google.com

क्या है चीनी उत्पादन का गणित

केन्द्रीय मंत्री ने ये भी बताया कि देश में 310 लाख टन चीनी का उत्पादन बीते साल हुआ था, जबकि देश को 240 लाख टन चीनी की जरूरत है, यानि इसमें से 70 लाख टन चीनी का इस्तेमाल हम एथेनॉल बनाने में कर सकते हैं. भारत सरकार बिजली खरीद समझौते की तरह ही एथेनॉल खरीद समझौता करने को भी तैयार है.

ethanol sugarcane

Image Courtesy: Google.com

ये भी पढ़ें: पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों से मिलेगा छुटकारा! जानिए क्या है नए ऐलान!

चीनी के अलावा इन अनाजों से बन सकेगा एथेनॉल

चीनी से एथेनॉल (Ethanol) बनाए जाने की सबसे बड़ी खास बात ये होगी कि किसानों को गन्ने का उचित दाम मिल सकेगा. बड़ी बात ये है कि सरकार ने गन्ने के अलावा चावल, मक्का और अन्य अनाजों से भी एथेनॉल उत्पादन की अनुमति दी है. ये बातें केन्द्रीय मंत्री ने महाराष्ट्र के अहमदनगर में 527 किलोमीटर लंबी राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की शुभारंभ के दौरान कही.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment