Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / May 17.
Homeभक्तिAshadha Amavasya 2021: आषाढ़ अमावस्या के दिन प‍ितरों की पूजा का है बड़ा ख़ास महत्व

Ashadha Amavasya 2021: आषाढ़ अमावस्या के दिन प‍ितरों की पूजा का है बड़ा ख़ास महत्व

Ashadha Amavasya 2021
Share Now

Ashadha Amavasya 2021: हिंदू धर्म में हर दिन का अपना अलग महत्व होता है। शुक्रवार यानी 9 जुलाई को आषाढ़ अमावस्या मनाई जाएगी। आषाढ़ अमावस्या (Ashadha Amavasya 2021) को हलहारिणी अमावस्या (Halharini Amavasya) के नाम से भी जाना जाता है। पौराणिक मान्यता के अनुसार ऐसा माना जाता है कि इस दिन से वर्षा ऋतु की शुरुआत होती है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा और पितरों का तर्पण किया जाता है।

ashadh amavasya

आषाढ़ अमावस्या की पूजन विधि:

आषाढ़ अमावस्या के दिन व्रत रखने की प्रथा प्रचलित है। पंचांग के अनुसार, आषाढ़ अमावस्या 09 जुलाई 2021 को सुबह 05 बजकर 16 मिनट से शुरू होगी और 10 जुलाई को सुबह 06 बजकर 46 मिनट तक रहेगी। इस दिन को देश के सभी हिस्सों में आषाढ़ अमावस्या के रूप में मनाया जाता है। अमावस्या तिथि पर पवित्र नदियों में स्नान का विशेष महत्व होता है।

ये भी पढें: जानिये योगिनी एकादशी व्रत का महत्व और क्या हैं नियम!

विष्णु जी की पूजा का है ख़ास महत्व:

इस दिन पूजा भगवान विष्णु जी की पूजा का ख़ास महत्व बताया गया है। ऐसे में इस दिन भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा की जाती है। इस दिन पितरों की आत्मा की शांति के लिए तर्पण भी किया जाता है। अमावस्या तिथि पर पवित्र नदियों में स्नान का विशेष महत्व होता है। नदी में स्नान के बाद सूर्य को अर्घ्य देकर पितरों का तर्पण किया जाता है। पंचांग के अनुसार आषाढ़ मास में चातुर्मास का प्रारंभ होता है। चातुर्मास में पितरों को तर्पण करने एवं उनके नाम से दान करने का विशेष महत्व होता है।

pitru tarpan vidhi

गरीबों को भोजन करना बेहद पुण्यकारी:

आषाढ़ अमावस्या के दिन गरीबों को भोजन करना बेहद पुण्यकारी होता है। आषाढ़ अमावस्या के दिन गरीबों को भोजन कराने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। मान्यता है कि ऐसा करने से जीवन की परेशानियां खत्म होती हैं। इसके अलावा इस दिन चीटियों को शक्कर खिलाने से मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है।

ये भी पढें: चमत्कारी गायत्री मंत्र का अर्थ और उसके फायदे क्या आप जानते है ?

इस दिन क्या करें क्या ना करें..

आषाढ़ अमावस्या के दिन किसी पवित्र स्थान या नदी में नहाने बहुत ही लाभदायक माना गया है।
पवित्र स्थान या नदी में नहाने के बाद श्रद्धा अनुसार दान का संकल्प लेना चाहिए।
इस दिन गरीबों को भोजन करना बेहद पुण्यकारी होता है।
अमावस्या के दिन पेड़ पौधे लगाने का भी बड़ा महत्व है।
पितरों की ख़ुशी के लिए गाय, कुत्तों या कौवों को रोटी खिलाना बेहद अच्छा माना गया है।
किसी भी तरह की चीज़ की खरीद-बिक्री इस दिन नहीं करना चाहिए।
पीपल के पेड़ की पूजा का भी इस दिन विशेष महत्व बताया गया है शास्त्रों में…

ये भी पढे : गंगा दशहरा का दिन है बडा पवित्र, समृद्धि पाने के लिये करे खास उपाय

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment