Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / January 22.
Homeभक्तिजानिए पूर्णिमा के दिन बहुचर माँ के दर्शन को अधिक महत्व क्यों दिया जाता है?

जानिए पूर्णिमा के दिन बहुचर माँ के दर्शन को अधिक महत्व क्यों दिया जाता है?

bahuchar ma
Share Now

बहुचर माँ,माणसा (Bahuchar mata temple -Mansa)

ऊँ ऐं ह्रीं श्रीं क्लीं श्री बहुचरा माताये नमो नमः

गांधीनगर जिले के माणसा शहर में बहुचर माता का प्राचीन मंदिर स्थित है। पौराणिक मंदिर का इतिहास लगभग 150 वर्ष पुराना है। ऐसा कहा जाता है शहर के पुराने बाजार के पास माणसा स्टेट के दरबार साहब की जगह थी, ब्राह्मणों ने मंदिर के निर्माण के लिए उस स्थान की मांग की। दरबार साहब ने मंदिर बनाने के लिए ब्राह्मणों को जगह दे दी और माणसा के निवासी श्री गोकुलदास शाह ने बहुचर माता की मूर्ति और पूजा सामाग्री के लिए चांदी दान की थी।

bahuchar maa

श्री बहुचर माँ – OTT India

श्री गोकुलदास शाह का समस्त परिवार करता है बहुचर माता की सेवा 

इस तरह से माणसा में बहुचर माँ के मंदिर की स्थापना की गई। (Bahuchar mata temple) तभी से श्री गोकुलदास शाह का समस्त परिवार बहुचर माता की सेवा में लग गया। स्थापना के बाद यह मंदिर श्री गोकुलदास शाह के पुत्र श्री अनिल चंद्र शाह और उनके पुत्र श्री अमित शाह समेत पूरे परिवार और समग्र गांववासियों के आस्था का केंद्र बन गया।   

माणसा में विराजित माँ बहुचर की सेवा नागर ब्राह्मण और औदित्य ब्राह्मणों द्वारा की जाती है। श्री अमित शाह द्वारा प्राचीन मंदिर के निकट बहुचर माता के भव्य मंदिर का निर्माण करवाया गया और शरद पूर्णिमा के दिन मंदिर में बहुचर माता की आकर्षित मूर्ति स्थापित की गई। 

बहुचर माँ

बहुचर माँ- OTT India

धार्मिक दृष्टि से पूर्णिमा के दिन बहुचर माँ के दर्शन का अधिक महत्व

धार्मिक दृष्टि से पूर्णिमा के दिन बहुचर माँ के दर्शन का अधिक महत्व है। वर्षों से चली आ रही परंपरा आज भी यथावत है। आश्विन शुक्ल पक्ष की अष्टमी के दिन बहुचर माँ के मंदिर से ढोल-नगाड़े के साथ गरबा निकाला जाता है। (Bahuchar mata temple) नवरात्रि के दिनों में मंदिर में गुजरात ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों से भी भक्त दर्शन करने आते हैं। बहुचर माता के परिसर में आने वाले सभी भक्तों की मनोकामनाएं बहुचर माँ अवश्य पूर्ण करती हैं।

देखें यह वीडियो: चुड़ैल माता मंदिर 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

No comments

leave a comment