Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
HomeबिजनेसBanana Farming: केले की खेती देगी हर महीने लाखों की कमाई!

Banana Farming: केले की खेती देगी हर महीने लाखों की कमाई!

banana Farming
Share Now

Banana Farming: भारत को कृषि प्रधान देश का दर्जा मिला हुआ है। पिछले कुछ सालों में लोगों का कृषि के प्रति रुझान कम हो गया था। लेकिन अब कोरोना महामारी के बाद लोगों ने वापस कृषि पर ध्यान केंद्रित किया है। आधुनिक समय में कृषि करने के तरीकों में कई नई-नई तकनीक काम में ली जा रही है.. आज हम आपको बताएंगे केले की खेती के बारे में विस्तार से और इसके साथ कैसे उन्नत तरीके से केले की खेती (Banana Farming) करके किसान अपनी आमदनी बढ़ा सकते है…

banana farming

केले के उत्पादन में भारत का पहला स्थान:

केले के उत्पादन की बात करें तो भारत का पहला स्थान है। एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में सालाना करीब 3 करोड़ टन केले का उत्पादन होता है। भारत के बाद केला उत्पादन के मामले में दूसरे स्थान पर चीन है, जहां हर साल करीब 1.5 करोड़ टन केले का उत्पादन होता है। इसमें कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते है। इस कारण भारत में इसकी काफी ज्यादा डिमांड रहती है। केले की डिमांड की वजह से देश में इसका उत्पादन भी बड़ी मात्रा में होता है। 

banana plantation india

प्रमुख किस्में:

पूवन
चम्पा
अमृत सागर
बसराई ड्वार्फ
सफ़ेद बेलची
लाल बेलची
बाम्बेग्रीन
मालभोग
मोहनभोग

इन राज्यों में होती है केले की ज्यादा खेती:

महाराष्ट्र
गुजरात
आंध्रप्रदेश
असम

यहाँ पढ़ें: क्यों भूमि बदल रही है मरुस्थल में

जलवायु और मिट्टी:

केले की अच्छी पैदावार के लिए बलुई और दोमट मिट्टी के साथ आर्द्र जलवायु को अच्छा माना जाता है। फरवरी-मार्च में केले की सबसे अधिक पैदावार होती है। इसी वजह से केले का सबसे ज्यादा उत्पादन महाराष्ट्र में होता है। क्योकिं वहां की आर्द्र जलवायु है, जो केले की खेती के लिए काफी उपयुक्त होती है।

यहाँ पढ़ें: क्यों जरूरी है वर्षावन

अधिक पैदावार के लिए ऐसे करें केले की खेती:

केले की खेती अन्य फलों की खेती से काफी अलग है। केले की खेती गड्ढे या नालियों बनाकर की जाती है। इन गड्ढे या नालियों के बीच करीब एक मीटर का फासला रखा जाता है। गड्ढे या नालियों खोदने के बाद करीब 15 दिन तक खुला छोड़ा जाता है। इसके बाद इन गड्ढों में गोबर की खाद के साथ कुछ मात्रा में कार्बोफ्युरॉन डाल कर केले के पौधों की रोपाई की जाती है। केले के पौधे की जड़ें ज्यादा लम्बी नहीं होती है तो इसमें पानी का विशेष ध्यान रखा जाता है।

kele ki kheti

फसल करीब एक साल में पूरी तरह तैयार होती है। केला को 75 प्रतिशत पकने के बाद तोड़ा जा सकता है जो कुछ दिनों बाद पककर अपने आप तैयार हो जाता है। किसान ज्यादा दूरी पर फसल की सप्लाई के लिए केले को 70-75 पकने के बाद तोड़ना शुरू कर देते है।

यहाँ पढ़ें: बारिश में दिखते पीले मेंढक का रहस्य

लागत और कमाई:

केले की खेती अगर सही ढंग से की जाए तो इससे मुनाफा भी कई गुना तक प्राप्त किया जा सकता है। एक एकड़ में करीब 1000-1500 पौधे उगाए जा सकते है। एक एकड़ में केले की खेती में करीब 1.5 रूपये का खर्चा आता है। वहीं आमदनी की बात करें तो यह करीब दोगुनी यानी 3 लाख रूपये तक मानी जाती है।

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

No comments

leave a comment