Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / November 27.
HomeकहानियांBhupen Hazarika एक ऐसे संगीतज्ञ जिनकी आवाज ने किया भारतीयों के दिलों पर राज

Bhupen Hazarika एक ऐसे संगीतज्ञ जिनकी आवाज ने किया भारतीयों के दिलों पर राज

Bhupendra Hajarika
Share Now

संगीत की दुनिया के बेताज बादशाह कहलाते हैं भूपेन हजारिका (Bhupen Hazarika), एक ऐसे संगीतज्ञ थे जो गानों को स्वयं लिखते थे और स्वयं ही अपने गीतों को गाते भी थे। भूपेन हजारिका का जन्म 8 सितंबर 1926 को असम के तिनसुकिया जिले की सदिया में हुआ था। असम की हरियाली के बीच भूपेन जी ने अपना बचपन बिताया था, उनका भारतीय संस्कृति के प्रति उनका रुझाव अधिक था। हजारिका ने पत्रकारिता, गायन, फिल्म निर्माण, कविता लेखन के क्षेत्रों में कार्य किया। मात्र 10 वर्ष की आयु में इन्होंने अपना पहला गाना लिखा। इस कलाकार ने असमिया संस्कृति को वैश्विक स्तर तक पेश किया। 

पद्मभूषण और भारतरत्न से सम्मानित: भूपेन हजारिका

इस कलाकार ने कम उम्र में ही लोगों का दिल जीत लिया था। अपनी मातृ भाषा असमिया में हजारिका कई गीतों को गया इसके अलावा उन्होंने हिन्दी, बंगला भाषा में भी अपनी आवाज दी।  सबसे पहले वर्ष 1992 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। वर्ष 2011 में भूपेन हजारिका को पद्मभूषण से सम्मानित किया गया था और उनके मरणोपरांत पर वर्ष 2019 में भारतरत्न  से सम्मानित किया गया था। हजारिका ने ‘गांधी टू हिटलर’ में महात्मा गांधी का भजन ‘वैष्णव जन’ गया था।

bhupen hazarika

bhupen hazarika, Google image

यहां पढ़ें: जयंती विशेष: वल्लभभाई पटेल की जयंती पर जानिए उनके ‘सरदार’ बनने की कहानी

हिन्दी भाषा समेत बंगाली, हिन्दी भाषा में भी गीत गाए:- 

हिन्दी गानों में ‘दिल हूम हूम करे’ और ‘गंगा तू बहती है क्यों’ जैसे गीतों का जादू सभी भारतवासियों के सिर चढ़ गया। सुर सम्राट हजारिका की आवाज 70 सालों तक बॉलीवूड पर छाई रही। इसके अलावा हज़ारिका ने हिंदी फ़िल्म स्वीकृति, एक पल, सिराज, प्रतिमूर्ति, दो राहें, साज, गजगामिनी, दमन, क्यों और चिंगारी जैसी प्रख्यात हिंदी फ़िल्मों में अपनी आवाज़ का जादू बिखेरा। भूपेन दा ने वर्ष 2006 में फ़िल्म ‘चिंगारी’ में भी अपनी शानदार आवाज दी। असमिया भाषा के कवि, फिल्म निर्माता, लेखक और असम की संस्कृति और संगीत के अच्छे जानकार हैं। 

bhupen hajarika

bhupen hajarika, Google Image

bhupen hajarikaa

bhupen hajarikaa, google image

भूपेन हजारिका को इन पुरस्कारों से सम्मानित:– 

  • पद्म विभूषण,
  • पद्म श्री,
  • दादा साहेब फाल्के पुरस्कार,
  • पद्म भूषण,
  • संगीत नाटक अकादमी,
  • असम रत्न,
  • मुक्तिजोधा पदक,
  • भारत रत्न

मुंबई में उनकी याद में बांद्रा-वर्ली सी लिंक से लंबे पल का उद्घाटन:- 

भूपेन हजारिका के स्मरण में मुंबई में स्थित बांद्रा-वर्ली सी लिंक से लंबे पुल का निर्माण असम में किया गया। असम में नदी पर बने देश के सबसे लंबे पुल का नाम भूपेन हजारिका सेतु रखा गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पुल का उद्घाटन किया गया था। 

देखें यह वीडियो: वीरभद्र सिंह का परिचय 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment