Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / September 24.
HomeडिफेंसCDS जनरल बिपिन रावत की पाक को चेतावनी!

CDS जनरल बिपिन रावत की पाक को चेतावनी!

Bipin Rawat
Share Now

चीफ डिफेंस ऑफ स्टाफ (CDS) बिपिन रावत ने अपने अंदाज में पाकिस्तान को चेतावनी दी है। जनरल रावत ने बुधवार को बताया कि जम्मू-कश्मीर में ड्रोन के जरिए आतंकियों को गोला-बारूद पहुंचाया जा रहा है, और यह सीजफायर के साथ शांति प्रक्रिया के लिए शुभ संकेत नहीं है।

Image Source: Google

सीजफायर का मतलब ये नहीं की आप घुसपैठ जारी रखें  

खबरों के मुताबिक  बिपिन रावत ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि यदि आंतरिक शांति प्रक्रिया बाधित होती है तो हम यह नहीं कह सकते कि सीजफायर जारी है। सीजफायर का मतलब यह नहीं है कि आप सीमाओं पर संघर्ष विराम करें और देश के अंदर घुसपैठ जारी रखें। यह जान लें कि एक साथ दोनों चीजें नहीं हो सकती हैं।

तीनों सेवाओं के अधिकांश मुद्दों को हल करने मे सक्षम 

CDS रावत ने कहा कि थिएटर कमांड की गठन प्रक्रिया सही रास्ते पर चल रही है। हम तीनों सेवाओं के अधिकांश मुद्दों को हल करने में सक्षम हो गए हैं। जल्द ही कुछ अच्छा परिणाम मिलने वाला है।

Image Source: Google

आखिर क्या है थिएटर कमांड? 

थिएटर कमांड का सीधा अर्थ यह है कि एक इलाके में थल सेना, वायु सेना और नौसेना, तीनों की यूनिटों को एक थिएटर कमांडर के अधीन लाया जाना। इन यूनिटों की ऑपरेशनल कमान जिस ऑफिसर के हाथ में होगी वह तीनों में से किसी भी सेना का हो सकता है। अभी तीनों सेनाएं स्वतंत्र ढंग से अपना काम करती हैं। थिएटर कमांड स्थापित होने से यह सबसे बड़ा फर्क देखने को मिलेगा कि जो काम किसी एक सेना ने किया वह दूसरी नहीं करेगी। अमेरिका और चीन समेत दुनिया के कई देशों की सेनाएं इसी व्यवस्था के तहत चल रही हैं।

Image Source: Google

जम्मू-कश्मीर के लोग खुद शांति चाहते है 

बिपिन रावत ने आगे कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग खुद शांति चाहते हैं। खासकर अनुच्छेद 370 के हटने के बाद। अगर ऐसा ही चलता रहा तो एक समय ऐसा भी आएगा जब लोग खुद हिंसा से दूर हो जाएंगे और घाटी में उग्रवाद नहीं होने देंगे। क्योंकि स्थानीय लोगों के समर्थन के बिना उग्रवाद और आतंकवाद जीवित नहीं रह सकते।
CDS रावत ने बताया कि कुछ युवाओं को गुमराह किया गया है। मुझे लगता है कि हमें उनकी पहचान करने और यह देखने की जरूरत है कि हम उनके साथ कितनी अच्छी तरह बातचीत कर सकते हैं। उन्हें समझा सकते हैं कि आतंकवाद आगे का रास्ता नहीं है, बल्कि शांति और सिर्फ शांति ही आगे का रास्ता है।

Image Source: Google

सीमा पर रहने वाले आम नागरिकों को भी नुकसान 

पाकिस्तान सेना युद्धविराम के लिए क्यों सहमत हुई? इस सवाल पर रावत ने कहा कि इसके कई कारण हो सकते हैं। पिछले कुछ वर्षों से युद्धविराम का व्यापक उल्लंघन हुआ है। इसमें छोटे हथियारों के अलावा उच्च क्षमता वाले हथियारों का भी इस्तेमाल किया गया था। इसने पाकिस्तानी सेना के रक्षात्मक ढांचे को भारी नुकसान पहुंचाया है। उनके सैनिकों के साथ सीमा पर रहने वाले आम नागरिक और मवेशियों को भी नुकसान होता है। यह दबाव भी सीजफायर का कारण हो सकता है।

यह भी पढ़ें: BSF ने किया ‘नार्को टेरर मॉड्यूल’ का पर्दाफास!

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें..  स्वस्थ रहें.. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment