Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / January 22.
Homeबॉलीवुड एंड म्यूजिकक्या नहीं बचे है अरशद वारसी के पास पैसे, क्यों कर रहे है अरशद नौकरी की तलाश?

क्या नहीं बचे है अरशद वारसी के पास पैसे, क्यों कर रहे है अरशद नौकरी की तलाश?

Share Now

Bollywood updates 8 Dec: 

1. नेहा धूपिया ने कहा प्रेग्नेसी के बाद के डिप्रेशन के बारे में बात करना है जरूरी 

Bollywood updates 8 Dec

अभिनेत्री नेहा धूपिया को लगता है कि प्रेग्नेसी के बाद के डिप्रेशन के बारे में बात करना महत्वपूर्ण है, और वह न्यू मदर्स को बिना किसी झिझक के इसे दूर करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहती हैं।उन्होंने कहा ” प्रेग्नेसी के बाद के डिप्रेशन के बारे में बात यह है कि आप इसको इतना जल्दी स्वीकार नहीं कर सकते हैं। कभी-कभी, आप इसे संबोधित करने में व्यस्त होते हैं, और कभी-कभी आपको बस इतना कहा जाता है कि ‘अरे, आपका अभी-अभी बच्चा हुआ है, और इसीलिए यह सिर्फ हार्मोन और भावनाओं का मिश्रण है’।”अक्टूबर में पति अंगद बेदी के साथ अपने दूसरे बच्चे, बेटे का स्वागत किया है। नेहा ने कहा कि नई मां के लिए पोस्ट प्रेग्नेंसी डिप्रेशन के बारे में बात करना जरूरी है। नेहा ने कहा “यदि आप इससे गुज़र रहे हैं, तो आपको इसके बारे में बात करने, संपर्क करने, अपना जीवन वापस पाने की ज़रूरत है। उन चीजों को करने की इच्छा रखने में कुछ भी गलत नहीं है जो आप पहले (गर्भावस्था से पहले) कर रही थीं,” वह कहती हैं।

Bollywood updates 8 Dec

Image Source: Google

नेहा ने कहा कि “अन्य मां ओं को भी इसके बारे में बोलने के लिए प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है। क्योंकि जैसे ही आपके पास बच्चा होता है, आप इतने अभिभूत हो जाते हैं, चाहे वह दूध पिलाने की बात हो या बच्चे की जरूरतों की देखभाल करने की और इस सब के बीच, “सबसे ज्यादा जिसको नेग्लेट किया जाता है वह खुद माँ होती है”।41 वर्षीय नेहा ने कहा , “मैं इससे गुजर चुकी हूं। मुझे पता था कि मैं अपनी दूसरी प्रेग्नेंसी के साथ और अपने जीवन में दूसरी बार प्रसवोत्तर के यह महसूस कर रही थी, इसलिए मैंने इसे अलग तरह से संबोधित किया। लेकिन आसपास के सभी लोगों को इस बारे में और अधिक जागरूक होने की जरूरत है कि मां किस दौर से गुजर रही है।“बच्चा होने के बाद सेल्फ-लव के महत्व के बारे में बात करते हुए, नेहा का कहना है कि एक नई माँ की भी देखभाल की जानी चाहिए। उन्होंने कहा “आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि माँ की समान रूप से देखभाल की जाए। एक माँ, एक नई माँ होने के नाते सेल्फ-लव सबसे बड़ी बात है। थोड़े से सेल्फ-लव में कुछ भी गलत नहीं है। मुझे लगता है कि यह भी एक बहुत बड़ा पॉइंट है जिस पर हम पोस्ट प्रेग्नेंसी डिप्रेशनको दूर कर सकते हैं।”

ये पढे: कंगना रनौत को विशाल ददलानी ने दिया करार जवाब  

2. मिर्गी के दौरे से जूझ रही थीं शेफाली जरीवाला

Bollywood updates 8 Dec

Image Source: Google

शेफाली जरीवाला ने किया खुलासा, बताया 15 साल की उम्र से मिर्गी के दौरे से डील कर रही है| बता दे की शेफाली जरीवाला एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री का एक जाना माना नाम है। उन्होंने 2002 में अपने म्यूजिक वीडियो कांटा लगा से प्रसिद्धि पाई। उसके बाद उन्हें किसी प्रोजेक्ट में नहीं देखा गया था।उन्होंने ने हाल ही में हुए एक इंटरव्यू मे ज्यादा काम न करने का कारण बताया| उन्होंने खुलासा किया की वह मिर्गी के दौरे से जूझ रही थीं। उन्होंने कहा की “मुझे 15 साल की उम्र में मिर्गी का दौरा पड़ा था। मुझे याद है कि उस समय मुझ पर अपनी पढ़ाई का जबरदस्त प्रेशर था। स्ट्रेस और चिंता के कारण ये दौरे पड़ सकते हैं। यह आपस में interrelated है, आपको depression के कारण भी ये दौरे पड़ सकते हैं और । मुझे तो classrooms, में, बैक्स्टैज, रोड्स पर भी दौरे आए है,  और कहीं न कहीं इससे मेरे आत्म-सम्मान में कमी आई है। साथ ही कांटा लगा म्यूजिक वीडियो के बाद उन्होंने काम क्यों नहीं किया, इस बारे में बोलते हुए, तब उन्होंने खुलासा किया कि मिर्गी के दौरे के कारण वह ज्यादा काम नहीं कर सकती थी।

उन्हे नहीं पता था कि उसे अगला दौरा कब पड़ेगा और यह 15 साल तक चला। अब वह मुक्त है और उन्हे खुद पर गर्व है क्योंकि उन्होंने अपने depression, panic attacks और anxiety को नेचुरली और स्ट्रॉंग सपोर्ट सिस्टम की मदद से मेनेज किया।महामारी के दौरान positive रहने के तरीकों के बारे में बात करते हुए, शेफाली ने शेयर किया की  “महामारी की सिचूऐशन कठिन रही है, लेकिन मैंने consciously अपनी मेंटल हेल्थ पर काम किया और किसी भी तरह की चीजों से दूर रही जिससे डिप्रेशन हो सकता है। मैंने meditation, योग, स्केचिंग, ड्राइंग और अन्य चीजें करने पर फोकस किया जो मुझे खुश रखती थीं। Exercise और कुछ positive लाइफ स्टाइल में बदलाव ने मेरी बहुत मदद की।” ..स्वी और करण के रिश्ते से कोई ऐतराज नहीं होगा, लेकिन यह उन पर निर्भर करता है कि वे कैसे आगे बढ़ना चाहते हैं। मुझे आशा है कि यह जारी रहेगा यदि वे ऐसा करते हैं तो मुझे नहीं लगता कि हमारे परिवार की ओर से कोई प्रॉब्लेम होगी। 

3. ओह तो फिल्म पुष्पा में है ये खास बात 

दर्शकों लॉन्च हो गया है फिल्म पुष्पा का ट्रेलर, यह फिल्म लाल चंदन की तस्करी के बारे में एक रोमांचक थ्रिलर का वादा करती है। पुष्पा: द राइज पार्ट 1 का ट्रेलर, अभिनेता अल्लू अर्जुन अभिनीत, 17 दिसंबर को सिनेमाघरों में फिल्म की रिलीज से पहले जारी कर दिया गया है । सीन्स के अनुसार, फिल्म लाल रंग की पृष्ठभूमि के खिलाफ एक रोमांचक एक्शन-थ्रिलर सेट का वादा करती है।  ढाई मिनट के ट्रेलर की शुरुआत एक dialogue से होती है, जिसमें लाल चंदन की कीमत और आंध्र प्रदेश के शेषचलम के जंगलों से विदेशों में अरबों की तस्करी कैसे की जाती है, इसके बारे मे बताया गया है |अल्लू अर्जुन को पुष्पराज उर्फ ​​पुष्पा के रूप में पेश किया गया है, जो एक ट्रक ड्राइवर है, जो लाल चंदन की तस्करी करता है। ऐसे भी शॉट्स देखने मिलते हैं जहां हम उन्हे अपने अभिनय की झलक दिखाते हुए पाएंगे।

ट्रैलर यह भी बताता है की फिल्म शानदार एक्शन सीन्स से भरी होगी। ट्रेलर में अन्य कलाकारों की भी झलक मिलती है। सुनील, अपने कॉमिक roles से refreshing departure में, एक विरोधी की भूमिका निभाते हैं। लोकप्रिय टेलीविजन एंकर अनसूया भारद्वाज भी इसमे एक दमदार किरदार निभा रही है। ट्रेलर के आखिरी शॉट में मेन antagonist की भूमिका निभाने वाले फहद फासिल नजर आ रहे हैं। मोटी मूंछें और मुंडा सिर पहने हुए, वह खतरनाक लग रहे है इस फिल्म में रश्मिका मंदाना और जगपति बाबू भी हैं। बता दे की पुष्पा फिल्म दो भागों में रिलीज़ होगी, आर्य और आर्य 2 जैसी फिल्मों के बाद निर्देशक सुकुमार और अल्लू अर्जुन के तीसरे collaboration को चिह्नित करती है।

इस प्रोजेक्ट में देवी श्री प्रसाद का म्यूजिक है। यह फिल्म अल्लू अर्जुन के बॉलीवुड डेब्यू को भी चिह्नित करेगी क्योंकि इस प्रोजेक्ट को हिंदी में भी डब किया जा रहा है। फिल्म का पहला भाग बड़े पैमाने पर रिलीज के लिए तैयार है।अल्लू अर्जुन को आखिरी बार अला वैकुंटापुरमलो में पर्दे पर देखा गया था, जिसने अभिनेता और फिल्म निर्माता त्रिविक्रम के तीसरे collaboration को चिह्नित किया था। फिल्म, ने रिलीज के दौरान ₹ 200 करोड़ से अधिक की कमाई की, इसमे पूजा हेगड़े और निवेथा पेथुराज भी प्रमुख भूमिकाओं में नजर आए , जबकि तब्बू को एक महत्वपूर्ण भूमिका मे देखा गया |

4.  सारा अली खान को हुआ ऐक्टर की औकात का एहसास

Bollywood updates 8 Dec

Image Source: Google

अतरंगी रे की ओटीटी रिलीज पर सारा अली खान ने कहा की  मुझे एक ऐक्टर की औकात का एहसास हुआ है| बता दे की हाल ही मे सारा ली खान से एक इंटरव्यू के दौरान पूछा गया की आप केदारनाथ (2018) के बाद, स्ट्रीट स्मार्ट गर्ल ज़ोन में वापस आ गए हैं। क्या सिम्बा (2018), लव आज कल और कुली नंबर 1 (दोनों 2020) जैसी शहरी-सेट फिल्मों के बाद यह जानबूझकर किया गया था?  इसका जवाब देते हुए सारा ने कहा मैं zones में विश्वास नहीं करती , या कोई commercial फिल्म है या कुछ और। मैं उन कहानियों में विश्वास करती हूं जो मुझे लगता है कि बताए जाने योग्य हैं। अतरंगी रे एक commercial फिल्म के बाद मेरे पास आई। इसके अलावा, बात यह है कि मुझे जिस तरह की फिल्में करने का सौभाग्य मिला है, मैंने उन्हें नहीं चुना है, उन्होंने मुझे चुना है। फिल्म निर्माता रोहित शेट्टी, इम्तियाज अली, आनंद एल राय, आप इन लोगों को कैसे चुन सकते हैं? आप इन लोगों का सपना देखते हैं, वे आपको चुनते हैं। यह फिल्म मेरे पास ऐसे वक्त आई जब मुझे इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी।

मुझे लगता है कि 2020 में मेरी लाइफ की एकमात्र अच्छी चीज अतरंगी रे थी। लव आज कल को प्यार नहीं मिला, सराहना नहीं मिली। इसके फ्लॉप होने के दस दिन बाद, मैं आनंद जी के साथ इस फिल्म में काम कर रही थी। personal level पर मुझे लगता है सारा का आत्मविश्वास कम था, सारा रिंकू को नीचे नहीं खींच सकती थी, या रिंकू सारा को ऊपर नहीं उठा सकती थी। रिंकू और आनंद जी ने मिलकर सारा को सारा, सारा को रिंकू और उसके काम से प्यार किया।बता दे की उस बातचीत के दौरान उनसे यह भी पूछा गया की आपकी पिछली रिलीज़ की तरह, अतरंगी रे फिर से सीधे एक ओटीटी प्लेटफॉर्म पर जा रही है। क्या आपको कोई आशंका थी?इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा मेरा शुरुआती रिएक्शन खराब लग रहा था , क्योंकि मैं बड़े पर्दे के लिए फिल्में करती हूं, मुझे उस अनुभव पर विश्वास है।

तब मुझे यह भी एहसास हुआ कि for the lack of a better word, व्हाट द औकात ऑफ एन ऐक्टर | यह मेरा डिसिशन नहीं है। मैं आनंद जी से प्यार करती हूं, जब मैंने खुद से प्यार नहीं किया तो उन्होंने मुझे खुद से प्यार करना सिखाया , इसलिए मैं उनकी थॉट प्रोसेस पर अचानक सवाल नहीं उठाऊँगी । जो भी किया होगा, बहुत सोच समझ के किया होगा। अंतत: मेरे लिए यह मायने रखता है कि आप फिल्म देखें। अगर मैं और ज्यादा लोगों तक पहुँचती हूँ, तो मैं जीत जाती हूँ। जब तक आप फिल्म देख सकते हैं और मुस्कुरा सकते हैं, मैं खुश हूं।

5.  ऐक्टर अरशद वारसी ढूंढ रहे है नौकरी

Bollywood updates 8 Dec

Image Source: Google

अरशद वारसी ढूंढ रहे है जॉब, जी हाँ सही सुना आपने| उनका कहना है की मैंने बॉलीवुड में 25 साल बिताए हैं, और मैं अभी भी नौकरी की तलाश में हूं| बता दे की ऐक्टर अरशद वारसी को बॉलीवुड में आए 25 साल हो गए हैं| वे उन सभी लोगों के आभारी हैं जिन्होंने उन पर विश्वास किया और कहा कि उनके आगे एक लंबी जर्नी है।1993 की फिल्म रूप की रानी चोरों का राजा के एक सॉन्ग में कोरियोग्राफर के रूप में काम करने के बाद, उन्होंने फिल्म तेरे मेरे सपने के साथ अपने अभिनय करियर की शुरुआत की, जो 1996 में 6 दिसंबर को रिलीज़ हुई थी। तब से, उनके लिए यह उतार-चढ़ाव से भरा सफर रहा है।अपने सफर की ओर पीछे मुड़कर देखते हुए, उन्होंने कहा , “मैं अपनी शुरुआत करने के लिए डर गया था, क्योंकि मैंने पहले कभी ऐक्टिंग नहीं की थी। मैं फिल्म करने से बहुत डरता था। मैंने पूरी कोशिश की, कि मैं कोई फिल्म न करूं। मैं उन दुर्लभ नस्लों में से एक हूं जिन्होंने फिल्म से बाहर निकलने की पूरी कोशिश की। क्योंकि मैं असफलता से बहुत डरता था”।

“मैं फेल होने से डरता था, चारों ओर घूमता था, हर कोई कहता था कि ‘ये बेचारा हीरो बनने आया था इधर’। बुरे दौर से गुजरने से लेकर बिना रुके काम करने तक, मैंने यह सब देखा है। मैं उन सभी लोगों का आभारी हूं, जिन्होंने मुझ पर विश्वास किया, साथ ही मुझ पर और दर्शकों पर विश्वास करना जारी रखा। मुझे लगता है कि मेरे आगे एक और लंबी जर्नी है| सच है मैंने इंडस्ट्री में 25 साल पूरे कर लिए हैं, और मैं अभी भी नौकरी की तलाश में हूं क्योंकि इंडस्ट्री ऐसी ही है|बता दे की एक लंबे समय के लिए, उन्होंने माना कि यह सरासर किस्मत है कि उन्हें काम मिल रहा है, वे कहते है “मैं ऐसा था, ‘अरे, लोग सोचते हैं कि मैं एक ऐक्टर हूं, वाह’। इसलिए, यह सबसे लंबे समय तक हर समय एक surprise element रहा है।” जैसे-जैसे उन्होंने और केरेक्टर्स को इक्स्प्लोर किया, वे अपने क्राफ्ट के बारे में और ज्यादा कॉन्फिडेंट हो गए, और अब वे गर्व से कह सकते हैं, “मैं अपना काम जानता हूं। वह दौर खत्म हो गया है जब मैं ऐसा था की तुक्का लग गया । निश्चित रूप से मुझमें कुछ न कुछ टेलेंट है।”

साथ ही उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि एक टाइम ऐसा भी था जब उनका इंप्रेशन फिल्म बिरादरी के लोगों पर अच्छा नहीं था, उन्होंने कहा की “एक लंबे समय के बाद, मुझे एहसास हुआ कि यह मेरे द्वारा काम पर रखे गए लोगों की वजह से था , जैसे की मेरे managers, जो उन सभी के साथ रुड थे|बता दे की उन्होंने अपनी टीम के साथ-साथ अपने तरीके में भी सुधार किया और इसने काम किया। इन सालों में, उन्होंने मुन्ना भाई श्रृंखला, इश्किया (2010), गोलमाल फ्रैंचाइज़ी, जॉली एलएलबी (2013), सेहर (2005) और असुर जैसी प्रोजेक्ट्स में काम किया है और अभी भी उनके पास बहुत सारे प्रोजेक्ट हैं।इस बारे मे उनका कहना है की “मैं हर उस दिन के लिए आभारी महसूस करता हूं जो बीत जाता है। क्योंकि यदि आप रीऐलिटी का सामना करते हैं, तो कोई कह सकता है, ‘मैं बूढ़ा हो रहा हूं’, और काम धीमा हो सकता है। लेकिन ऐसा नहीं दिखता। मैं अचानक से बहुत बिजी हो गया हूं, “मैं असफलताओं या सफलता को बहुत गंभीरता से नहीं लेता। इसके अलावा, मैं बहुत आसानी से हार नहीं मानता। ये वो चीजें हैं जिन्होंने मेरे लिए subconsciously काम किया है|

ये पढ़े: क्यों नहीं करना चाहती थी काजोल शादी

6 . इंडस्ट्री में बहुत कुछ बदल गया है: लक्ष्मी मांचू

Bollywood updates 8 Dec

Image Source; Google

अब खबर है ऐक्ट्रिस लक्ष्मी मांचू की, इंडस्ट्री में आए तमाम positive बदलावों के बावजूद, लक्ष्मी मांचू को लगता है कि एक चीज है जो अभी भी गायब है। और यह हमारे देश के हर हिस्से से एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से जुड़े लोगों का एक integrated डेटाबेस है।इस बारे मे बात करते हुए उन्होंने कहा की “इंडस्ट्री में बहुत कुछ बदल गया है, लेकिन एक बड़ी चीज है जो मुझे लगता है कि गायब है और यह ऐक्टरस् और इंडस्ट्री के सदस्यों के लिए एक प्लेटफ़ॉर्म है। ब्रेकडाउन सर्विस जैसा कुछ|इस तरह के डेटाबेस की जरूरत के बारे मे बताते हुए वे आगे कहती हैं, “हमारे पास ऐसा कुछ नहीं है जहां हम एक निश्चित प्लेटफ़ॉर्म पर खुद को पोर्ट्रे कर सकें, where people go to look at actors from all walks of life, or for work”.

तेलुगु सिनेमा के दिग्गज अभिनेता मोहन बाबू की बेटी को लगता है कि टैलेंट पूल का integration इंडस्ट्री की वर्किंग प्रोसेस स्ट्रीम्लाइन करेगा। उन्होंने कहा “एक प्लेटफ़ॉर्म को एक साथ लाना शानदार होगा जहां सभी प्रतिभाशाली लोग, डीओपी से लेकर ऐक्टरस् से लेकर निर्देशकों तक, एक ही स्थान पर अपने काम का प्रदर्शन कर सकते हैं। इसलिए अगर कोई किसी खास प्रतिभा की तलाश में है, तो वह केवल उस भाषा तक सीमित नहीं है जिसे वह जानता है|साथ ही उनका मानना है कि इससे regional industries को करीब लाने की प्रक्रिया में तेजी आएगी। “इंडस्ट्रीज़ के बीच की लाइंस धुंधली हो रही हैं। तेलुगु इंडस्ट्री के ऐक्टरस् के हिंदी सिनेमा में काम कर रहे है, और साउथ में हिंदी फिल्म जगत के actors काम कर रहे है , और अब, ओटीटी के साथ, भाषा एक बेरियर नहीं है|

”बता दे की उन्होंने तेलुगु और इंग्लिश दोनों फिल्मों में अभिनय किया है और अब वे मोहनलाल अभिनीत मॉन्स्टर के साथ मलयालम फिल्म इंडस्ट्री को इक्स्प्लोर करने के लिए तैयार है|उनका कहना है की Stepping into new shoes और अपने आप को एक नए करेकटेर के साथ एक नई जगह पर देखना आपको butterflies देता है। इन अलग – अलग फिल्मों को करने और नई इंडस्ट्री में काम करने के बारे में यही बहुत रोमांचक है। आपके पास समान leverage नहीं है, लेकिन आपको नई limits को पार करने की आदत हो जाती है, और जब आप ‘मैं नहीं कर सकता’ के बजाय ‘मैं कर सकता हूं’, कहते है, the world opens up for you to explore new challenges.

7.  मैंने ऐसे प्रोजेक्ट्स किए हैं जो मैं नहीं करना चाहता था: कुणाल कपूर

Bollywood updates 8 Dec

Image Source; Google

ऐक्टर कुणाल कपूर का कहना है की मैं हमेशा स्क्रीन स्पेस शेयर करने में comfortable रहा हूं| जी हाँ बता दे की कुणाल कपूर हर फिल्म में मुख्य भूमिका निभाने पर फोकस नहीं करते हैं, बल्कि भूमिकाओं की क्वालिटी पर फोकस करते हैं।बता दे की 2004 में मीनाक्षी: ए टेल ऑफ़ थ्री सिटीज़ के साथ उन्होंने अपनी शुरुआत की |हाल ही मे हुए एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा की “मेरी शुरुआत जितनी unconventional थी, वह स्पष्ट रूप से तब्बू के केरेकटेर के बारे में मुझसे से ज्यादा थी। मैंने रंग दे बसंती (2006) की, जो एक ensemble piece थी, फिर लागा चुनरी में दाग (2007), बचना ऐ हसीनों (2008) … ये सभी की |बता दे की उनको जो स्क्रीन टाइम मिलता है, वह priority नहीं है। इसके बजाय, वह यूनिक केरेक्टर्स वाली स्क्रिप्ट की तलाश करते हैं। उनका कहना है की “मैं हमेशा स्क्रीन स्पेस शेयर करने में comfortable रहा हूं| बचना ऐ हसीनों में, उदाहरण के लिए, जो मुझे दिलचस्प लगा वह यह था कि मेरा केरेकटर उस तरह से नहीं लिखा गया था जिस तरह से आप Sikhs को फिल्मों में दिखाते हैं। वे या तो मसख़रापन कर रहे होते है , या फिर खेतों में नाच रहे होते हैं।

मेरे केरेकटर में बहुत डिग्निटी थी। I don’t see the way they show Sikh characters in films, in my life|बता दे की उन्हे हाल ही में वेब शो द एम्पायर में देखा गया था। हालांकि, सालों से, वे मानते हैं कि उन्हें ” atypical” रोल्स निभाने के criteria से समझौता करना पड़ा है। वे कहते हैं, “मैंने ऐसे प्रोजेक्ट्स लिए हैं जो मैं नहीं करना चाहता था, और मैंने उस समय सोचा था कि यह सही काम है।इस बारे मे बात करते हुए उन्होंने आगे कहा की मेरी हर फिल्म जो मैंने उस तरह की, मैं हर बार सोचता था कि ‘मैं ऐसा क्यों कर रहा हूं? मैं वास्तव में ऐसा नहीं करना चाहता था। जब आप एक ऐसी फिल्म के लिए सेट पर होते हैं, जिसका आपको आनंद नहीं आता है … मैं खुद को फिर से इस सिचूऐशन मे नहीं डालना चाहता और सही तरह के काम का प्वेट करूंगा। मैं खुद को ऐसी स्थिति में नहीं डालूंगा जहां मैं सेट पर उतरूं और कहूं कि ‘ठीक है, यह मजेदार नहीं है’।

ये पढ़े: सलमान के नाम पर क्यों इतना भड़क गए आयुष शर्मा

8 . सायंतनी घोष ने शेयर की शादी के बाद की तस्वीर

Bollywood updates 8 Dec
अनुग्रह तिवारी के साथ शादी के बंधन में बंधी सायंतनी घोष, शेयर की शादी के बाद की पहली तस्वीरें| जी हाँ बता दे की ऐक्ट्रिस सायंतनी घोष कोलकाता में एक प्राइवेट और इंटीमेट सेरमनी में अनुग्रह तिवारी के साथ शादी के बंधन में बंधी।साथ ही उन्होंने इंस्टाग्राम पर इसकी कुछ तस्वीरें शेयर कीं, जहां उन्होंने लाल बनारसी साड़ी पहनी हुई थी और उनके पति अनुग्रह ने धोती और कढ़ाई वाला कुर्ता पहना था।बता दे की फोटो के साथ उन्होंने प्यार सा कैप्शन भी लिखा जो था “And just like that I went from being a Miss to a Mrs.”एक इंटरव्यू के दौरान शादी के बारे मे बात करते हुए उन्होंने कहा की , “जिस मोमेंट मैंने अपना शंखा और पोला पहना, मुझे लगा कि अंदर कुछ बदल रहा है। मैंने पर्दे पर अलग-अलग किरदारों के लिए पहले भी शंखा -पोला पहना है। लेकिन इस बार, यह असली था! मुझे लगता है कि एक बंगाली दुल्हन लाल बनारसी साडी , शंखा -पोला, माथे पर चंदन और सिंदूर में हमेशा सुंदर दिखती है।

साथ ही सायंतनी ने पहले कहा था कि उन्होंने अपनी सगाई के लिए अपनी दादी की साड़ी पहनी थी, और बाकी गिफ्ट्स उनके पेरेंट्स से मिले थे। उन्होंने यह भी बताया किया कि ring ceremony ईमोशनल थी , क्योंकि उन्होंने अपने पिता को याद किया, जिनका कुछ साल पहले निधन हो गया था। बता दे की यह कपल जयपुर में एक रिसेप्शन रखेगा, जो अनुग्रह का hometown है।सायंतनी सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव रहती है और अपनी शादी के बारे में छोटी-छोटी बातें शेयर करती थीं। उन्होंने शेयर किया कि कैसे वह हमेशा वह चूड़ियाँ पहनना चाहती थी जो एक होने वाली दुल्हन अपनी शादी के दौरान पहनती है। इसे शंखा पोला कहते हैं। उन्होंने कहा “मेरा सपना हमेशा से शंखा पोला पहनने का रहा है..आखिरकार वह पल।” नए कपल को हमारी तरफ से भी हार्दिक शुभकामनाएँ |

9 . अनीता हसनंदानी ने अपने काम को लेकर किया खुलासा

Bollywood updates 8 Dec

Image Source: Google

अनीता हसनंदानी ने बेटे के जन्म के बाद एक्टिंग से लिया ब्रेक कहा, ‘मेरे दिमाग में काम आखिरी चीज है|जी हाँ बता दे की हाल ही में हुए एक इंटरव्यू मे, अनीता हसनंदानी ने कहा, “मैंने तय किया था कि जब भी मेरा बच्चा होगा, मैं इंडस्ट्री छोड़ दूँगी और अपना काम छोड़ दूँगी। मैं हमेशा एक माँ बनने पर फोकस करना चाहती थी। इसलिए यह महामारी के बारे में नहीं है।मैं इंडस्ट्री छोड़ने ही वाली थी, फिर pandemic होता या pandemic न होता| मैं अपने बच्चे के साथ घर पर रहना चाहती हूं। ईमानदारी से काम करना मेरे दिमाग में अभी आखिरी चीज है। मैं वास्तव में नहीं जानती कि मैं कब वापस आऊँगी।

“हालांकि मैं यहां और वहां कुछ काम कर रही हूं, अलग-अलग ब्रांडस के साथ contracts के कारण । मैं यह सब सोशल मीडिया के लिए कर रही हूं जहां मैं घर पर शूटिंग कर रही हूं और यह पूरी तरह से स्ट्रेस फ्री है। मैं भी बेहद केरफुल हूं। हो सकता है कि एक इंसान शूटिंग के लिए आए और उस व्यक्ति को भी घर के अंदर आने से पहले प्रोपेर टेस्ट करवाना पड़े। वही एक टीवी शो की सेट पर वापस आने की बात करे तो, मुझे नहीं पता कि यह कब होगा। लेकिन मैं, मुझे यकीन है कि जब मैं वापस आने का फैसला करूंगी तो लोगों को पता चल जाएगा।”बता दे की अनीता और रोहित रेड्डी ने 2013 में गोवा में शादी की थी। इस साल फरवरी में इस कपल ने अपने बेटे आरव का स्वागत किया। वे अक्सर अपने बच्चे की तस्वीरें और वीडियो शेयर करते हैं, जिसका पहले से ही एक इंस्टाग्राम पेज है।

पिछले साल एक इंस्टाग्राम पोस्ट में, अनीता ने कहा था, “यह बिल्कुल सही समय की तरह लगा। हम 10 साल से साथ हैं, जिसमें से हमारी शादी को सात साल हो चुके हैं। हम बिल्कुल तैयार थे। हम इस साल एक बच्चे के साथ सेटल होना चाहते थे और यह पूरी तरह से हुआ।”अनीता को उनके टेलीविजन शो काव्यांजलि, नागिन और ये है मोहब्बतें के लिए जाना जाता है। उन्होंने कृष्णा कॉटेज, रागिनी एमएमएस 2 और कुछ तो है जैसी हिंदी फिल्मों में भी अभिनय किया है। 2019 में, अनीता और रोहित ने डांस रियलिटी शो नच बलिए 9 में भाग लिया और runners-up रहे।

10. क्यों रो पड़े थे माधवन के पिता 

Bollywood updates 8 Dec

Image Source; Google

क्या आपको पता है माधवन के पिता ने उनसे कहा कि उन्होंने माधवन को गलत तरीके से बड़ा किया है तो उनकी आखो से आँसू बहने लगे|जी हाँ बता दे की ऐक्टर आर माधवन ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान , अपने बचपन के बारे में बात की, और बताया की अलग अलग राज्यों में बड़े होने और काम करने के कारण ने उन्हें वह व्यक्ति बना दिया जो वह आज है। माधवन ने कहा कि चूंकि उनका पूरा परिवार conventional jobs में काम कर रहा था और उनसे उसी रास्ते पर चलने की उम्मीद की गई थी।इसके बारे मे बात करते हुए , माधवन ने कहा, ” The scene from 3 Idiots is right out of my life. मेरे पेरेंट्स वास्तव में चाहते थे कि मैं एक इंजीनियर के रूप में वापस आऊं और टाटा के लिए काम करूं और जमशेदपुर में बस जाऊं।लेकिन मैं अपनी लाइफ में पहले ही जानता था कि मुझे नहीं पता था कि मैं क्या बनने जा रहा हूं, लेकिन मुझे पता था कि मैं जमशेदपुर में रहकर एक रेगुलर लाइफ नहीं जीना चाहता था और ना ही लगातार 30 सालों तक वही काम करना चाहता था जो मेरे पिता ने बहुत सहजता से किया। मेरे मम्मी पापा व्याकुल थे, वास्तव में मेरे पापा के आँखों से आंसू निकल पड़े।

Bollywood updates 8 Dec

Image Source: Google

मुझे उनकी लाइन याद है जिसमें उन्होंने कहा था, ‘मुझे आश्चर्य है कि मैंने तुम्हारे साथ क्या गलत किया है।'”बता दे की माधवन ने मणिरत्नम की फिल्म अलैपायुथे से सफलता हासिल की। उन्हें रहना है तेरे दिल में, अन्बे शिवम, रंग दे बसंती, गुरु, 13बी, 3 इडियट्स, तनु वेड्स मनु, तनु वेड्स मनु: रिटर्न्स, विक्रम वेधा जैसी फिल्मों में काम करने के लिए जाना जाता है।माधवन को आखिरी बार तमिल फिल्म मारा में देखा गया था, जो मलयालम फिल्म चार्ली की रीमेक है, जिसमें दलकर सलमान और पार्वती मुख्य भूमिकाओं में नजर आए थे। वह रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट की रिलीज का इंतजार कर रहे हैं, जो उनके निर्देशन की पहली फिल्म भी है। माधवन ने पूर्व वैज्ञानिक नंबी नारायणन के जीवन पर आधारित बायोपिक को भी लिखा है। फिल्म अगले साल 1 अप्रैल को रिलीज होने वाली है

बॉलीवुड की ऐसी ही अपडेट्स  के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt  

No comments

leave a comment