Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / October 4.
Homeन्यूज‘बिहार में मरीज के लिए एंबुलेंस हो न हो, शराब तस्करी के लिए उपलब्ध है’

‘बिहार में मरीज के लिए एंबुलेंस हो न हो, शराब तस्करी के लिए उपलब्ध है’

Liquor Smuggling In Bihar
Share Now

बिहार, जहां शराब पीना, बेचना और रखना सब गैरकानूनी है, जहां के चूहे भी शराब पी जाते हैं, वहां की एंबुलेंस भी अब मरीज की बजाय शराब ढोने (Liquor Smuggling In Bihar)  लगी है. ये बातें तस्वीरें बयां कर रही हैं, जिसे पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने ट्वीट किया है. जिन राजीव प्रताप रूड़ी पर पहले एंबुलेंस को घर में खड़ी कराने का आरोप था अब एक नया आरोप लगा है.

 

पूर्व सांसद पप्पू यादव ने तस्वीर ट्वीट कर लिखा है कि ऊपर में नाम स्वर्णाक्षरों में अंकित है. नीचे शराब का बोरा (शराब से भरा थैला) है. एम्बुलेंस का ऐसा अभिनव प्रयोग बिहार में बीजेपी के नेताओं के संरक्षण में हो रहा है. मुख्यमंत्री आप शराबबंदी का गुणगान कीजिए. आपकी सहयोगी दल बीजेपी शराब की तस्करी (Liquor Smuggling In Bihar) करवाएगी. इससे बढ़िया गठजोड़ क्या होगा?

पप्पू यादव ने ट्वीट की तस्वीर 

इतना ही नहीं पप्पू यादव ने एक और ट्वीट किया है, जिसमें खुद के जेल में होने की बात कही है. पप्पू यादव ने लिखा है कि मैं एम्बुलेंस मामले को उजागर कर जेल में हूं, उधर सांसद एम्बुलेंस से शराब की तस्करी (Liquor Smuggling In Bihar) जारी. BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता सांसद राजीव प्रताप रूडी जी की सांसद निधि के एम्बुलेंस से 280 लीटर देशी शराब बरामद हुई. मतलब एम्बुलेंस मरीज के लिए उपलब्ध हो या,नहीं पर शराब की तस्करी के लिए उपलब्ध है.

ये भी पढ़ें: अकाउंट में आए साढ़े 5 लाख रुपये, तो शख्स बोला नहीं दूंगा वापस, PM मोदी ने दी है 15 लाख की पहली किस्त

राजीव प्रताप रूड़ी का लिखा है नाम  

दरअसल पूरा मामला एंबुलेंस से शराब बरामद होने का है. बता दें कि बिहार में जब से शराबबंदी (Liquor Smuggling In Bihar) हुई है, तब से शराब तस्कर नई-नई तरकीब अपना रहे हैं, जिसका आए दिन पुलिस खुलासा करती रहती है. अब चूंकि एंबुलेंस पर राजीव प्रताप रूड़ी का नाम लिखा है इसलिए इस मामले पर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति शुरू हो गई है. 

पहले बालू ढोने की तस्वीर आई थी सामने 

बता दें कि इससे पहले पप्पू यादव ने कोरोनाकाल में एंबुलेंस मामले को उजागर किया था. जिसे लेकर खूब हंगामा खड़ा हुआ था. पप्पू यादव ने तब कहा था कि सांसद निधि से खरीदी गई एंबुलेंस खड़ी है, लेकिन मरीजों को नहीं मिल पा रही, जिस पर राजीव प्रताप रूड़ी ने ड्राइवर न मिलने की बात कही थी. हालांकि बाद में पप्पू यादव ने एंबुलेंस की बालू ढोने वाली तस्वीर भी ट्वीट की थी. मतलब पहले एंबुलेंस की बालू ढोने वाली तस्वीर और अब शराब ढोने वाली तस्वीर पर हंगामा जारी है, भले ही बिहार के सुदूर क्षेत्रों में मरीजों को एंबुलेंस की सुविधा मिले या न मिले, लेकिन आए दिन ऐसी तस्वीरें सामने आती रहती हैं.  

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment