Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / October 4.
Homeन्यूज19वीं शताब्दी में पैदा होने वाली दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला Lola Iska का हुआ निधन

19वीं शताब्दी में पैदा होने वाली दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला Lola Iska का हुआ निधन

Lola Iska
Share Now

दुनिया में लोग बहुत अलग-अलग प्रकार के रिकॉर्ड्स बनाते है. और आज-कल लोग अपना नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में लिखवाने के लिए नए तौर-तरीके भी आजमाते है. ऐसे ही फिलिपींस की एक महिला को दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला कहा गया है. हांलाकि, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स अभी उनके सारे कागजों की जांच-परताल कर रही हैं. लेकिन महिला का 124 वर्ष की उम्र में सोमवार को निधन हो गया है. रिपोर्ट्स के अनुसार फ्रांसिस्का सुसानो नाम की यह महिला का जन्म 19वीं सदी में 11 सितंबर, 1897 में हुआ था. लोग इन्हें प्यार से लोला इस्का बुलाते थे.

Lola Iska

COURTESY: GOOGLE.COM

लोला इस्का (Lola Iska) के नाम से मशहूर फ्रांसिस्का सुसानो का सोमवार की रात फिलीपींस के कबांकलन शहर में उनके घर पर निधन हो गया. स्थानीय सरकारी अधिकारियों का कहना है कि वह दुनिया की सबसे उम्रदराज व्यक्ति थीं, जिन्होंने पिछले गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड धारक को दो साल पीछे छोड़ दिया.

ऐसा कहा जा रहा है कि गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स हाल ही में सितंबर के रूप में दस्तावेजों की जांच कर रहे थे, लेकिन इससे पहले कि वे स्वतंत्र रूप से उसकी उम्र को सत्यापित कर सकें, महिला मृत्यु हो गई. स्थानीय रिकॉर्ड का दावा है कि फ्रांसिस्का सुसानो का जन्म 11 सितंबर, 1897 को हुआ था, जिसके केवल एक साल पहले स्पेन ने फिलीपींस पर अपना शासन छोड़ दिया और इसे संयुक्त राज्य अमेरिका को बेच दिया.

लोला इस्का की लंबी उम्र का राज़

देखें ये वीडियो: क्रीमी लेयर बढ़ाने को लेकर उठाया कदम

आपको बता दें कि यह वहीं वर्ष था जब आइसक्रीम स्कूप का आविष्कार किया गया था और जब मार्कोनी ने समुद्र के पार पहली बार रेडियो प्रसारण भेजा था. लोला के लंबे जीवन का रहस्य मुख्य रूप से सब्जियों से युक्त आहार माना जाता था, जिसमें थोड़ा मांस और सूअर का मांस खाना बिल्कुल नहीं था. द सन कि रिपोर्ट के अनुसार लोला ने यह भी कहा कि शराब न पीने ने भी उनकी इतनी परिपक्व उम्र तक पहुंचने में एक बड़ी भूमिका निभाई.

कबांकलन के अधिकारियों ने लोला को कहा उनकी प्रेरणा

कबांकलन के जन सूचना अधिकारी जेक कार्लिन गोंजालेस ने कहा कि लोला की मौत के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है. उन्होंने सीएनएन फिलीपींस को बताया कि उसे कोविड -19 के लिए परीक्षण किया जाएगा, लेकिन यह नहीं सोचा गया था कि उसे वायरस के किसी भी लक्षण का सामना करना पड़ा है. कबांकलन की सिटी सरकार ने फेसबुक पर एक बयान में कहा: ‘यह हमें बहुत दुख के साथ बताना पड़ रहा है कि हमारी प्यारी लोला फ्रांसिस्का सुसानो का सोमवार की शाम 22 नवंबर को निधन हो गया. मेयर पेड्रो ज़ायको, वाइस मेयर राउल रिवेरा और शहर के सभी अधिकारियों के साथ-साथ कबांकलन शहर के सभी लोग शोक की अवधि में लोला इस्का के परिवार के साथ शोक व्यक्त करते हैं और प्रार्थना करते हैं. लोला इस्का हमेशा हमारी प्रेरणा और गौरव के रूप में रहेगी.’

ये भी पढ़ें: नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर Akhilesh का कटाक्ष, कहा- बीजेपी उसे भी बेच देगी

आपको बता दें कि लोला इस्का को नीग्रोस ऑक्सिडेंटल और फिलीपींस में सबसे उम्रदराज व्यक्ति माना जाता है. जीन कैलमेंट, जिनकी 1997 में 122 वर्ष की आयु में मृत्यु हो गई, अब तक जीवित रहने वाले सबसे उम्रदराज व्यक्ति के लिए वर्तमान वर्ल्ड रिकॉर्ड धारक हैं. अब गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की सारी दस्तावेजों की जांच के बाद यह खिताब लोला इस्का यानि फ्रांसिस्का सुसानो को मिल सकता है.

No comments

leave a comment