Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / June 25.
Homeडिफेंसदिल्ली से बाहर पहली बार मना BSF का स्थापना दिवस समारोह, रेगिस्तान में दिखा जवानों का शौर्य

दिल्ली से बाहर पहली बार मना BSF का स्थापना दिवस समारोह, रेगिस्तान में दिखा जवानों का शौर्य

BSF Raising Day 2021
Share Now

देश की राजधानी दिल्ली से बाहर पहली बार जैसलमेर में बीएसएफ का स्थापना दिवस समारोह(BSF Raising Day 2021) मना. सीमा सुरक्षा बल के 57वें स्थापना दिवस समारोह को केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने संबोधित किया. इस दौरान शहीदों के परिजनों और सेवा दे रहे बीएसएफकर्मियों को पुलिस मेडल और उत्कृष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया. स्थापना दिवस समारोह(BSF Raising Day 2021) में केन्द्रीय गृहमंत्री ने सेना का शौर्य और पराक्रम भी देखा.

पहली बार सीमावर्ती जिले में मना स्थापना दिवस समारोह

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह(Amit Shah) ने कहा कि हर साल देश के सीमावर्ती जिले में सीमा सुरक्षा बल का स्थापना दिवस मनाया जाना चाहिए. सीमा सुरक्षा बल, पुलिस बलों और सीएपीएफ के 35 हजार से ज्यादा जवानों ने सर्वोच्च बलिदान दिया है, जिसमें बीएसएफ सबसे आगे हैं. देश की सबसे कठिन सीमाओं की सुरक्षा का दायित्व बीएसएफ के पास है. 1965 के युद्ध के बाद इसकी स्थापना की गई और आज यह सीमाओं की रक्षा करने वाला दुनिया का सबसे बड़ा बल है.

BSF Raising Day 2021

Image Courtesy: Google.com

हर हालात में देश की सुरक्षा करने में सक्षम हैं जवान  

बीएसएफ(BSF) के जवान हर परिवेश में देश की सुरक्षा करने में सक्षम हैं. पहाड़ हो, रेगिस्तान हो या फिर जंगल सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने हमेशा हर हालात में पराक्रम का परिचय दिया है. लोगेंवाला में जवानों ने अदम्य साहस की बदौलत पूरी टैंक बटालियन को वापस खदेड़ दिया था. दुश्मन की संख्या ज्यादा हो तब भी साहस और वीरता के साथ जवान देशभक्ति के जज्बे से प्रेरित होकर हर हालात का सामना करते हैं.

BSF Raising Day 2021

Image Courtesy: Google.com

बांग्लादेश और पाकिस्तान की सीमाओं की सुरक्षा सबसे कठिन काम

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि 4165 किलोमीटर की बांग्लादेश की सीमा और 3323 किलोमीटर लंबी पाकिस्तान की सीमा की सुरक्षा सबसे कठिन है, लेकिन 193 बटालियन और 2 लाख 65 हजार से ज्यादा जवान मुस्तैदी से इसकी सुरक्षा में डटे हैं. शांति काल हो या युद्ध काल सीमा सुरक्षा बल हमेशा देश की जनता की सुरक्षा के लिए सदैव तत्पर रहा है. पहली बार सीमा सुरक्षा बल(BSF) और सीएपीएफ के जवानों ने दो साल में करीब ढाई करोड़ पौधे लगाए हैं.

सीमाएं सुरक्षित रहेंगी तो सीमावर्ती क्षेत्र भी सुरक्षित रहेंगे

मोदी सरकार ने सीमा सुरक्षा को बड़ी गंभीरता से लिया है. जहां-जहां हमले का प्रयास हुआ हमने तुरंत जवाबी कार्रवाई की. आज पूरी दुनिया एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक की तीरफ करती है. पूरा देश सीमा की सुरक्षा करने वाले जवानों पर गर्व महसूस करता है.

BSF Raising Day 2021

Image Courtesy: Google.com

ये भी पढ़ें: गृहमंत्री अमित शाह ने ‘रोहिताश’ सीमा चौकी पर बिताई रात, BSF के जवानों के साथ खाया खाना

राजस्थान की करीब 1070 किलोमीटर लंबी अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर भारत माला प्रोजेक्ट के तहत राजस्थान में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है, हमारी सीमाएं जितनी सुरक्षित होंगी, सीमावर्ती क्षेत्र भी उतना ही सुरक्षित होगा.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment