Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / January 24.
Homeन्यूजयूपी चुनाव से पहले मायावती ने किया ऐलान, कहा- प्रदेश की सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ेगी बसपा

यूपी चुनाव से पहले मायावती ने किया ऐलान, कहा- प्रदेश की सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ेगी बसपा

BSP Chief Mayawati
Share Now

BSP Chief Mayawati: यूपी की राजनीति में बसपा पार्टी का भी अहम रोल माना जाता है। लेकिन पिछले कुछ समय से पार्टी के लिए सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। बसपा से कई बड़े नेता चुनाव से पहले भाजपा, सपा और कांग्रेस का दामन थाम चुके है। ऐसे में इस बार चुनाव में मायावती का भी बड़ा इम्तिहान होने जा रहा है। अगर इस बार पार्टी अपना दम नहीं दिखा पाएगी तो आने वाले चुनाव में मायावती (BSP Chief Mayawati) की पार्टी हाशिए पर नज़र आ सकती है। चुनाव से पहले अब बसपा भी आक्रमक मूड में नज़र आ रही है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को पार्टी के नेताओं की लखनऊ में बड़ी बैठक हुई।

403 सीटों पर चुनाव लड़ेगी बहुजन समाज पार्टी: मायावती

मंगलवार को हुई इस बैठक के बाद मायावती कहा कि बहुजन समाज पार्टी सभी 403 सीटों पर यूपी विधानसभा चुनाव लड़ेगी। इसके साथ मायावती ने कहा इस बार अगर उन्हें सत्ता मिलती है, तो वे सभी वर्गों का ध्यान रखेंगी। इसके साथ ही बसपा सुप्रीमो मायावती ने कई बड़े नेताओं को पार्टी का आधार मजबूत करने का जिम्‍मा सौंप दिया है। मायावती ने भाजपा सरकार के साथ कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा।

मायावती ने केंद्र सरकार पर जमकर साधा निशाना:

इस बैठक के बाद मायावती ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। मायावती ने कहा कि दलितों, आदिवासियों और पिछड़ों को आरक्षण बाबा साहेब की देन है। वहीं उत्तर प्रदेश में प्रदेश सरकार द्वारा आरक्षण को प्रभावहीन करने के प्रयास किए जा रहे है। वहीं इसके साथ मायावती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘केंद्र सरकार भी जातिगत जनगणना नहीं करवा रही है।’ लेकिन बसपा पार्टी दलितों और पिछड़ों के साथ हमेशा आगे खड़ी रहेगी।

किसानों के मुद्दे पर भी भाजपा सरकार को घेरा

इससे पहले मायावती ने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए किसानों की मांग पूरी करने के लिए केंद्र सरकार से अपील की। मायवती ने ट्विटर पर लिखा ”देश में किसानों के एक वर्ष के तीव्र आन्दोलन के फलस्वरूप तीन अति-विवादित कृषि कानूनों की आज संसद के दोनों सदनों में वापसी किसानों को थोड़ी राहत के साथ ही यह देश के लोकतंत्र की वास्तविक जीत है। यह सबक है सभी सरकारों के लिए कि वे सदन के भीतर व बाहर लोकतांत्रिक आचरण करें।

इसके आगे उन्होंने लिखा ”किन्तु देश के किसानों की विभिन्न समस्याओं को दूर करने के क्रम में खासकर फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारण्टी सुनिश्चित करने की माँग पर केन्द्र की चुप्पी अभी भी बरकरार है। केन्द्र द्वारा इसपर भी सकारात्मक पहल की जरूरत है ताकि किसान खुशी-खुशी अपने घर लौट सकें।

ये भी पढ़ें: क्या है कोरोना का नया ओमीक्रॉन वेरिएंट, जानें डेल्टा वेरिएंट से है कितना खतरनाक

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment