Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / August 9.
Homeन्यूजBudget 2022-23: इस बार के बजट में हलवा सेरेमनी समेत पूरी तरह बदल गई ये परंपरा

Budget 2022-23: इस बार के बजट में हलवा सेरेमनी समेत पूरी तरह बदल गई ये परंपरा

budget
Share Now

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण(Nirmala Sitharaman) अपने दूसरे कार्यकाल का चौथा बजट(Budget 2022-23) 1 फरवरी को पेश करेंगी. इस बार के बजट में कई तरह के परंपरा में बदलाव किए गए हैं. खास बात ये है कि सालों से चली आ रही हलवा सेरेमनी(Halwa Ceremony) की परंपरा भी इस बार खत्म कर दी गई है. इस बार बजट बनाने वाले लोगों को हलवा की जगह मिठाई दी जाएगी. इसके अलावा खास बात ये भी है कि बजट पूरी तरह से पेपरलेस(Paperless Budget) होगा.

बीते साल से ही कोरोना(Corona) की वजह से बजट की प्रक्रिया पूरी तरह से पेपरलेस कर दी गई है. वित्त मंत्रालय(Finance Ministry) ने बयान जारी कर बताया है कि यूनियन बजट(Union Budget) मोबाइल ऐप पर हिंदी और अंग्रेजी दोनों में पूरी जानकारी उपलब्ध होगी, जिसे आप यूनियन बजट वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं. मोदी सरकार ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इस बार हलवा सेरेमनी को भी(Halwa Ceremony) खत्म करने का फैसला लिया है. जानकारी की बात ये है कि हलवा सेरेमनी की परंपरा के मुताबिक हर साल बजट बनाए जाने से पहले हलवा बनाए जाने की रस्म निभाई जाती थी.

1 फरवरी को पेश होगा बजट

वित्त मंत्री(Finance Minster) हर साल बजट बनाने वाले अधिकारियों को हलवा बांटते थे. 1 फरवरी को संसद में पेश होने वाले बजट निर्माण की प्रक्रिया इतनी गोपनीय होती है कि उसमें हिस्सा लेने वाले हर एक अधिकारी पूरी तरह से इस काम में तल्लीन होते हैं. वह न तो फोन पर किसी से संपर्क कर सकते हैं और ना ही बजट बनने तक करीब दस दिन तक उनकी बाहरी दुनिया से कोई संपर्क होता है. इस बार के बजट में महिलाओं, शिक्षा और रेलवे को लेकर कुछ बड़े ऐलान होने की उम्मीद है.

टैक्स स्लैब में मिल सकती है राहत

बता दें कि पिछली बार जब 1 फरवरी 2021 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण(Nirmala Sitharaman) ने बजट पेश किया था तो उसमें कई बड़े ऐलान किए गए थे. रक्षा क्षेत्र, कृषि सेक्टर का बजट बढ़ाए जाने और 100 नए सैनिक स्कूल खोले जाने समेत जनकल्याण की कई योजनाओं को ज्यादा आर्थिक मदद देने का प्रस्ताव रखा गया था. हालांकि पिछली बार टैक्स स्लैब(Tax Slab) में कोई परिवर्तन नहीं किया गया था. इस बार ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि टैक्स स्लैब में बदलाव कर मोदी सरकार(Modi Government) आम जनता को राहत दे सकती है.

ये भी पढ़ें: टमाटर ने बिगाड़ा रसोई का बजट, देश में यहां मिल रहा है 160 रूपये प्रति किलो टमाटर

5 राज्यों में होने वाले हैं चुनाव

खास बात ये है कि आने वाले दिनों में पांच राज्यों (उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर) में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में इस वित्त मंत्री के पिटारे में इन पांच चुनावी राज्यों की जनता के लिए क्या तोहफा हो सकता है ये देखने वाली बात होगी.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment