Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 20.
Homeहेल्थThoracic Outlet Syndrome: हाथों और उंगलियों में है दर्द की शिकायत तो हो जाए सावधान

Thoracic Outlet Syndrome: हाथों और उंगलियों में है दर्द की शिकायत तो हो जाए सावधान

Share Now

अक्सर लोग हाथों और उंगलियों में दर्द की शिकायत करते हैं.  कुछ लोगों को दर्द के साथ सूजन भी होती है. अभी ज्यादातर लोगों की दिनचर्या यही है कि मॉर्निंग वॉक और नियमित व्यायाम संभव नहीं है. जिससे शारीरिक और मानसिक तनाव में भी वृद्धि होती है.  इसलिए अधिक वजन होने से गर्दन से हाथों तक चलने वाली मस्तिष्क की नसों पर जरूरत से ज्यादा दबाव पड़ने लगता है. इससे हाथों में दर्द और झुनझुनी होती है. इसे थोरैसिक आउटलेट सिंड्रोम (Thoracic Outlet Syndrome) कहा जाता है.  कभी-कभी गर्दन की मांसपेशियां भी सिकुड़ जाती हैं और नस पर दबाव डालती हैं। जिससे गर्दन हिलाने पर भी दर्द होता है. 

अगर आपको हाथों में दर्द और उंगलियों में झुनझुनी होती है. तो इसका मुख्य कारण सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस हो सकता है. यह कभी-कभी उल्टी या चक्कर का कारण बनता है. लोग अक्सर गलत समझ लेते हैं कि यह दिमागी पेट की बीमारी है. गर्दन की जल्दी एक्सरसाइज करने और वजन कम करने से इस समस्या को और बिगड़ने से रोका जा सकता है. 

महिलाएं ज्यादा होती है परेशान 

अधिक वजन वाली महिलाएं, अगर वे व्यायाम भी नहीं करते हैं और घर के कामों से भाग जाते हैं. यह समस्या महिलाओं में सबसे ज्यादा होती है. इसका मुख्य कारण अशुद्ध रक्तवाहिनी पर कंधे के किनारे की नस पर दबाव पड़ना है. यह दबाव बिगड़ा हुआ रक्त परिसंचरण और हाथों में दर्द और उंगलियों में सूजन का कारण बनता है. कभी-कभी यह समस्या गंभीर रूप ले सकती है अगर सही समय पर इसका इलाज न किया जाए. 

धूम्रपान करने वालों में यह समस्या अधिक

धूम्रपान करने वालों में यह समस्या अधिक होती है. तंबाकू में मौजूद निकोटिन शुद्ध रक्त की नसों में हाथ की नसों को संकरा कर देता है.  जिससे शुद्ध रक्त की कमी हो जाती है. इससे हाथों में दर्द होता है और नाखूनों के आसपास का क्षेत्र काला पड़ जाता है. उंगली के आसपास का कालापन कई मामलों में वास्कुलाइटिस के कारण होता है. जिसमें शुद्ध रक्त की शिराओं की दीवारों में सूजन आ जाती है. इससे नस के अंदर की रक्त वाहिकाएं संकरी हो जाती हैं, जिससे उंगली काली हो जाती है. 

तनाव वाले लोगों में यह समस्या आम 

तनाव वाले लोगों में यह स्थिति अधिक आम है. महिलाएं बेहद संवेदनशील होती हैं इसलिए उनमें यह समस्या अधिक पाई जाती है. यह समस्या सर्दियों में ज्यादा होती है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ठंड से शुद्ध रक्त का संचार रुक जाता है जिससे उंगलियां भूरी हो जाती हैं. नाखून के आसपास के क्षेत्र में घाव दिखाई देते हैं. इस समस्या से पीड़ित मरीजों को अत्यधिक ठंड में बाहर जाने से बचना चाहिए. 

ये भी पढ़ें: Urination Problem: यूरिनरी प्रॉब्लम को ना करें नज़रअंदाज, बढ़ सकता है खतरा

इस समस्या से पा सकते हैं निजात

अगर इस समस्या के हल की बात करें तो कई हल भी हैं. अगर इन्हें आप फॉलों करते हैं तो आसानी से इस समस्या से निजात पा सकते हैं.

सबसे पहले आप एक्सरसाइज करने की आदत डालें खासकर हाथों के लिए एक्सरसाइज करें, वजन को नियंत्रण में रखें, नियमित धूप लें, सभी तंबाकू उत्पादों से दूर रहें. 

हाथ की विभिन्न समस्याओं को सर्जरी से हल किया जा सकता है. सर्जरी पूरी तरह से समस्या को खत्म नहीं करेगी. सर्जरी रक्त वाहिकाओं को साफ करती है ताकि हाथों में रक्त का प्रवाह सुचारू रूप से जारी रहे, लेकिन सर्जरी के बाद भी आहार, संतुलित दिनचर्या और डॉक्टर की सलाह का पालन करना महत्वपूर्ण है.

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

No comments

leave a comment