Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / August 10.
Homeन्यूजक्या है गांधी परिवार में ‘शराब से दूरी’ वाला नियम, आइये जानते हैं इसका इतिहास

क्या है गांधी परिवार में ‘शराब से दूरी’ वाला नियम, आइये जानते हैं इसका इतिहास

What is the rule of 'distance from alcohol' in Gandhi family, let's know its history
Share Now

Congress Party: आजादी के बाद से सबसे पुरानी पार्टी है कांग्रेस. इसलिए इस पार्टी इतिहास और कानून जरा अलग हैं. लेकिन क्या आज भी कांग्रेस पार्टी पुराने नियम कानूनों को तरजीह देती है, क्या आज भी किसी नेता को पार्टी में शामिल कराने से पहले महात्मा गांधी द्वारा बनाए गए कानूनों को फॉलो करते हैं. माना इन सवालों का जवाब तो महज गांधी परिवार के पास है लेकिन इस बीच कांग्रेस पार्टी एक नवंबर से सदस्यता अभियान शुरु करने जा रही है.

इसको लेकर हाल ही में कांग्रेस नेताओं के साथ आलाकमान ने एक बैठक भी की थी. इस मीटिंग में कांग्रेस (Congress Party) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी नेताओं से सवाल पूछा कि यहां मौजूद कितने लोग शराब का सेवन करते हैं. हालांकि इस मीटिंग में कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं के साथ नवजोत सिंह सिद्धू भी शामिल थे. जिसके जवाब में सिद्धू  ने कहा कि उनके राज्य में तो ज्यादातर लोग शराब का सेवन करते हैं.

लेकिन इस बीच सवाल ये उठता है कि आखिर राहुल गांधी ने कांग्रेसी नेताओं से ऐसा सवाल क्यों किया? तो आपको बता दें कि कांग्रेस पार्टी संविधान के मुतिबाक कांग्रेस की सदस्यता देने से पहले व्यक्ति से यह घोषणा कराती है कि वो शराब या किसी भी तरह के नशे का सेवन नहीं करता है. साथ ही कांग्रेस की सदस्यता लेने के लिए व्यक्ति का खादी पहनना भी जरुरी है. कांग्रेस पार्टी में यह नियम काफी पहले बनाए गए थे जिसका पालन करना पार्टी में शामिल होने वाले नेताओं को करना जरुरी होता था. हालांकि राहुल गांधी ने इस बात को स्वीकार किया है कि आज के दौर में पार्टी के इन नियम को बनाए रखना काफी मुश्किल हो गया है. इसलिए आने वाले कुछ समय में इन नियमों को हटाया भी जा सकता है.

इसे भी पढ़े:गुजरात दौरे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, भावनगर में पीएम आवास योजना के तहत बने घरों का करेंगे उद्घाटन

महात्मा गांधी ने बनाया था नियम

आपको बता दें कि इस नियम को महात्मा गांधी ने बनाया था. महात्मा गांधी ने AICC अध्यक्ष के रूप में करीब एक साल तक काम किया था. तब गांधी जी ने शराब को इंसान की सेहत के लिए लाभकारी घोषित किया था. तब महात्मा गांधी ने कहा था कि मैं शराब तको शराब को चोरी और शायद वेश्यावृत्ति से भी अधिक हानिकारक मानता हूं. क्या यह अक्सर दोनों की वजह नहीं होता’. लेकिन अब कांग्रेस अपने नियमों में बदलाव करने जा रही हैं. जिसको लेकर हाल ही कांग्रेस नेताओं के साथ राहुल गांधी ने मुलाकात भी कि थी.

 

No comments

leave a comment