Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / June 25.
Homeन्यूजआज से देशभर में लगेगी कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज, पंजीकरण की आवश्यकता नहीं

आज से देशभर में लगेगी कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज, पंजीकरण की आवश्यकता नहीं

Corona Booster Dose India
Share Now

Corona Booster Dose India: पीएम मोदी के ऐलान के बाद सोमवार यानी आज से कोरोना वैक्सीन की ‘प्रीकॉशन डोज’ लगनी शुरू होगी। कोरोना के खिलाफ जंग में ‘प्रीकॉशन डोज’ की शुरुआत सोमवार से होने जा रही है। यह डोज (Corona Booster Dose India) हेल्‍थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ गंभीर बीमारियों से ग्रस्‍त वरिष्‍ठ नागरिकों को लगेगी। प्रधानमंत्री मोदी ने इसे बूस्‍टर डोज की जगह अपने संबोधन में ‘प्रीकॉशन डोज’ नाम दिया था। कोरोना की यह एहतियातन डोज उस समय लगने जा रही है जब देश में कोरोना की तीसरी लहर पीक पर है। देश में रोजाना डेढ़ लाख से ज्यादा कोरोना के नए मामले आ रहे है।

इसके लिए पंजीकरण की आवश्यकता नहीं:

बता दें कोरोना के पहले और दूसरे टीके की तरह ‘प्रीकॉशन डोज’ के लिए किसी तरह के पंजीकरण या रजिस्ट्रेशन की जरुरत नहीं है। इसके लिए सरकार ने अभी हेल्‍थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ ही 60 साल से अधिक आयु के लोग जिन्हें गंभीर और कोई बीमारी हैं, वो अपने डॉक्टर की सलाह पर बोस्टर डोज लगवा सकते है। केंद्र सरकार ने अभी वयस्कों के लिए बूस्टर खुराक पर अभी तक कोई निर्णय नहीं हुआ है।

दूसरी डोज लेने के 9 महीने बाद:

बता दें बूस्टर डोज कोरोना की दूसरी खुराक के 9 महीने के बाद लगाई जा सकती है। तीसरी खुराक वही वैक्सीन होगी जो लोगों को उनकी पहली और दूसरी खुराक के लिए मिली है। केंद्र ने कहा है कि जो वैक्‍सीन पहले ली गई है, वही वैक्‍सीन बूस्‍टर डोज के तौर पर दी जाएगी। अगर किसी ने पहले और दूसरे टीके के रूप में कोविशील्ड का टीका लगवाया है, तो उसे तीसरी खुराक के रूप में कोविशील्ड का ही टीका लगाया जाएगा।

संक्रमण की गंभीरता होगी कम:

बता दें कोरोना वैक्सीन लगने के बाद भी लोग इसके संक्रमण का शिकार हो रहे है। ‘प्रीकॉशन डोज’ से संक्रमण की गंभीरता को कम करने, अस्पताल में भर्ती होने और मौत के खतरे को कम करता है। बूस्टर डोज को लेकर ब्रिटेन में हुए एक शोध में पाया गया है कि तीसरी खुराक ओमीक्रॉन के खतरे को 88 फीसदी कम करती है।

ये भी पढ़ें: देश में कोरोना का विस्फोट!, पिछले 24 घंटे में 58,097 नए मामले, 534 लोगों की मौत

ऐसी ही अपडेट्स  के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

No comments

leave a comment