Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / November 30.
Homeन्यूजगाय के गोबर से मजबूत होगी इकोनॉमी, CM शिवराज ने दिया अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का ‘गोमंत्र’

गाय के गोबर से मजबूत होगी इकोनॉमी, CM शिवराज ने दिया अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का ‘गोमंत्र’

CM Shivraj Singh Chauhan
Share Now

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( CM Shivraj Singh Chauhan) जिन्होंने गायों के लिए अलग कैबिनेट बनाकर मध्य प्रदेश को ऐसा करने वाला देश का पहला प्रदेश बना दिया था. अब गाय को लेकर दिए बयान से चर्चा में हैं. शिवराज सिंह चौहान ने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का ऐसा गोमंत्र दिया है जिसमें गोमुत्र और गाय का गोबर (Cow Dung) दोनों शामिल है.

‘गाय-बैल के बिना नहीं चल सकता काम’

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( CM Shivraj Singh Chauhan) ने पशु चिकित्सक एसोसिएशन के महिला विंग की ओर से आयोजित कार्यक्रम में ये बातें कहीं. उन्होंने कहा कि गाय-बैल के बिना काम नहीं चल सकता. सरकार की ओर से गौशालाएं बनाई जा रही हैं, अभयारण्य बनाए जा रहे हैं, लेकिन लोगों की मदद भी जरूरी है.

‘सिर्फ सरकारी गौशालाओं से नहीं चलेगा काम’

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि गाय के गोबर, गोमूत्र से हम चाहें तो अर्थव्यवस्था (Economy) को सुदृढ़ कर सकते हैं, देश को आर्थिक रूप से सक्षम बना सकते हैं, लेकिन जब तक समाज नहीं जुड़ेगा सिर्फ सरकारी गौशालाओं से काम नहीं चलेगा. मुझे लगता है कि महिलाएं इस क्षेत्र में आ गईं हैं तो सफलता निश्चित है.

‘गोबर-गोमूत्र से सुधरेगी अर्थव्यवस्था’

यहां तक कि सीएम शिवराज ने कहा कि मध्य प्रदेश के श्मशान घाटों में हम कोशिश कर रहे हैं कि लकड़ी की जगह गोबर के उपले का इस्तेमाल हो. उन्होंने ये भी कहा कि गाय के गोबर और गोमूत्र से खाद, कीटनाशक और दवाइयां भी बनाई जा रही हैं. इससे गौशालाएं आत्मनिर्भर बन रही हैं. मतलब सीएम शिवराज सिंह के मुताबिक गोबर और गोमूत्र से देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: जानें समुद्री गाय का अभ्यारण्य कहा बना, क्या होती है समुद्री गाय ?

मध्य प्रदेश में गौ कैबिनेट

जानकारी की बात ये है कि मध्य प्रदेश देश में पहला ऐसा राज्य है जहां गायों की लिए अलग से कैबिनेट (Cow Cabinet) है. गौ संरक्षण के उद्देश्य से सीएम शिवराज सिंह ने गौ कैबिनेट का गठन किया था, जिसमें छह विभागों के मंत्री शामिल हैं. मतलब गायों के संरक्षण और गौशालाओं को लेकर शिवराज सिंह की सरकार अलग दिशा में काम कर रही है.   

No comments

leave a comment