Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 5.
Homeन्यूजदेश में जब तक हिंदू बहुसंख्यक हैं, तब तक संविधान, धर्मनिरपेक्षता और कानून है: नितिन पटेल

देश में जब तक हिंदू बहुसंख्यक हैं, तब तक संविधान, धर्मनिरपेक्षता और कानून है: नितिन पटेल

Nitin Patel
Share Now

गुजरात के गांधीनगर में आयोजित धर्मसभा में उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल (Nitin Patel) ने बड़ा बयान दिया है. इस धर्मसभा में उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, गृहमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा और विहिप के राष्ट्रीय संयुक्त महासचिव सुरेन्द्र जैन ने भी भाग लिया. 

‘देश की धर्मनिरपेक्षता खतरे में पड़ जाएगी’

इस दौरान गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल (Nitin Patel) का विवादित बयान सामने आया.  उन्होंने कहा कि हमारे देश में कुछ लोग संविधान, धर्मनिरपेक्षता के बारे में बात कर रहे हैं. अगर आप एक वीडियो रिकॉर्ड करना चाहते हैं, तो करें, मेरे शब्दों को रिकॉर्ड करें. उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि जब तक हिंदू हैं देश, कानून और संविधान स्थायी है. हिंदू बहुसंख्यक हैं इसलिए वह धर्मनिरपेक्षता की बात करेंगे.

‘…तो सब कुछ दब जाएगा’

इतना ही नहीं नितिन पटेल (Nitin Patel) ने तो यहां तक कह दिया गया कि अगर और लोग बढ़े तो देश में कोई देश में कोई न्यायालय कार्यालय या संविधान नहीं होगा. देश की धर्मनिरपेक्षता खतरे में पड़ जाएगी और सब कुछ दब जाएगा. 

ये भी पढ़ें: कोरोना पर इन नेताओं का ज्ञान तो और अजीब है, असम के मंत्री पहले ऐसे नेता नहीं हैं…

‘हिंदू आबादी के पतन के बाद कुछ भी नहीं बचेगा’

पटेल ने कहा कि जिस दिन हिंदुओं की संख्या घटने लगेगी और दूसरों की संख्या बढ़ने लगेगी, तब न धर्मनिरपेक्षता, न लोकसभा और न ही संविधान बचेगा, सब कुछ उड़ा दिया जाएगा. मैं हर चीज के बारे में बात नहीं कर रहा हूं. मैं यह भी स्पष्ट कर दूं कि लाखों मुसलमान देशभक्त हैं, लाखों ईसाई देशभक्त हैं. अंत में, नितिन पटेल ने भी विवाद को शांत करने के लिए बयान में बदलाव के बाद सफाई दी. 

No comments

leave a comment