Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / September 24.
Homeडिफेंसजम्‍मू एयरफोर्स स्‍टेशन पर हुए ड्रोन हमलें के पीछे क्या है वजह?

जम्‍मू एयरफोर्स स्‍टेशन पर हुए ड्रोन हमलें के पीछे क्या है वजह?

air force
Share Now

भारत में किसी सैन्‍य ठिकाने पर पहली बार ड्रोन से हमला हुआ है। बीते दिन जम्‍मू एयरपोर्ट पर भारतीय वायुसेना (IAF) के स्‍टेशन को निशाना बनाकर दो धमाके किए गए हैं। रविवार को हुए इस आतंकी हमले में वहाँ के दो कर्मचारी घायल हुए हैं। वहीं दोनों धमाके कम तीव्रता के थे साथ ही दोनों धमाके एक-दूसरे से 5 मिनट के अंतर पर हुए। इस हमले के बाद ड्रोन्‍स के जरिए होने वाले हमलों को लेकर अब चिंता और बढ़ गई है।

Iron Dome

Image Source: Google

इजरायल का उदाहरण दिया जा रहा 

सुरक्षा विशेषज्ञों ने इससे पहले भी कई बार ड्रोन हमलों को लेकर चेतावनी  दी थी। इसके बाद अब मांग यह उठ रही है कि भारत के पास ऐसे ड्रोन हमलों से निपटने का इंतजाम होना चाहिए। जिसमे उदाहरण इजरायल का दिया जा रहा है जिसके पास ‘आयरन डोम’ नाम का कारगर एयर डिफेंस सिस्‍टम है।

drone

Image Source: Google

आम ड्रोन्‍स के जरिए हुआ हमला 

पहले से ही आतंकवाद का शिकार रहे भारत के लिए अब चुनौती और बढ़ गई है। हमले के बाद यह अभी साफ नहीं हुआ है की आखिर ड्रोन का इस्तेमाल हमले के लिए किस प्रकार किया गया है। हालांकि कुछ सूत्रों के मुताबिक, हमला बाजार में मिलने वाले आम ड्रोन्‍स के जरिए किया गया  हैं। उनसे छेड़छाड़ कर उन्‍हें इम्‍प्रोवाइज्‍ड एक्‍सप्‍लोसिव डिवाइस (IED) ले जाने लायक बनाया गया। बता दें की ऐसे ड्रोन्‍स बाजार में करीब 20 हजार रुपये में मिलते है, जो 5-8 किलो वजन ले जा सकते हैं।

Attack

Image Source: Google

धमाके टेक्नीकल एरिया के पास हुए 

वहीं वायुसेना की ओर से अभी तक इस मामले मे किसी प्रकार की टिप्पणी नहीं की गई है, लेकिन अब तक हुई जाँच में ड्रोन हमले का शक जताया गया है। वहीं दूसरी ओर जम्मू- कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने कहा, ‘वायु सेना स्टेशन पर हुआ हमला आतंकी हमला था।’ दरअसल, इसकी एक वजह ये भी है कि ये धमाके टेक्नीकल एरिया के पास हुए हैं, जो साफ दिखाता है कि टारगेट एयरक्राफ्ट थे।

attack

Image Source: Google

एक बड़े हमले को टाल दिया गया

जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने कहा कि पुलिस और अन्य एजेंसियां हमले के पीछे की साजिश का पर्दाफाश करने के लिए साथ मिलकर काम कर रही हैं। NIA की एक टीम भी मौके पर पहुंच गई है। फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है कि यह ड्रोन आखिर आया कहाँ से और जाँच में जुटे अधिकारी दोनों ड्रोन के हवाई मार्ग का पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं। बताया दें, जम्मू हवाई अड्डे और अंतरराष्ट्रीय सीमा के बीच हवाई दूरी 14 किलोमीटर ही है। पुलिस महानिदेशक ने बताया कि एक बड़े हमले को टाल दिया गया।

Terrorist attack

Image Source: Google

लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े आरोपी को किया गिरफ्तार

इस बीच जम्मू के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) मुकेश सिंह ने बताया कि पुलिस ने त्रिकुटा नगर पुलिस थाने के अधिकार क्षेत्र में एक मॉल के पास से एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया है, जिसके पास से 5 किलोग्राम का IED बरामद किया गया है। गिरफ्तार हुआ आरोपी लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ा बताया जा रहा है। इस व्यक्ति को भीड़-भाड़ वाले स्थान पर आईईडी(IED) विस्फोट की जिम्मेदारी दी गई थी। जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने बताया, ‘संदिग्ध को हिरासत में लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है। इस मामले में कुछ और संदिग्धों को पकड़े जाने की संभावना है।’

Air Force Station

Image Source: Google

बिना सबूत के भारत जवाबी कार्रवाई नहीं कर पाएगा 

ये कोई पहली बार नहीं जब दुश्‍मन पर हमला करने के लिए ड्रोन्‍स का इस्‍तेमाल हुआ है। पहले भी कई बार दुनिया मे दुश्मनों पर ड्रोन के जरिए हमला किया जा चुका है| लेकिन पाकिस्‍तानी आतंकियों के ड्रोन्‍स का हमलों के लिए इस्‍तेमाल करना हमारे लिए और चिंताजनक बात है। लश्‍कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्‍मद जैसे संगठनों के जरिए ISI ड्रोन हमले करा सकती है और उसपर तोहमत भी नहीं आएगी। सूत्रों ने साथ ही बताया की बिना सबूत के भारत जवाबी कार्रवाई भी नहीं कर पाएगा।
drone

Image Source: Google

यहाँ पढ़ें: पश्चिमी वायु कमान को सर्वोच्च स्तर की तैयारी रखने का निर्देश

मार्केट मे उपलब्ध ड्रोन का रडार सिग्नल लो

भारत ने अभी तक इस‍ दिशा में किसी प्रकार की ठोस प्रगति नहीं की है। मार्केट में जो ड्रोन उपलब्‍ध हैं, उनका रडार सिग्‍नल बहुत ही कमजोर होता है, जिसका अभी काट भारत के पास नहीं है। ऐसे ड्रोन्‍स को सर्विलांस के बाद खत्‍म करने के लिए महंगी मिसाइलों का इस्‍तेमाल भी तर्कसंगत नहीं लगता। एक्‍सपर्ट्स के अनुसार, ड्रोन्‍स काफी बड़ा खतरा साबित हो सकते हैं इसलिए उन्‍हें काउंटर करने का इंतजाम जल्‍द से जल्‍द होना चाहिए।

सबसे पहले तो भारत को अपने मिलिट्री रडार सिस्‍टम्‍स को अपग्रेड करना होगा। उन्‍हें इस लायक बनाना होगा कि वे छोटे ड्रोन्‍स को ट्रैक कर सकें। ड्रोन के हमलों से भारी सिक्‍योरिटी कवर या सीसीटीवी कैमरा मॉनिटरिंग नहीं बचा सकेगी। इसके लिए हाईटेक हल ही खोजने होंगे। DRDO कथित रूप से आतंकी ड्रोन्‍स से निपटने के लिए किसी तकनीक पर काम कर राह है। जम्‍मू हमले के बाद DRDO पर रक्षा मंत्रालय का दबाव बढ़ना चाहिए।

Iron Dome

Image Source: Google

‘आयरन डोम’ नाम का है एक एयर डिफेंस सिस्‍टम

ड्रोन के हमलों को किस तरह से रोका जाए? इस सवाल का जवाब देते हुए अधिकतर एक्‍सपर्ट्स इजरायल का उदाहरण देते हैं जिसके पास ‘आयरन डोम’ नाम का एयर डिफेंस सिस्‍टम है। यह कम रेंज वाला, जमीन से हवा में मार करने वाला एयर डिफेंस सिस्‍टम हैं। इसमें एक रडार और तामिर इंटरसेप्‍टर मिसाइलें लगी होती हैं जिनका इस्‍तेमाल किसी रॉकेट/मिसाइल/एयरक्राफ्ट/हेलिकॉप्‍टर्स/ड्रोन्‍स को न्‍यूट्रलाइज करने में किया जाता है।

बताया दें की इजरायल ने यह तकनीक 2011 में इस्‍तेमाल करनी शुरू की। आयरन डोम में तीन सिस्‍टम होते हैं जो एक साथ काम करते हैं। इसका रडार हर आने वाले खतरे को भांप लेता है। साथ ही हर मौसम में इस्‍तेमाल होने वाला आयरन डोम सिस्‍टम बेहद महंगा होता है| 

Drone

Image Source: Google

ड्रोन्‍स को हमला करने से पहले ही उड़ाया जा सकता

वायसुना के पूर्व उप-प्रमुख एयर मार्शल पीके बारबोरा (रिटा) के अनुसार, इजरायल जो सिस्‍टम यूज करता है, वह इतना कारगर इसलिए है क्‍यों‍कि उसे लॉन्‍चपैड्स का पता होता है। इजरायल के दुश्‍मन एक छोटे इलाके में सिमटे हैं और वहीं से फायर करते हैं। भारत के लिए दिक्‍कत यह है कि उसकी अंतरराष्‍ट्रीय सीमा ज्यादा बड़ी है। वह इतने बड़े पैमाने पर इस तरह की शील्‍ड तैयार नहीं कर सकते। 

Bipin Rawat

Image Source: Google

CDS बिपिन रावत ने चेताया था पाकिस्तान को

कुछ दिन पहले ही CDS बिपिन रावत ने दबे लहजे मे पाकिस्तान को चेतावनी दी थी| उन्होंने न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए कहा था की जम्मू-कश्मीर में ड्रोन के जरिए आतंकियों को गोला-बारूद पहुंचाया जा रहा है, और यह सीजफायर के साथ शांति प्रक्रिया के लिए शुभ संकेत नहीं है।

https://twitter.com/ANI/status/1407339991643131908

यहाँ पढ़ें: DRDO ने किया 25 Enhanced Pinaka Rockets को लॉन्च

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें OTT INDI App पर…. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment