Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / January 25.
Homeभक्तिभारत वर्ष के 51 शक्तिपीठों में से एक माना जाता है, द्वारका स्थित यह प्राचीन मंदिर

भारत वर्ष के 51 शक्तिपीठों में से एक माना जाता है, द्वारका स्थित यह प्राचीन मंदिर

Dwarka mandir
Share Now

भद्रकाली मंदिर, द्वारका (Bhadrakali Mandir Dwarka): द्वारका का प्राचीन भद्रकाली मंदिर भारत वर्ष के 51 शक्तिपीठों में से एक माना जाता है। नवरात्रि के दौरान मंदिर में माँ के अनुष्ठान के लिए भक्तों का तांता उमड़ पड़ता है। ऐसा कहा जाता है माता पार्वती के शरीर का एक भाग द्वारका पर भी गिरा था, तभी भद्रकाली के स्वरूप में शक्तिपीठ भद्रकाली मंदिर की स्थापना की गई। 

भद्रकाली मंदिर द्वारका

भद्रकाली मंदिर द्वारका, google image 

भगवान श्री कृष्ण ने स्वयं की थी भद्रकाली मंदिर की स्थापना: 

पौराणिक लोककथा के अनुसार, द्वारका स्थित भद्रकाली मंदिर की स्थापना (Bhadrakali mandir, Dwarka) भगवान श्री कृष्ण द्वारा की गई थी, इसके पश्चात वे द्वारका की राज सिंहासन पर विराजमान हुए। वर्ष में आने वाली चारों नवरात्रि चैत्र, माघ, आषाढ़ और आश्विन महीने में मंदिर परिसर में धूमधाम से मनाई जाती है। आश्विन महीने की नवरात्रि में माताजी को श्रृंगार अर्पित किया जाता है, नवमी के दिन प्रतिवर्ष अन्नकूट उत्सव और हवंन का आयोजन किया जाता है। भद्रकाली महाकाली माँ का शांत स्वरूप है जबकि माँ  शारदा पीठ मठ की कुलदेवी मानी जाती हैं। 

यहां पढ़ें: गुजरात स्थित इस मंदिर में भगवान को प्रिय है सुखड़ी, लेकिन मंदिर से बाहर ले जाना मना है प्रसाद!

dwarka mandir

dwarka mandir, google image 

माँ भद्रकाली द्वारका नगर की रक्षा करती हैं

ऐसा कहा जाता है शंकराचार्य जी ने द्वारका नगरी में प्रवेश कर सर्वप्रथम भद्रकाली माता की पूजा अर्चना की थी और बाद में शारदापीठ के मठ में विराजे थे। माँ के सभी भक्त श्रद्धापूर्वक यहां आकर सच्चे मन से पूजा अर्चना करते हैं और मां भद्रकाली उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती हैं। भगवान श्री कृष्ण के द्वारका छोड़ने के पश्चात स्वर्णनगरी के रक्षण के लिए चार देवियों की स्थापना की गई। द्वारका नगरी पर किसी भी प्रकार प्राकृतिक आपदा आने पर वर्तमान में भी माँ भद्रकाली द्वारका नगर की रक्षा करती हैं। मंदिर में माँ भद्रकाली सहित माँ आशापुरा, हरसिद्धि माता और माँ शारदा भी विराजमान हैं। नवरात्रि के महापर्व पर माँ का विभिन्न प्रकार के आभूषणों से श्रृंगार किया जाता है। 

आप भी स्वर्ण नगरी द्वारका में माँ भद्रकाली के दर्शन के लिए अवश्य पधारें।

देखें यह वीडियो: मथुरा-वृंदावन के टूरिस्ट प्लेसेस 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

No comments

leave a comment