Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / June 25.
Homeकहानियांजानें 5 चुनावी राज्यों में कहां किसकी है सरकार, कैसी रही थी साल 2017 की चुनावी तस्वीर

जानें 5 चुनावी राज्यों में कहां किसकी है सरकार, कैसी रही थी साल 2017 की चुनावी तस्वीर

election date 2022
Share Now

Election Date 2022: चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव( 5 State Assembly Election) का ऐलान कर दिया है. 4 राज्यों की विधानसभा का कार्यकाल जहां मार्च के महीने में खत्म हो रहा था तो वहीं एक राज्य उत्तर प्रदेश की विधानसभा का कार्यकाल मई के महीने में खत्म होने वाला था. हालांकि चुनाव एक साथ ही संपन्न होंगे और 10 मार्च को पांचों राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो जाएंगे.

किस राज्य में कब होंगे चुनाव

मोटे तौर पर पहले समझ लीजिए कि इन राज्यों में किस-किस तारीख को चुनाव होंगे. 403 विधानसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश(UP Election 2022) में सात चरणों में चुनाव संपन्न होंगे, 14 जनवरी को अधिसूचना जारी होगी और फिर 10 फरवरी को पहले चरण का चुनाव होगा. मतलब 10 फरवरी को सिर्फ उत्तर प्रदेश में वोटिंग होगी. इसके बाद 14 फरवरी को उत्तर प्रदेश में दूसरे चरण के चुनाव होंगे और इसी दिन पंजाब, गोवा और उत्तराखंड के चुनाव संपन्न होंगे. मतलब पंजाब(Punjab Election 2022), गोवा(Goa Election 2022) और उत्तराखंड(Uttarakhand Election 2022) में एक चरण में चुनाव होंगे.

assembly election 2022 date

Image Courtesy: Google.com

10 मार्च को होगी मतगणना

इसके बाद तीसरे और चौथे चरण का चुनाव सिर्फ उत्तर प्रदेश में 20 और 23 फरवरी को होंगे. इसके बाद बारी आती है मणिपुर की, जहां दो चरणों में चुनाव संपन्न होंगे. उत्तर प्रदेश में पांचवें और छठे चरण के चुनाव 27 फरवरी और 3 मार्च को होंगे, इसी दौरान मणिपुर में भी दो चरणों में चुनाव(Manipur Election 2022) संपन्न हो जाएंगे. आखिरी चरण का चुनाव 7 मार्च को उत्तर प्रदेश में होगा और फिर 10 मार्च को मतगणना होगी. ये इस बार का चुनावी शेड्यूल(poll Schedule 2022) है. अब ये समझते हैं कि किस राज्य में किस पार्टी की सरकार है और बीते चुनाव में क्या स्थिति रही थी.

किस राज्य में किसकी है सरकार  

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर ये चार ऐसे राज्य हैं, जहां बीजेपी की सरकार(BJP Government) है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के पुष्कर सिंह धामी, गोवा के प्रमोद सावंत और मणिपुर के एन बीरेन सिंह हैं. इकलौता पंजाब ऐसा प्रदेश है, जहां कांग्रेस की सरकार(Congress Government) है. मतलब बीजेपी के लिए चार राज्यों में वापसी के साथ-साथ पंजाब में मेहनत करनी होगी. जबकि कांग्रेस के लिए पंजाब बचाने के साथ-साथ अन्य राज्यों में अपनी मजबूती दिखानी होगी. हालांकि इसके अलावा सपा, बसपा समेत कई अन्य पार्टियां भी चुनावी मैदान में होंगी.

voting

Image Courtesy: Google.com

यूपी चुनाव में बीजेपी को मिली थी 312 सीटें

साल 2017 में इन राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव(UP Assembly Election 20017) की बात करें तो 403 में से बीजेपी को 312 सीटों पर जीत मिली थी. जबकि समाजवादी पार्टी को 47, बहुजन समाज पार्टी को 19 और कांग्रेस मात्र 7 सीटों से संतोष करना पड़ा था. बंपर बहुमत हासिल कर प्रदेश में बीजेपी ने सरकार बनाई थी.

उत्तराखंड में भी बीजेपी को मिली थी बंपर जीत

वहीं उत्तराखंड(Uttarakhand Assembly Election 20017) की बात करें तो 70 में से 56 सीटों पर बीजेपी ने जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस को मात्र 11 सीटों पर जीत हासिल हुई थी. हालांकि वो अलग बात है कि बंपर बहुमत के बावजूद उत्तराखंड के राजनैतिक इतिहास की तरह ही कोई भी सीएम (एक को छोड़कर) पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया. जीत के बाद त्रिवेन्द्र सिंह रावत मुख्यमंत्री बने, उनके बाद तीरथ सिंह रावत और फिर अब पुष्कर सिंह धामी सूबे के मुख्यमंत्री हैं.

पंजाब में कांग्रेस ने हासिल की थी 77 सीटें

इसके अलावा पंजाब(Punjab Assembly Election 20017) की बात करें तो यहां बीते चुनाव में बीजेपी का जादू नहीं चल पाया था. 2014 के मोदी लहर के बावजूद यहां कांग्रेस ने 117 में 77 सीटों पर जीत हासिल की और कैप्टन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री बने. लेकिन कैप्टन ने पांच साल का कार्यकाल पूरा होने से पहले ही इस्तीफा दे दिया और अभी चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब के मुख्यमंत्री हैं. यहां अकाली दल को 15 और बीजेपी को सिर्फ तीन सीटों पर जीत मिली थी. जबकि आम आदमी पार्टी ने 20 सीटों पर जीत हासिल की थी. इस बार आम आदमी पार्टी और बीजेपी दोनों की नजर पंजाब पर है. पहले की तुलना में इस बार हालात अलग हैं, अकाली दल बीजेपी से अलग हो चुकी है तो वहीं कांग्रेस से अलग होकर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नई पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का गठन कर लिया है, जो बीजेपी का साथ देगी.

मणिपुर में बीजेपी बनी थी सबसे बड़ी पार्टी

साथ ही मणिपुर(Manipur Assembly Election 20017) की बात करें तो यहां बीजेपी ने 24 सीटें हासिल की थी, जबकि कांग्रेस को 17 सीटों पर जीत हासिल हुई थी. बड़ी पार्टी होने के नाते बीजेपी ने अन्य दलों एनपीपी और निर्दलीय विधायकों की मदद से सरकार बनाई. फिलहाल एन बीरेन सिंह मणिपुर के मुख्यमंत्री हैं.

ये भी पढ़ें: Assembly Elections 2022: 5 राज्यों की चुनावी तारीखों का ऐलान, जानें इस बार चुनावों में क्या होगा नया

गोवा में बड़ी पार्टी होने के बावजूद कांग्रेस नहीं बना सकी थी सरकार

वहीं 40 विधानसभा सीटों वाले गोवा(Goa Assembly Election 20017) में कांग्रेस ने 15 सीटें जीती जबकि बीजेपी को 13 सीटों पर जीत हासिल हुईं. हालांकि बड़ी पार्टी होने के बावजूद कांग्रेस सरकार नहीं बना सकी और बीजेपी ने अन्य दलों की मदद से सरकार बनाई, मनोहर पर्रिकर को गोवा का मुख्यमंत्री बनाया गया, लेकिन कार्यकाल पूरा होने से पहले ही उनका निधन हो गया और फिलहाल प्रमोद सावंत गोवा के मुख्यमंत्री हैं.  

No comments

leave a comment