Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / May 18.
Homeडिफेंसअब गुजरात समेत देश के इन 8 राज्यों में भी हाईवे बनेगा ‘रनवे’, विकसित होगी इमजरेंसी लैंडिंग की सुविधा

अब गुजरात समेत देश के इन 8 राज्यों में भी हाईवे बनेगा ‘रनवे’, विकसित होगी इमजरेंसी लैंडिंग की सुविधा

Emergency Landing Facilities
Share Now

राजस्थान के बाड़मेर जिले में जब वायुसेना का विमान नेशनल हाईवे पर उतरा तो वो तस्वीरें देखने लायक थी. देश के इतिहास में पहली बार वायुसेना के विमान के इमरजेंसी लैंडिंग के लिए नेशनल हाईवे का इस्तेमाल किया गया. विमान में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी सवार थे. विमान से उतरने के बाद जहां रक्षामंत्री ने कहा कि ये हम सबके के लिए खास दिन है, तो वहीं नितिन गडकरी ने कहा कि ये हाईवे रनवे देश की सुरक्षा को और मजबूत करेगा.

इस मौके पर केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ये भी बताया कि देश के किन-किन राज्यों में और कहां-कहां इसी तरह इमरजेंसी लैंडिंग की सुविधा (Emergency Landing Facilities) विकसित की जाएगी.  

राजस्थान में दो अन्य जगहों पर और होगी इमरजेंसी लैंडिंग

बाड़मेर जिले में स्थित गंधव-बाखासर खंड में एनएच-925A के अलावा फलोदी-जैसलमेर सड़क और बाड़मेर-जैसलमेर सड़क पर विमानों के इमरजेंसी लैंडिंग की सुविधा (Emergency Landing Facilities) उपलब्ध होगी. इसके अलावा पश्चिम बंगाल में खड़गपुर-बालासोर सड़क, खड़गपुर-क्योंझर सड़क और पानागढ़ केकेडी के पास भी आपातकालीन लैंडिंग होगी.

ये भी पढ़ें: …जब नेशनल हाईवे पर उतरा वायुसेना का विमान C-130J, इमरजेंसी लैंडिंग सुविधा का उद्घाटन

हरियाणा-पंजाब और गुजरात में भी हो सकेगी आपातकालीन लैंडिंग

वहीं गुजरात के भुज-नलिया सड़क और सूरत-ब़ड़ौदा सड़क पर आपातकालीन लैंडिंग हो सकेगी. इसके अलावा पंजाब मे संगरूर के पास और हरियाणा में मंडी डबवाली से ओधन सड़क पर विमान की इमरजेंसी लैंडिंग होगी. वहीं दक्षिण भारत की बात करे तों आंध्र प्रदेश के नेल्लोर-ओंगोल सड़क और ओंगोल-चिलककालुरिपेट, तमिलनाडु में चेन्नई-पुडुडेचरी सड़क पर आपातकालीन लैंडिंग सुविधा (Emergency Landing Facilities) होगी.

Nitin Gadkari And Rajnath Singh

Image Courtesy: Google.com

असम में भी होगी आपातकालीन लैंडिंग की सुविधा  

इसके अलावा असम में पांच जगहों पर जैसे- हाशिमपुरा-तेजपुर मार्ग, हाशिमारा-गुवाहाटी सड़क, बागडोगरा-हाशिमारा सड़क, शिवसागर के नजदीक और जोरहाट-बाराघाट पर ये सुविधा होगी. इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के बनिहाल-श्रीनगर सड़क के साथ-साथ लेह/न्योमा क्षेत्र में भी आपातकालीन लैंडिंग की सुविधा विकसित की जाएगी. केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में तेज गति से नेशनल हाईवे के निर्माण का कार्य किया जा रहा है. राष्ट्रीय राजमार्ग सिर्फ वाहनों के लिए ही नहीं बल्कि विमानों के लिए भी होंगे और सेना के काम आएंगे.

इमरजेंसी लैंडिंग फील्ड से जुड़ी खास बातें

  • NHAI ने राष्ट्रीय राजमार्ग-925A पर सत्ता-गांधव के 41/430 किमी से 44/430 किमी के तीन किलोमीटर लंबे हिस्से को भारतीय वायु सेना के लिये एमरजेंसी लैंडिंग फील्ड (Emergency Landing Field) के रूप में तैयार किया है.
  • लैंडिंग सुविधा, अभी हाल में विकसित खंड़जे से बने ऊंचे किनारे वाले (फुटपाथ के रूप में) दो लेन के गगरिया-भाखासर तथा सत्ता-गांधव सेक्शन का हिस्सा है.
  • इसकी कुल लंबाई 196.97 किमी है और इसकी लागत 765.52 करोड़ रुपये है.
  • इसे भारतमाला परियोजना के तहत निर्मित किया गया है.
  • इस परियोजना से बाड़मेर और जालौर जिले के सीमावर्ती गांवों के बीच संपर्क में सुधार होगा.
  • यह हिस्सा पश्चिमी सीमावर्ती क्षेत्र में स्थित है और इससे भारतीय सेना की सतर्कता बढ़ेगी.

बता दें कि इमरजेंसी लैंडिग फील्ड भारतमाला परियोजना के तहत तैयार किया जा रहा है. जो नेशनल हाईवे के विकास की एक परियोजना है. इसके तहत अधूरे पड़े परियोजनाओं को भी पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment