Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / May 17.
Homeन्यूजराजस्थान: भाजपा को लगा झटका, पूर्व विधायक ने थामा BTP का दामन

राजस्थान: भाजपा को लगा झटका, पूर्व विधायक ने थामा BTP का दामन

Ex MLA Devendra Katara
Share Now

Ex MLA Devendra Katara: राजस्थान की राजनीति इन दिनों काफी गरमाई हुई है। जहां एक तरफ सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस दो गुटों में बंटी हुई है वहीं दूसरी तरफ भाजपा में भी ​अंदरूनी कलह की बात सामने आ रही है। इसी बीच प्रदेश भाजपा को बड़ा झटका लगा है। ये खबर है डूंगरपुर जिले से। भाजपा के पूर्व विधायक देवेंद्र कटारा (Ex MLA Devendra Katara) डूंगरपुर ने बीटीपी (BTP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश भाई वसावा से मुलाकात कर भारतीय ट्राइबल पार्टी की सदस्यता ग्रहण करते हुए बीटीपी का दामन थाम लिया है।

Ex MLA Devendra Katara

राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश भाई वसावा से की मुलाकात:

जानकारी के अनुसार, डूंगरपुर के पूर्व विधायक देवेंद्र कटारा (Devendra Katara) ने भारतीय ट्राइबल पार्टी (Bhartiya Tribal Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश भाई वसावा से मुलाकात कर राजस्थान के आदिवासियों की समस्याओं पर चर्चा करते हुए भारतीय ट्राइबल पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इसके साथ ही भारतीय ट्राइबल पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बीटीपी का परचम राजस्थान में लहराने की बात कही है।

Ex MLA Devendra Katara

देवेंद्र कटारा को राजस्थान प्रदेश प्रवक्ता का सौंपा दायित्व:

बीटीपी का दामन थामते ही उन्हें पार्टी में नई जिम्मेदारी भी सौंप दी गई है। पार्टी में शामिल होने के अवसर पर वसावा ने देवेंद्र कटारा को राजस्थान प्रदेश प्रवक्ता का दायित्व भी सौंप दिया। साथ नियुक्ति पत्र देते हुए पार्टी के हित में कार्य करने के लिए विचार-विमर्श किया।

यहां पढ़ें: Shimla Samjhota: जब भारत और पाकिस्तान ने मिलाया था एक-दूसरे से हाथ

BJP से बागी होकर निर्दलीय लड़ा था पिछला चुनाव:

गौरतलब है कि भाजपा ने पिछले विधानसभा चुनाव में पूर्व विधायक देवेंद्र कटारा का टिकट काट दिया था। उसके बाद से पूर्व विधायक देवेंद्र कटारा ने बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए थे। वहीं, पार्टी से बगावत करने के चलते भाजपा ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था। हालांकि पूर्व विधायक कटारा राजनीति में दूर नहीं रह पाए और उन्होंने बीटीपी का दामन थाम लिया है।

यहां पढ़ें: क्यूँ भारत-चाइना बॉर्डर पर 50,000 भारतीय ट्रूप्स भेजने की ज़रूरत पड़ी?

कांग्रेस में कलह अभी भी जारी:

पिछले साल राजस्‍थान के सीएम अशोक गहलोत के खिलाफ बगावत का झंडा बुलंद करने वाले सचिन पायलट से किए गए वादों को कांग्रेस हाईकमान ने अब तक पूरा नहीं किया है। पायलट ने कहा है कि 10 महीने बीत जाने के बाद भी पार्टी के लिए खून पसीना बहाने वाले कार्यकर्ताओं को उनका हक नहीं मिल रहा है। राजस्थान में पिछले साल सचिन पायलट खेमे की बगावत के बाद बनी कांग्रेस की तीन सदस्यीय सुलह कमेटी की अब तक रिपोर्ट नहीं आने पर कांग्रेस में एक बार फिर विरोध के सुर उठने शुरू हो गए हैं। पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट ने उनसे किए गए वादे पूरे नहीं होने पर नाराजगी जताई है।

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें OTT INDIA App पर…. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment