Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
Homeनेचर एंड वाइल्ड लाइफक्या इतिहास लिखेगा पन्ना का बाघ!

क्या इतिहास लिखेगा पन्ना का बाघ!

Share Now

जंगल की दुनिया निराली है, प्रकृति सरल है लेकिन प्रकृति को कोई भी कभी नहीं समझ सकता. ऐसा ही कुछ घटित हुआ है पन्ना टाइगर रिजर्व में. मध्य प्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व में से एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें एक नर बाघ चार शावकों को संभाल रहा है. वन्यजीव और बाघ को न जानने वालों के लिए कुछ खास नहीं लेकिन यह घटना जरा भी सामान्य नहीं है.

पन्ना टाइगर रिजर्व में जो बाघ पी-243 कर रहा है वो बाघ के वर्तन से बिल्कुल विपरीत है. इस बाघ को देखकर वन अधिकारी और वन्यजीव निष्णांत आश्चर्यचकित हो गये है आमतौर पर देखा जाता है की बाघ पिता कभी अपने बच्चों की जिम्मेदारी लेता नहीं  लेकिन पन्ना का यह बाघ अलग इतिहास लिख रहा है.

Image Credit- PTR TEAM

पुरी घटना क्या है जाने

बाघिन पी-213 (32) अपने 4 बच्चों को पाल रही थी लेकिन 15 मई को बाघिन पी-213 (32) की असमय मौत हो गई. जिसके बाद बाघिन पी-213 (32) के 4 बच्चें अनाथ हो चुके थे. जो यह बच्चों के लिए किसी वज्रपात से कम नहीं था. नन्हे शावकों के भविष्य को लेकर वन अधिकारी चिंतित थे. 

शावकों की सुरक्षा, संरक्षण और उनके भविष्य को लेकर पार्क मैनेजमेंट असमंजस में था. पार्क मैनेजमेंट के पास दो ही विकल्प थे. पहला विकल्प था की नन्हे शावकों का रेस्क्यू कर किसी सुरक्षित जगह में रखकर उनका पालन-पोषण किया जाए. यह बच्चों के लिए एक सजा जैसा था क्योंकि शावकों प्राकृतिक जीवन से वंचित रह जाते. दूसरा उपाय था शावकों को जंगल में रहने दिया जाए. संघर्ष और चुनौतियों का सामना यह नन्हे शावक को ही करना था. जो इस नन्हे शावकों के लिए बेहद खतरनाक था लेकिन कहते है ना NATURE FINDS ITS WAY.

पन्ना के जंगलों में कुछ एसा ही हुआ. फिर कुछ ऐसा हुआ की वन-अधिकारियों और वन्यजीव एक्सपर्ट्स की चिंता तुरंत दूर हो गई. वन-अधिकारियों ने देखा! इन चार नन्हे शावकों का पिता बाघ पी-243 उनकी देखभाल कर रहा था. जैसा पहले कभी नहीं देखा गया था. बाघ के वर्तन और आचरण से विपरीत यह घटना थी. जो पहले कभी नहीं देखी गई थी.

आमतौर पर कहीं पर भी सुनने और देखने को नहीं मिला लेकिन पन्ना में यह साकार हुआ और इसका वीडियो भी वायरल हुआ. बताया जाता है की रणथंभौर में भी ऐसी घटना हुई थी लेकिन इसका कोई वीडियो वायरल नहीं हुआ था. नर बाघ के बर्ताव को देखकर पार्क प्रबंधन ने शावकों को रेस्क्यू न करने का साहसिक फैसला लिया है. नर बाघ पी-243 को रेडियो कॉलर लगाया गया है जिससे बाघ की किसी भी गतिविधि पर नजर रखी जा सके.

कैसे लिया यह साहसिक फैसला

पन्ना के संचालकों ने निरीक्षण किया की नर बाघ शावकों वाला एरिया छोड़कर कहीं भी नहीं गया. और सबसे हैरत वाली बात थी की शावक नर के पीछे पीछे सहज रूप से धूम और टहल रहे है. नर बाघ पी-243 शावकों की न सिर्फ देखरेख रख रहा है बल्कि बच्चों के लिए खाने का भी प्रबंध कर रहा है.नर के इस अनोखे बर्ताव को देखकर संचालकों ने शावकों को नर बाघ की देखरेख में छोड दिया.

यहाँ भी पढ़ें:जानिए कौनसी बिल्ली है आधुनिक सेबर टूथ कैट ?

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4  

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment