Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / July 3.
Homeन्यूजकोरोना से भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है Flurona, जानिए क्या हैं लक्षण और बचाव के उपाय

कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है Flurona, जानिए क्या हैं लक्षण और बचाव के उपाय

flurona virus
Share Now

Flurona Virus: इजरायल(Israel) जहां कोरोना से बचाव के लिए डबल बूस्टर डोज(Booster Dose) देने की प्रक्रिया चल रही है, उस देश में अब एक नई बीमारी सामने आई है. ये एक ऐसी बीमारी है जो दो अलग-अलग गंभीर बीमारियों को मिलकर बनी है. इस नई बीमारी का नाम है Flurona, जिसे लेकर इजरायल के स्वास्थ्य विभाग के एक्सपर्ट स्टडी करने में जुटे हैं.

शुरुआती तौर पर जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक ये समझिए कि यह कोरोना(Corona) और फ्लू (Flue) के मिलने से बना है. इसिलिए फ्लू और कोरोना को मिलाकर इसका नाम फ्लूरोना रखा गया है. इजरायल की मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एक महिला में इन दोनों बीमारियों के संक्रमण का पहला मामला दर्ज किया गया. गर्भवती महिला के शरीर में इंफ्लूएंजा(Influenza) और कोरोना(Corona) दोनों के वायरस मिलने की पुष्टि हुई है, जो दुनिया में पहला ऐसा मामला है.

Coronavirus Updates India

Coronavirus Updates India

कोरोना का नया वैरिएंट नहीं फ्लूरोना

अगर अब भी आप ये सोच रहे हैं कि ये कहीं ओमिक्रॉन की तरह कोरोना का नया वैरिएंट(New Variant) तो नहीं है. तो इस बात को दिमाग से निकाल दीजिए कि क्योंकि वैरिएंट का मतलब एक ही बीमारी के वायरस के रूप बदलने से है, जबकि यहां दो अलग-अलग बीमारियों के वायरस शरीर में एक साथ प्रवेश कर नई बीमारियों को जन्म दे रहे हैं. हालांकि अभी ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि ये कितना घातक है, लेकिन इतना मानकर चलिए जब कोरोना(Corona) ने इतनी भीषण तबाही मचाई तो फिर फ्लू के साथ मिलकर यह ज्यादा तबाही मचा सकता है, इसलिए सावधान रहने की जरूरत है.

अब तक सिर्फ नए वैरिएंट आ रहे थे सामने

बता दें कि फ्लूरोना(Florona) भी कोरोना की तरह ही छूने या संपर्क में आने से फैलता है. इसकी जांच के लिए फ्लू और कोरोना की जांच अलग-अलग की जाती है, ताकि ये पता चल सके कि मरीज के शरीर में दोनों वायरस हैं या एक ही है. ऐसे में इससे बचाव के लिए पूरी तरह से कोविड प्रोटोकॉल(Covid Protocol) का पालन करना जरूरी है. भारत समेत पूरी दुनिया में चूंकि कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़ने लगे हैं तो इससे खतरा ज्यादा हो सकता है.

Coronvairus Third Wave

Coronvairus Third Wave

ये भी पढ़ें: वियाग्रा से बची कोरोना पॉजिटिव महिला की जान, जानिए Viagra कैसे बनी जड़ी बूटी!

फ्लूरोना कितना घातक है

इसके अलावा जानने वाली बात ये है कि फ्लूरोना(Flurona) ज्यादा घातक हो सकता है. क्योंकि इसकी वजह से सांस लेने में तकलीफ और हार्ट अटैक आने की आशंका है. ऐसे में कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट और दूसरी लहर की तरह इस बीमारी के फैलने की आशंका जताई जा रही है, हालांकि समय रहते इस नई बीमारी पर काबू पाना बेहद आवश्यक है. इसलिए नई बीमारियों के इस दौर में खुद को सुरक्षित रखें.

ऐसी ही अपडेट्स  के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

No comments

leave a comment