Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / December 6.
Homeन्यूजमहाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख गिरफ्तार, जानें क्या है 100 करोड़ की वसूली का मामला

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख गिरफ्तार, जानें क्या है 100 करोड़ की वसूली का मामला

Anil Deshmukh Arrested
Share Now

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh Arrested) को सोमवार देर रात ईडी ने गिरफ्तार कर लिया. ईडी की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक अनिल देशमुख को जबरन वसूली और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में गिरफ्तार किया गया है. ईडी के अधिकारी उन्हें कोर्ट में पेश करने की तैयारी में हैं.

जांच में पूरा सहयोग का वादा

उससे पहले 1 नवंबर को अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ईडी कार्यालय पहुंचे थे. वहां पहुंचने से पहले अनिल देशमुख ने वीडियो मैसेज जारी कर कहा था कि मेरे संवैधानिक अधिकार के मुताबिक माननीय उच्च न्यायालय ने मुझे विशेष न्यायालय में जाने की स्वतंत्रता दी है, लेकिन मैं फिर भी आज ईडी (ED Office) के कार्यालय जाऊंगा और जांच में पूरा सहयोग करूंगा.

वीडियो मैसेज किया जारी

अनिल देशमुख ने वीडियो मैसेज में कहा कि केन्द्रीय एजेंसी ईडी की ओर से जो मुझे समन भेजे गए थे उस बारे में ये गलत जानकारी सामने आई थी कि मैं ईडी का सहयोग नहीं कर रहा, लेकिन सच ये है कि मैंने हमेशा सहयोग किया. सुप्रीम कोर्ट में हमारे मामले की सुनवाई चल रही है. ईडी के अधिकारियों ने जब मेरे घर में छापेमारी की तो सभी ने पूरा सहयोग दिया, पूरा दिन मैं उस दिन घर में रहा और उन्हें जो पेपर चाहिए था दिया.

खुद ईडी ऑफिस पहुंचे अनिल देशमुख

उन्होंने आगे कहा कि सीबीआई दफ्तर में भी मैं जो दो बार जाकर आया, आज भी मेरा केस सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग है, उसके फैसले आने में वक्त लगेगा, इसलिए मैं खुद आज ईडी ऑफिस पहुंचा हूं, मेरे ऊपर मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने जो आरोप लगाए थे, वह परमबीर सिंह आज कहां हैं.

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक बोले- एनसीबी की क्रूज वाली रेड फर्जी थी, पढ़ें क्या-क्या लगाए आरोप

परमबीर सिंह ने लगाए थे ये आरोप

बता दें कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने मार्च 2021 में अनिल देशमुख पर 100 करोड़ रुपये की वसूली के आरोप लगाए थे. जिसके बाद अनिल देशमुख को गृहमंत्री के पद से इस्तीफा देना पड़ा. उसके बाद मामले की जांच केन्द्रीय एजेंसियों ने शुरू की. जानकारी के मुताबिक ईडी की ओर से अनिल देशमुख को पांच बार समन भेजे गए लेकिन वह पेश नहीं हुए, बल्कि समन के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की, जहां उनकी याचिका खारिज हो गई. उसके बाद 1 नवंबर को खुद अनिल देशमुख (Anil Deshmukh Arrested) प्रवर्तन निदेशालय के ऑफिस में हाजिर हुए.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment