Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Friday / September 30.
Homeन्यूजगौतम गंभीर फाउंडेशन करता था फैबिफ्लू की जमाखोरी

गौतम गंभीर फाउंडेशन करता था फैबिफ्लू की जमाखोरी

Share Now

दिल्ली सरकार के ड्रग कंट्रोलर ने गुरुवार को दिल्ली हाई कोर्ट से कहा कि ‘गौतम गंभीर फाउंडेशन’ COVID-19 मरीजों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा फैबिफ्लू की ‘अनधिकृत जमाखोरी, खरीद और वितरण’ का दोषी पाया गया है।  ड्रग कंट्रोलर ने कहा है कि दवा डीलरों के खिलाफ बिना किसी देरी के कार्रवाई की जाए। इस मामले की अगली सुनवाई 29 जुलाई को होगी. ड्रग कंट्रोलर ने हाईकोर्ट ( HIGHCOURT ) को बताया कि आप विधायक प्रवीण कुमार को भी ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट के तहत इसी तरह के अपराधों के लिए दोषी पाया गया है। 

यहाँ पढे : ये ‘लॉन्ग कोविड’ क्या है ?

गौतम गंभीर फाउंडेशन को फैबिफ्लू की जमाखोरी का दोषी

गौतम गंभीर फाउंडेशन : google image

दिल्ली हाईकोर्ट ( HIGH COURT )  ने नामी हस्तियों और नेताओं द्वारा कोरोना की दवाओं की जमाखोरी को लेकर डाली गई याचिका पर सुनवाई करते हुए गौतम गंभीर फाउंडेशन ( GAUTAM GAMBHIR FOUNDATION ) को फैबिफ्लू की जमाखोरी का दोषी पाया है।  गुरुवार को सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार के ड्रग्स कंट्रोलर ने हाईकोर्ट को बताया कि गौतम गंभीर फाउंडेशन कोविड-19 मरीजों के उपचार में उपयोगी दवाई फैबिफ्लू की अनधिकृत तरीके से जमाखोरी करने, खरीदने और उसका वितरण करने का दोषी पाया गया है। ड्रग्स कंट्रोलर ने अदालत में कहा कि फाउंडेशन और दवा डीलरों के खिलाफ बिना किसी देरी के कार्रवाई की जाए। अदालत को बताया कि विधायक प्रवीन कुमार को भी ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स कानून के तहत ऐसे ही अपराधों में दोषी पाया गया है। अदालत ने औषधि नियंत्रक से छह सप्ताह के भीतर इन मामलों की स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया और इसकी अगली सुनवाई 29 जुलाई निर्धारित कर दी है।

जरूरत के वक्त लोगों नहीं मिलती दावा – हाई कोर्ट

गौतम गंभीर फाउंडेशन : google image

हाई कोर्ट ने कहा कि हमने देखा है कि गंभीर ने इन दवाओं को खरीदने के लिए काफी पैसा खर्च किया, लेकिन आपके अनधिकृत रूप से इतनी बड़ी मात्रा में जमा करने से दूसरों को उस वक्त यह दवा नहीं मिल सकी। आप चैरिटी भी कर रहे हैं तो भी इस तरीके को प्रोत्साहन नहीं मिल रहा था। इस पूरे मामले में भाजपा सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने आज ट्वीट कर अपना रुख साफ किया। गंभीर ने सरदार भगत सिंह के वाक्य से अपने काम को जस्टिफाइ करने की परोक्ष कोशिश की। भाजपा सांसद ने भगत के सिंह के उस बयान का जिक्र किया जिसमें उन्होंने कहा था कि मैं एक आदमी हूं और जो कुछ भी मानव जाति को प्रभावित करता है वह मुझे चिंतित करता है। पिछली सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने भाजपा सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर को क्लीन चिट दिए जाने पर नाराजगी जताई है। हाई कोर्ट ने गंभीर उस बयान पर सवाल उठाया जिसमें उन्होंने कहा था कि वह ऐसा फिर करेंगे। हाई कोर्ट ने ड्रग कंट्रोलर को तलब किया था।

अक्षय कुमार ने भी फाउंडेशन को दी थी बड़ी रकम

कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने देशभर में कोहराम मचा दिया। इसी बीच लोगों की मदद करने के लिए एक्टर अक्षय कुमार आगे आए थे।  उन्होंने क्रिकेटर से पॉलिटिशियन बने गौतम गंभीर के फाउंडेशन में 1 करोड़ रुपए का दान किया था। इस बात की जानकारी गौतम ने सोशल मीडिया पर दी थी। गौतम गंभीर फाउंडेशन कोरोना मरीजों एवं कोरोना से किसी भी तकलीफ का सामना कर रहे लोगों की मदद करता है।

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App
Android: http://bit.ly/3ajxBk4
iOS: http://apple.co/2ZeQjT

No comments

leave a comment