Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 1.
Homeन्यूजवैश्विक भूख सूचकांक 2021 में बांग्लादेश, नेपाल से भी पीछे रहा भारत

वैश्विक भूख सूचकांक 2021 में बांग्लादेश, नेपाल से भी पीछे रहा भारत

Global Hunger Index 2021
Share Now

Global Hunger Index 2021: कोरोना ने वैसे तो पूरी दुनिया में कहर मचाया है। लेकिन भारत में इसका काफी असर देखने को मिला है। कोरोना के चलते लाखों लोगों ने अपनी जान गंवाई है। इसके साथ लोगों के व्यापार पर भी इसका बुरा असर पड़ा। देश में इस दौरान लोगों की नौकरियां चली गई।

अब देश में अर्थव्यवस्था एक बार फिर पटरी पर लौट रही है। लेकिन ग्लोबल हंगर इंडेक्स (Global Hunger Index 2021) में भारत को बड़ा नुकसान देखने को मिला है। भारत वैश्विक भूख सूचकांक 2021 में फिसलकर 101वें स्थान पर आ गया है। जो पिछले वर्ष 2020 में 94वें स्थान पर था। इस रिपोर्ट में भारत में भूख के स्तर को चिंताजनक बताया गया है।

रिपोर्ट में भारत में भूख के स्तर को बताया गया चिंताजनक:

बता दें हर साल विश्वभर में वैश्विक भूख सूचकांक जारी होता है। इस साल 116 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक में शामिल किया गया है। इसमें भारत 101वें स्थान पर पहुंच गया है, जबकि साल 2020 में देश 94वें स्थान पर था। इसमें सबसे गौर करने वाली बात है कि भारत के अन्य पड़ोसी देश पाकिस्तान, नेपाल बांग्लादेश की स्थिति भारत से बेहतर बताई गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में लोग कोविड-19 और इसके चलते लगाई गई पाबंदियों से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने कही ये बात:

इस रैकिंग के बाद विपक्ष ने जहां एक तरफ मोदी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है तो वहीं दूसरी ओर महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने इसे अवैज्ञानिक पद्धति बताया है। वैश्विक भूख सूचकांक जारी करने के बाद भारत सरकार की ओर से कहा गया कि यह स्तब्ध कर देने वाला है कि वैश्विक भुखमरी सूचकांक में भारत की रैंक और घटी है। सरकार ने रैंकिंग के लिए इस्तेमाल की गईं पद्धति को अवैज्ञानिक बताया है।

कंसर्न वर्ल्ड वाइड और वेल्ट हंगर हाईलाइफ़ ने तैयार की रिपोर्ट:

बता दें इस रिपोर्ट को कंसर्न वर्ल्ड वाइड और वेल्ट हंगर हाईलाइफ़ ने मिलकर तैयार की है। वैश्विक भूख सूचकांक 2021 में नेपाल 76वें, बांग्लादेश 76वें, म्यांमार 71वें और पाकिस्तान 92वें स्थान पर है। जबकि भारत को 101वें स्थान पर रखा गया है। वैश्विक भूख सूचकांक स्कोर चार पैमानों से निर्धारित होता है। इनमें कुपोषण, बच्चों की मृत्यु दर, बच्चों की वेस्टिंग दर आदि पैमाने लिए जाते हैं।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी ने सूरत में किया 200 करोड़ रुपये के हॉस्टल का उद्घाटन, संबोधन में कही ये बातें

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment