Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / August 16.
Homeन्यूजGodhra Kand: गोधरा कांड के मास्टरमाइंड हाजी बिलाल की जेल में मौत

Godhra Kand: गोधरा कांड के मास्टरमाइंड हाजी बिलाल की जेल में मौत

Godhra Kand
Share Now

Godhra Kand: गुजरात में हुए गोधरा कांड का मास्टरमाइंड हाजी बिलाल की जेल में ही मृत्यु हो गई, बिलाल कई दिनों से बीमार था उसे अस्पताल में भर्ती किया गया था लेकिन खबरों के अनुसार उसकी मौत हो गई है। इस कांड में शामिल आरोपीयों को गुजरात हाई कोर्ट ने फांसी की सजा और कुछ कैदियों को उम्र कैद की सजा सुनाई गई थी। जिसमें से वर्ष 2011 में एसआईटी (Special Investigation Team) कोर्ट ने 11 आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई, 20 कैदियों को उम्र कैद की सजा सुनाई थी।

 

godhra kand

Godhra kand 2011, Gujarat, google image

गोधरा कांड में 1200 से अधिक लोगों ने गंवाई थी जान: 

गुजरात में 27 फरवरी 2002 के दिन दिल दहलाने वाली खबर सामने आई थी, जिसमें गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन के एस-6 डिब्बे में आग लगाई गई थी। आगे के कारण 59 लोगों की जलकर मौत हो गई थी। ट्रेन में आग मुस्लिम उपद्रवियों ने मिलकर लगाई थी। जिसके बाद गुजरात में हिन्दू-मुस्लिम की जंग एक बार फिर से छिड़ गई। दंगे में 12000 से अधिक लोगों ने अपनी जाने गंवाई थी। दंगे के मुखिया हाजी बिलाल इस्माइल और अब्दुल मजीद रमजानी थे। इन दोनों में से एक को उम्र कैद की सजा सुनाई गई और एक आरोपी को फांसी की सजा सुनाई गई। 

यहां पढ़ें: 26/11 Mumbai terror Attack: मुंबई आतंकी हमले के 13 साल, जब गोलियों की तड़तड़ाहट से थर्रा उठी थी मुंबई

godhara-incident

godhara incident, google image 

गुजरात उच्च न्यायालय ने हाजी बिलाल समेत 11 दोषियों की मौत की सजा को आजीवन कारावास में बदल दिया था। उम्र कैद की सजा में बिलाल को वडोदरा सेंट्रल जेल में रखा गया था। बिलाल कई सालों से बीमार था। 22 नवंबर को उसक हालत ज्यादा खराब हो गई थी उसे वडोदरा केअस्पताल में भर्ती करवाया गया। गुरुवार रात को उसकी मौत हो गई। पुलिस कानूनी कार्रवाई कर रही है उसका शव पोस्टमार्टम के बाद उसके परिवार को सौंप दिया जाएगा।

SPECIAL INVESTIGATION TEAM

SPECIAL INVESTIGATION TEAM

सआईटी (Special Investigation Team)

एसआईटी यानी Special Investigation Team का गठन सुप्रीम कोर्ट, राज्य या केंद्र सरकार कर सकती हैं। जिसमें स्पेशल टीम में अवकाश प्राप्त न्यायाधीश और विशेषज्ञ शामिल होते हैं। यह टीम इसलिए स्पेशल है क्यूंकी किसी भी दबाव में आए बगैर हाई प्रोफाइल मामलों या लोगों के खिलाफ जांच का काम कर सकती है। पिछले कुछ सालों में सुप्रीम कोर्ट ने और राज्य सरकारों ने कई मामलों में एसआईटी का गठन किया है। गुजरात के गोधरा कांड में भी राज्य सरकार द्वारा एसआईटी का गठन किया गया था।  

 

 

देखें यह वीडियो: Farm Laws Repealed 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

No comments

leave a comment