Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / December 6.
Homeन्यूजक्या है अन्नकूट, जानिए क्यों है गोवर्धन पूजा के दिन इसका खास महत्तव

क्या है अन्नकूट, जानिए क्यों है गोवर्धन पूजा के दिन इसका खास महत्तव

What is Annakut, know why it has special significance on the day of Govardhan Pooja
Share Now

Govardhan Pooja: दीवाली का त्योहार हर साल कई खुशियों को साथ लेकर आता है. भले ही पिछले दो सालों में दीवाली पर इतनी रौनक देखने को नहीं मिली हो लेकिन वक्त के साथ साथ सब अपने रंग में वापिस लौट रहा है.

दीवाली के अगले दिन की जाती है गोवर्धन पूजा. गोवर्धन पूजा की परंपरा सादियों पुरानी है. इश बार गोवर्धन पूजा 6 नवंबर को यानी शुक्रवार के दिन मनाई जा रही है. लेकिन क्या आपको पता है इस दिन को अन्नकूट, पड़वा और प्रतिपदा भी कहा जाता है.

इस दिन लोग घरों के आंगन, छत या बालकनी में गोबर से बनाए हुए उपलो को लगाते हैं. साथ ही उनको अन्नकूट का भोग भी लगाया जाता है. इस दिन भगवान श्री कृष्ण की पूजा की जाती है और गोवर्धन (Govardhan Pooja) इस दिन अन्नकूट बनाने और भगवान को इसका भोग लगाने के लिए इस दिन हमेशा से ही खास महत्तव रहा है. तो आइये जानते हैं कि ये अन्नकूट क्या है और गोवर्धन पूजा के दिन इसका इतना खास महत्त्व क्यों होता है.

इसे भी पढ़े: आज लाखों की दीयों की रोशनी से जगमग होगी भगवान राम की नगरी अयोध्या, बनेगा वर्ल्ड रिकॉर्ड

चलिए सबसे पहले यह जान लेते हैं कि दीवाली के एक दिन बाद गोवर्धन पूजा करने की वजह क्या है. मान्यताओं पर अगर ध्यान दें तो भगवान श्री कृष्ण के कहने पर बृजवासियों ने भगवान इंद्र की जगह पर गोवर्धन पर्वत की पूजा की थी. क्योंकि गायों का चारा गोवर्धन पर्वत से मिलता था और गायें बृजवासियों के जीवन बिताने का एक जरिए थी.

गोवर्धन पूजा करने की वजह

लेकिन तब इंद्रदेव ने नाराज होकर मूसलाधार बारिश की थी और भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी छोटी अंगुली पर गोवर्धन पर्वत उठाकर बृजवासियों की मदद की थी और इतना ही नहीं गावंविसयों को पर्वत के नीचे सुरक्षा प्रदान की थी. तब से ही भगवान श्री कृष्ण के गोवर्धन पर्वत उठाये हुए रूप की पूजा की जाती है. जिसके तहत गोवर्धन पर्वत और भगवान श्री कृष्ण दोनों की पूजा होती है.

क्या है अन्नकूट

चलिए अब यह भी जान लेते हैं कि अन्नकूट क्या है. दरअसल अन्नकूट कई तरह के अन्न और सब्जियों को कहा जाता है. इस दिन अपने हिसाब से लोग 21,51 या फिर 101 और 108 सब्जियों को मिलाकर एक तरह की मिक्स सब्जी बनाते हैं. इसके साथ ही तरह तरह के पकवान और मिठाईयों से भी भगवान श्रीकृष्ण को भोग लगाकर पूजा अर्चना करते हैं.

No comments

leave a comment