Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / May 16.
Homeकहानियां73वें गणतंत्र दिवस पर राजपथ की परेड में दिखेंगी 12 राज्य की झांकियों की झलक

73वें गणतंत्र दिवस पर राजपथ की परेड में दिखेंगी 12 राज्य की झांकियों की झलक

Happy republic day
Share Now

गणतंत्र दिवस (Republic Day)

है नमन उन्हें, जो आजादी की बलिवेदी पर निसार हुए

बलिदानों की बदौलत हम स्वतंत्र हुए, गणतंत्र हुए

अब बारी है आजादी के परवानों के सपने साकार करें

दुनियाभर में भारत माता की जय-जयकार करें

हम भारत के लोग का जिक्र आते ही जेहन में अगर संविधान की प्रस्तावना याद आने लगे तो समझिए कि ये हमारे गणतंत्र की सबसे बड़ी निशानी है. आज हमारा हिंदुस्तान 73वां गणतंत्र दिवस मना रहा है, पूरा देश आजादी दिलाने के लिए सर्वस्व न्यौछावर कर देने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को याद कर रहा है दूसरी ओर ये मौका अपने संविधान पर गर्व करने का भी है. इस अवसर पर राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और गुजरात के मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्रभाई पटेल ने देशवासियों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं दी हैं. गणतंत्र होने का मतलब ही जनता के द्वारा, जनता के लिए और जनता का शासन होना है. 

दुनिया के सबसे विशाल लोकतंत्र भारत के पास:

दुनिया के सबसे विशाल लोकतंत्र भारत के पास दुनिया का सबसे विशाल लिखित संविधान भी है, जो यहां के नागरिकों को कई अधिकार देता है तो कई मूल कर्तव्य भी हैं. आज गणतंत्र दिवस के अवसर पर हमें अपने मूल अधिकारों के साथ-साथ मूल कर्तव्यों, संविधान के पालन और देश के प्रति जिम्मेदारी को समझना होगा. 2 साल 11 महीने और 18 दिन में बनकर तैयार हुए संविधान को भारतीय संविधान सभा ने 26 जनवरी 1949 को स्वीकार किया, तभी से ये दिन संविधान दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.  

happy republic day

happy republic day, sand art: twitter

संविधान को स्वीकार किए जाने के ठीक दो महीने बाद 26 जनवरी 1950 को इसे पूरे देश में लागू किया गया. बीते 70 सालों में संविधान में कई संशोधन हुए. प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आज देश जब विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है तो संविधान और लोकतंत्र को मजबूत करने की दिशा में भी सरकार ने कई अहम कार्य किए हैं. मोदी सरकार ने संविधान की ई-प्रदर्शनी से लेकर गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों की अमरगाथा को लोगों तक पहुंचाने का कार्य किया है.  

यहां पढ़ें: National Tourism Day 2022: सिर्फ घुमने का मजा ही नहीं बल्कि अर्थव्यवस्था में भी है पर्यटन का अहम योगदान

आत्मनिर्भर भारत को मजबूत करने की दिशा में मजबूत कदम:

संविधान निर्माण में महात्मा गांधी, बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर, देश के पहले राष्ट्रपति रहे डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, देश के पहले प्रधानमंत्री डॉ. जवाहरलाल नेहरू और पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल के योगदान को नहीं भुलाया जा सकता. गणतंत्र दिवस के इस अवसर पर हमें स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति सम्मान, देश की एकता-अखंडता को अक्षुण बनाए रखने और आत्मनिर्भर भारत को मजबूत करने की दिशा में मजबूत कदम बढ़ाने का संकल्प लेने की जरूरत है.

इस साल देश के 12 राज्यों की झांकियों को ही मौका मिल पाया है. जिनमें अरुणाचल प्रदेश, हरियाणा, छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मेघालय, पंजाब, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड राज्यों को शामिल किया गया है.

वंदे मातरम्… 

देखें यह वीडियो: 26 January Special 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment