Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
Homeन्यूजहिजाब विवाद पर फैसला सुनाने वाले जजों को मिली जान से मारने की धमकी, Y श्रेणी की मिली सुरक्षा

हिजाब विवाद पर फैसला सुनाने वाले जजों को मिली जान से मारने की धमकी, Y श्रेणी की मिली सुरक्षा

hijab
Share Now

हिजाब विवाद पर फैसला सुनाने वाले कर्नाटक हाईकोर्ट ने तीन जजों को जान से मारने की धमकी मिलने की ख़बर सामने आई है. जिसके बाद से पुलिस मामले की जांच में जुटी है, वहीं केन्द्र सरकार की ओर से तीनों जजों को वाई श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश दिए गए हैं. जानकारी के मुताबिक पुलिस ने अब तक इस मामले में दो आरोपियों कोवई रहमतुल्लाह और जमाल मोहम्मद उस्मानी को गिरफ्तार किया है.

अधिवक्ता ने दर्ज कराई शिकायत

कर्नाटक हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल के पास एक अधिवक्ता ने इसकी शिकायत की थी. जिसमें उन्होंने दावा किया था कि व्हाट्सएप पर एक वीडियो मिला. उस वीडियो में आरोपी मुख्य न्यायाधीश रितू राज अवस्थी के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहा था और उन्हें धमकी दे रहा था. आरोपी ने झारखंड में बीते दिनों टहलते वक्त हुई एक जज की हत्या का भी जिक्र किया.

hijab

Image Courtesy: Google.om

वाई श्रेणी की मिली सुरक्षा

उसने ये भी कहा कि जज कहां टहलने जाते हैं, ये भी लोगों को पता है. इस शिकायत पर पुलिस ने तमिलनाडु तौहीद जमात के तीन पदाधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. अब पुलिस इस मामले की गहनता से जांच में जुटी है. वहीं ख़बर ये भी है कि केन्द्र सरकार की ओर से मुख्य न्यायाधीश रितू राज अवस्थी, जस्टिस एम जयबुन्निसा और जस्टिस कृष्णा दीक्षित को वाई श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें: Hijab Row पर कर्नाटक हाईकोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए क्या कहा, ये भी जान लीजिए

हिजाब विवाद पर सुनाया था फैसला

गौरतलब है कि कर्नाटक के उड़ूपी एक कॉलेज से शुरू हुआ हिजाब विवाद का मसला हाईकोर्ट पहुंच गया, जहां तीनों जजों ने छात्राओं की मांग को खारिज करते हुए कहा कि हिजाब इस्लाम में अनिवार्य प्रथा नहीं है. स्टूडेंट्स हिजाब पहनकर क्लास में जाने की मांग कर रहे थे, लेकिन कॉलेज प्रबंधन ने नियमों का हवाला देते हुए उन्हें ऐसा करने से रोक दिया. जिसके बाद विरोध के सुर इतने तेज हो गए थे कि पुलिस प्रशासन ने भी कई जगह सख्ती दिखाई. फैसला आने के बाद छात्राओं ने परीक्षा से ही इनकार कर दिया, वहीं अब मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कह रहा है.   

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment