Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / October 4.
Homeन्यूजHijab Row पर कर्नाटक हाईकोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए क्या कहा, ये भी जान लीजिए

Hijab Row पर कर्नाटक हाईकोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए क्या कहा, ये भी जान लीजिए

hc
Share Now

हिजाब को लेकर चल रहा विवाद अब कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले के बाद लगता है थम जाएगा. क्योंकि कर्नाटक हाईकोर्ट ने वह याचिका ही खारिज कर दी है, जिसमें मांग की गई थी  छात्राओं को स्कूल-कॉलेज में हिजाब पहनने की अनुमति दी जाए. हाईकोर्ट ने इसके साथ कई अहम टिप्पणी भी की है, जिसे जानना बेहद जरूरी है.

हिजाब विवाद पर हाईकोर्ट ने क्या कहा  

कर्नाटक हाईकोर्ट ने कहा कि हिजाब पहनना इस्लाम की अनिवार्य प्रथा का हिस्सा नहीं है, छात्र स्कूल ड्रेस पहनने से इनकार नहीं कर सकते. इसका मतलब ये है कि अगर किसी धर्म में कोई भी चीज जरूरी नहीं है तो उसे हर जगह लागू नहीं किया जा सकता. अगर इस्लाम धर्म में ये अनिवार्य नहीं है तो फिर स्टूडेंट्स का विरोध करना और ये मांग करना कि हमें इसे पहनने की अनुमति दी जाए बिल्कुल भी सही नहीं है.

hijab

Image Courtesy: Google.om

सूबे में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी

हाईकोर्ट के फैसले से पहले इस मामले की सुनवाई करने वाले चीफ जस्टिस रीतु राज अवस्थी, जस्टिस कृष्णा एस दीक्षित और जस्टिस जेएम खाजी के आवास की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी. साथ ही सूबे के कई जिलों में धारा 144 लगा दी गई तो वहीं पूरे राज्य में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. ताकि फैसले के बाद किसी भी तरह की अनहोनी न हो. हिजाब विवाद में अब तक छात्रों का प्रदर्शन कई बार उग्र भी हो चुका है, ऐसे में पुलिस ने एहतियातन ये इंतजाम किए हैं.

ये भी पढ़ें: कर्नाटक के शिक्षा मंत्री हिजाब उतरवाने पर तुले हैं! मसला हाईकोर्ट पहुंच गया लेकिन वो दूसरे ऑप्शन की बात कर रहे हैं

6 छात्राओं को नहीं मिली थी एंट्री

बता दें कि कर्नाटक के उडुपी की छात्राओं ने याचिका दायर कर मांग की थी कि उन्हें क्लास में हिजाब पहनने की अनुमति दी जाए, क्योंकि ये उनकी आस्था का हिस्सा है. इसे लेकर छात्राओं ने विरोध प्रदर्शन भी किया था लेकिन लेज प्रबंधन ने साफ कर दिया था कि हिजाब पहनकर उन्हें कॉलेज में आने की अनुमति नहीं दी जा सकती क्योंकि हर स्कूल का एक ड्रेस कोड है और उसमें हिजाब शामिल नहीं है. उडूपी के एक कॉलेज में 6 छात्राओं को हिजाब में एंट्री न देने पूरे राज्य का मुद्दा बन गया और फिर मसला हाईकोर्ट पहुंच गया.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment