Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / September 29.
Homeबिजनेसउस आईएएस की कहानी जिसने नौकरी छोड़ 14 हजार करोड़ रुपये का कारोबार शुरू किया

उस आईएएस की कहानी जिसने नौकरी छोड़ 14 हजार करोड़ रुपये का कारोबार शुरू किया

roman saini ias officer
Share Now

दुनिया में जितने लोग हैं, उनके लिए जीवन में सफल होना बहुत जरूरी है, जिसके लिए व्यक्ति अथक प्रयास करता रहता है, साथ ही जिन लोगों को अपने क्षेत्र में सफलता प्राप्त होती है, उन सभी की अलग-अलग परिभाषाएं होती हैं.फिर कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो सरकारी नौकरी पाने की, इंजीनियर बनने की इच्छा रखते हैं. महज 16 साल की उम्र में एम्स देश में प्रवेश परीक्षा देने वाला सबसे युवा है. इसके अलावा 18 साल की उम्र में उन्होंने एक प्रतिष्ठित प्रकाशन के लिए एक शोध पत्र भी लिखा. दरअसल यहां हम बात कर राजस्थान के रहने वाले रोमन सैनी की कर रहे हैं.

पूर्व आईएएस रोमन सैनी राजस्थान के रायकरणपुर, कोटपुतली के रहने वाले हैं. जिनकी मां हाउसवाइफ हैं और जिनके पिता इंजीनियर हैं. रोमन सैनी वो शख्सियत हैं जिन्होंने एक बड़ा सपना पूरा करने के लिए कुछ बड़ा दिखाने के लिए आईएएस की नौकरी छोड़ दी. आज से करीब 6 साल पहले उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी और अपनी खुद की कंपनी Unacademy शुरू की.

एमबीबीएस पूरा करने के बाद रोमन सैनी ने एम्स के नेशनल ड्रग डिपेंडेंस ट्रीटमेंट सेंटर (एनडीडीटीसी) में काम किया. यह किसी भी युवक के लिए एक सपने जैसा काम हो सकता है, लेकिन रोमन की इच्छा कुछ अलग थी. आईएएस अधिकारी बनने के लिए रोमन ने इस नौकरी को 6 महीने के भीतर ही छोड़ दिया. सिर्फ 23 साल की उम्र में, रोमन सैनी ने देश की सबसे कठिन परीक्षा यूपीएससी सिविल सेवा पास की. आईएएस बनने के विचार पर रोमन सैनी कहते हैं, ”मैं एमबीबीएस कर रहा था और हरियाणा के दयालपुर गांव में पोस्टिंग कर रहा था. मैंने देखा कि कैसे लोग बुनियादी सुविधाओं से वंचित हैं. तभी मैंने देश की सेवा करने का फैसला किया. रोमन 22 साल की उम्र में सबसे कम उम्र के आईएएस अधिकारियों में से एक थे और उन्हें मध्य प्रदेश में कलेक्टर के रूप में पोस्टिंग दी गई थी. 

ये भी पढ़ें: सोनू सूद की ओर से एक और नई पहल, Travel Union App के ज़रिए मिलेगा…..

6 साल बाद Unacademy 18,000 शिक्षकों के नेटवर्क के साथ भारत में सबसे बड़े शिक्षा प्रौद्योगिकी प्लेटफार्मों में से एक है.

कंपनी की कीमत 2 अरब (करीब 14,830 करोड़ रुपये) है.

एक आईएएस अधिकारी की नौकरी छोड़कर उन्होंने अपने दोस्त गौरव मुंजाल के साथ Unacademy नाम से एक कंपनी की स्थापना की.

फ्री ऑनलाइन कोचिंग से युवाओं को मिलेगी मदद.

Unacademy के इस प्लेटफॉर्म पर 5 करोड़ से अधिक सक्रिय उपयोगकर्ता हैं.   

 

No comments

leave a comment