Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
Homeभक्तिशनि जयंति पर कैसे करे शनि देव को प्रसन्न

शनि जयंति पर कैसे करे शनि देव को प्रसन्न

Share Now

शनिदेव को न्याय का देवता कहा गया है। पौराणिक मान्यता अनुसार मनुष्य के कर्मो के हिसाब से शनिदेव फल देते है। इस साल 10 जून को शनि जयंति है। हर साल जेठ माह की अमावस्या के दिन शनि जयंति मनाइ जाती है। इस दिन शनिदेव की पूजा की जाती है और उनको प्रसन्न करने के प्रयास और उपाय किये जाते है। जिससे भक्तो की मनोकामना पूर्ण होती है और शनिदेव की कृपा प्राप्त होती है।

शनिदेव की पूजा का महत्व

मनुष्य से जान बूज के की अनजाने मे अगर कोई गलती हो जाती है तो उसका संपूर्ण हिसाब शनिदेव के पास होता है। इसलिये शनिदेव की पूजा का सविशेष महत्व है। सही विधि विधान से शनि देव की उपासना की जाये तो व्यक्ति की स्थिति मे सुधार आता है। उसके उपर शनिदेव की कृपा बनी रहेती है। एसा भी माना जाता है की शनि जयंति के दिन शनिदेव की पूजा करने से शनि की खराब द्रष्टि कभी नही पडती और व्यक्ति को सारे दोषो से मुक्ति मील जाती है।

इस साल 10 जून को शनि जयंति मनाइ जायेगी। 9 जून जेठ माह की अमास के दिन दोपहर 1 बज के 57 मिनिट से शुरू होकर 10 जून शाम को 4 बज कर 22 मिनिट को शनि जयंति समाप्त होगी। इसी दिन सूर्य ग्रहण भी होगा। लेकिन सूर्य ग्रहण भारत मे दिखेगा नही और सूतक भी नही लगेगा। इसी दिन वट सावित्री का व्रत भी है। एसा माना जा रहा है की शनि जयंति और सूर्य ग्रहण के से वृषभ और मीन राशि के जातको को फायदा होगा। इस दिन शनिदेव की पूजा कैसे करनी है और कैसे उपाय करने से उनको प्रसन्न किया जा सकता है आइये जानते है।

image: google

शनिदेव को प्रसन्न करने के उपाय

  • हनुमानजी की पूजा उपासना करने से शनि का प्रकोप परेशान नही करता। हनुमानजी को चमेली के तेल मे सिंदूर डालके अर्पण करना चाहिये। हनुमान चालिसा और बजरंग बाण के पाठ करने चाहिये और पंचमुखी हनुमानजी के दर्शन करने चाहिये।
  • शनिदेव के मंदिर जाकर उनके दर्शन और उनका पूजन करना चाहिये। शनिदेव को उडद दाल और तिल का तेल चढा सकते है।
  • वृध्धाश्रम जाकर किसी भी वस्तु का दान कर सकते है। शनिदेव को वृध्धत्व का कारक माना गया है।
  • तपस्वी और साधु-संतो की सेवा करने से शनि प्रसन्न होते है। उनको कंबल बांट सकते है।
  • दिव्यांग व्यक्ति की सेवा करने से भी शनि प्रसन्न रहेते है। उनको दान और जरुरत का सामान देना चाहिये।
  • शिस्त और निति नियमो के आधिन रहे कर काम करने से शनि के प्रकोप का सामना नही करना पडता। और एसे काम करने वाले लोग शनि को प्रिय होते है।
  • ओम शं शनिश्चराय नम: ये छोटे से मंत्र का जाप उन के आसान पर बेठ कर करना चाहिये।
  • घर मे छोटा सा हवन करके उसमे तिल की आहुति देने से शनि की कृपा कर सकते है।
  • पीपल के वृक्ष को पानी देना चाहिये और पीपल के वृक्ष के दर्शन भी करने चाहिये।
  • घर मे अगर शंख है तो संध्या के समय शनि पूजा के बाद धूप-दिप करके शंख बजाना चाहिये।

यहाँ पढ़ें: क्या आप जानते है संकष्टी चतुर्थी का व्रत क्युं और कैसे करना चाहिये

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App
Android: http://bit.ly/3ajxBk4
iOS: http://apple.co/2ZeQjT

No comments

leave a comment