Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / September 29.
HomeडिफेंसLAC tension: क्यूँ भारत-चाइना बॉर्डर पर 50,000 भारतीय ट्रूप्स भेजने की ज़रूरत पड़ी?

LAC tension: क्यूँ भारत-चाइना बॉर्डर पर 50,000 भारतीय ट्रूप्स भेजने की ज़रूरत पड़ी?

India-China LAC - ladakh tension (3)
Share Now

भारत और चाइना के बीच में काफी लंबे समय से सीमा विवाद चल रहा है। कई बार दोनों पक्षों की तरफ से बातचीत के जरिए मुद्दों को सुलझाने की कोशिश भी की गई। लेकिन अभी हालात देखकर लग नहीं रहा है कि बातचीत से मुझे इतनी जल्दी सुलझ आने वाले हैं। क्योंकि समझौता होने के बावजूद कई बार चीन ने भारत-चीन बॉर्डर पर अपने सैनिकों की संख्या बढ़ाना चालू रखा है। जिसकी वजह से यह तनाव और बढ़ने की संभावना दिख रही है। 

यहाँ पढे: जम्‍मू एयरफोर्स स्‍टेशन पर हुए ड्रोन हमलें के पीछे क्या है वजह?

इसी बीच भारत ने अपनी तरफ से तैयारी रखते हुए अब भारत-चाइना बॉर्डर पर 50,000 जितने एडिशनल ट्रूप्स भेज दिये है। ट्रूप्स मतलब सैनिको का एक समूह। अब भारत चाइना बॉर्डर पर भारत के 200000 ट्रूप्स  तैनाती कर रहे हैं। पिछले साल के मुकाबले इन ट्रूप्स की संख्या 40% तक बढ़ा दी गई है। हालांकि अब तक इस बात का पता नहीं चल पाया है की चीन ने भारतीय सीमा के पास कितने सैनिकों को तैनात किया है।

Rajnath sinh with chinese officials

जैसे की भारतीय सेना का हमेशा से स्वभाव रहा है, की हो सके तब तक डिफेंस स्ट्रेटेरजी अपनाई जाए। लेकिन रिपोर्ट्स के अनुसार जिस तरह से अब चीन की तरफ से सैन्य बल बढ़ाया जा रहा है, उसको ध्यान मे रखते हुए भारत न सिर्फ डिफेंस के लिए रेडी हो रहा है बल्कि ज़रूरत पड़ने पर “आक्रामक रक्षा” के रूप में जानी जाने वाली रणनीति भी अपना सकता है। जिसमे आवश्यक होने पर चीन में हमला करने और क्षेत्र को जब्त करने के जैसे और विकल्प भी अपनाने की संभावना है।

देखे वीडियो: पश्चिमी वायु कमान को सर्वोच्च स्तर की तैयारी रखने का निर्देश

इसकी तैयारी के भागरूप सरकार द्वारा सैनिकों को कश्मीर घाटी से उच्च ऊंचाई वाले क्षेत्रों में ले जाने के लिए अधिक हेलीकॉप्टर भी तैयार कर दिए गए है। साथ ही BAE Systems Inc द्वारा निर्मित M777 हॉवित्जर जैसे artillery pieces भी तैयार हैं।

देखे वीडियो: जम्मू-कश्मीर मे आतंकी हमला

नए शामिल किए गए राफेल सहित फाइटर जेट्स को भी भारत-चीन सीमा के साथ तीन अलग-अलग क्षेत्रों में ले जाया गया है। भारतीय नौसेना भी चीन से होने वाले व्यापारिक परिवहन का भी अच्छे से अध्ययन करेगी।  

पिछले साल पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच सबसे घातक गतिरोध के मद्देनजर, केंद्र सरकार ने इस्लामाबाद और बीजिंग के साथ तनाव कम करने के लिए कई कदम उठाए हैं। लेकिन साथ ही अगर भविष्य मे कोई हमला होता है, तो उसके लिए भी सशस्त्र बलों को तैयार रहने के लिए कहा है।

chienese army

Image Credit: Daily Pioneer

मिल रही रिपोर्ट्स के हिसाब से चीन तिब्बत में विवादित सीमा पर नए रनवे बिल्डिंग, बम प्रूफ बंकर, लड़ाकू जेट विमानों और नए हवाई क्षेत्रों को तैयार कर रहा है। बीजिंग मे हालही में लंबी दूरी की तोपें, टैंक, रॉकेट रेजिमेंट और दो इंजन वाले लड़ाकू विमान भी शामिल किए हैं।

देखे वीडियो: CDS रावत की पाक को चेतावनी!

अब तक न तो चाइना, नाही भारत ने बॉर्डर पर तैनात अपने सैनिको के बारे मे कुछ आधिकारिक नंबर बताया है, लेकिन जीस तरह से दोनों देश की तरफ से तैयारियां हो रही है, उससे इतना पता लगाया जा सकता है की बॉर्डर पर महोल तनावपूर्ण है।

दोनों देशों ने दशकों से सीमा पर कायम यथास्थिति बनाए रखने के लिए कई बार कूटनीतिक और सैन्य बातचीत (Talks) भी की है। हालांकि, इन बातचीत से अभी तक कोई बड़ी सफलता हासिल नहीं हुई है।

अब इस टेंशन के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लद्दाख दौरे पर हैं। उन्होने बॉर्डर रोड आर्गेनाईजेशन (BRO) के द्वारा बनाए गए इन्फ्रास्ट्रक्चरल प्रोजेक्ट्स का उद्घाटन भी किया। इसके अलावा वे इस क्षेत्र में तैनात सैनिकों से भी वार्तालाप भी की।

यहाँ पढे: चीन से तनाव के बीच रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा!

“मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि भारत सरकार सशस्त्र बलों की सभी जरूरतों को पूरा करेगी।”: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 

अपने दौरे के दौरान उन्होने उन शहीदो को भी याद किया जिनहोने गलवान घाटी मे शहीदी को गले लगाया था। कारू मिलिट्री स्टेशन पर जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी सेना में हर चुनौती का मुंहतोड़ जवाब देने की क्षमता है। रक्षा मंत्री ने कहा कि पड़ोसी देशों के साथ बातचीत के जरिए मुद्दों का समाधान निकालने का प्रयास किया जाना चाहिए। 

इससे पहले रविवार को, रक्षा मंत्री ने कई घर्षण बिंदुओं पर चीन के साथ गतिरोध के बीच पूर्वी लद्दाख में भारत की सैन्य तैयारियों की व्यापक समीक्षा भी की। राजनाथ सिंह जी को आनेवाली तमाम रक्षा चुनौतीओ के लिए भारतीय सेना की तैयारी के बारे मे भी बताया गया।

यहाँ पढ़ें: आखिर कैसे फिल्मी अंदाज में आतंकी ने किया सरेंडर?

अब जो तनाव बढ़ रहा है, उसको देखकर प्रश्न मन मे यह उठता है की क्या यह तैयारी किसी बड़े घर्षण की है? क्या फिर से भारत और चाइना को एक बड़ी जंग का सामना करना पड़ेगा? क्या इसके लिए कोई और बातचीत की जाएगी? क्या बातचीत से इसका हल निकाल पाएगा? जो भी हो भारतीय सेना पूरी तरह से तैयार है हर वार का जवाब देने के लिए। हो सका तो बातचीत के जरिये, नहीं तो हथियार से भी। पर दुश्मन की हर हरकत का जवाब दिया जाएगा, क्यूंकी ‘ये नया हिंदुस्तान है… घर में घुसेगा भी और मारेगा भी!’

सीमा पर और देश-दुनिया मे जो भी होता है, उसकी हर अपडेट आपको मिलेगी ओटिटी इंडिया पर। 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQj

No comments

leave a comment