Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 5.
Homeन्यूजपंडित नेहरू की तस्वीर हटाये जाने पर ICHR पर भड़के Rahul Gandhi, कहा- दिल से कैसे निकालोगे

पंडित नेहरू की तस्वीर हटाये जाने पर ICHR पर भड़के Rahul Gandhi, कहा- दिल से कैसे निकालोगे

Indian Council of Historical Research
Share Now

देश को आज़ाद कराने में कई महान लोगों ने अपना योगदान दिया है. लेकिन जब उनके योगदान को आंखों के सामने से ओझल किया जाने लगें तो विवाद उठना तय है. जी हां हम बात कर रहें हैं. देश को आजाद कराने वाले ‘फ्रीडम फाइटर्स’ की. दरअसल ”भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद यानी”(Indian Council of Historical Research ) द्वारा आज़ादी के अमृत महोत्सव समारोह से देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नहरू का नाम हटाये जाने का मद्दा गर्माता जा रहा है. यह सवाल उठाए जा रहे हैं कि देश को आजाद कराने वालों के योगदान को कैसे भुलाया जा रहा है? इसी कड़ी में अब कांग्रेस ने भी इस मुद्दे पर सरकार पर आवाज़ उठाई  है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसध राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने इस मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय रखी है.

राहुल गांधी ने की आलोचना 

राहुल गांधी ने भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद (Indian Council of Historical Research ) द्वारा तस्वीर हटाने पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘देश के प्यारे पंडित नेहरू को लोगों के दिल से कैसे निकाला जाएगा’. राहुल गांधी ने फेसबुक के जरिए पंडित जवाहर लाल नहरू की कई तस्वीरों को सांझा करते हुए कहा कि नेहरू को लोगों के दिल से कैसे निकालोगे?

 

ये भी पढ़े: Tokyo Paralympics 2020: भाविना पटेल ने रचा इतिहास, पैरालंपिक में जीता सिल्वर मेडल

 

ICHR पर भड़के थरूर 

महज राहुल गांधी ही नहीं बल्कि कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं में शूमार शशि थरूर से लेकर अन्य पार्टी नेताओं ने भी इस मामले पर अपनी राय रखी है. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने इस मामले पर ट्विटर पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ‘ इसकी सिर्फ निंदा नहीं कि जा सकती, बल्कि ये अनैतिहासिक यानी की इतिहास के खिलाफ भी है, कि किस तरीके से आजादी का जश्न एक अहम आवाज को हटाकर मनाया जा रहा है. थरूर ने आगे कहा कि एक बार फिर (ICHR) ने अपना नाम खराब किया, जो अब उसकी आदत बनता जा रहा है’.  

कार्यकर्ताओं में गुस्सा

वहीं कांग्रेस के कई कार्यकर्ताओं ने भी पूर्व प्रधानमंत्री की तस्वीर हटाये जाने को लेकर कड़ी अपत्ति जताई है साथ ही अपने अपने ट्विटर पर तस्वीरों को सांझा कर रोष भी जाहिर किया है. लेकिन महज कांग्रेस ही नहीं बल्कि कई अन्य दलों के नेताओं ने भी इस मामले पर अपनी राय रखी है. 

आपको बता दें कि ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ देश की आजादी के 75 साल पूरे होने की खुशी में मनाया जा रहा है. हालाकि इस मामले पर अभी तक ‘भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद यानी (ICHR)’ की ओर से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment