Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / November 30.
HomeडिफेंसINS Vela: अंडरवाटर और जमीन पर सटीक निशाना लगाने समेत ये है खासियत

INS Vela: अंडरवाटर और जमीन पर सटीक निशाना लगाने समेत ये है खासियत

INS Vela
Share Now

भारतीय नौसेना की ताकत अब चार गुनी हो जाएगी क्योंकि INS Vela चौथी स्कॉर्पीन क्लास की सबमरीन को कमीशन कर दिया गया है। आईएनएस वेला दुश्मनों के इलाके में तबाही मचाने के लिए तैयार है। इस सबमरीन के शामिल हो जाने से नौसेना का वॉर पावर और भी बढ़ गया है। प्रोजेक्ट 75 के तहत 6 पनडुब्बियों का निर्माण करना शामिल है, जिसमें से 3 सबमरीन कमीशन की जा चुकी है और आज चौथी सबमरीन आईएनएस वेला को नौसेनाध्यक्ष एडमिरल करमबीर सिंह (Chief of Naval Staff Admiral Karambir Singh) कमीशन ने किया।

INS Vela (Scorpene class submarine) की विशेषताएं 

  • आईएनएस वेला स्कॉर्पीन क्लास की सबमरीन है,
  • जिसमें एडवांस एकॉस्टिक साइलेंसिंग टेक्नीक का इस्तेमाल किया गया है,
  • रेडिएटिड नॉइस लेवल बिल्कुल कम है, जिसकी दुश्मन को भनक भी नहीं लगेगी,
  • इसलिए इसे साइलेंट किलर कहा जाता है,
  • यह सबमरीन एंटी-सरफेस वॉरफेयर, एंटी-सबमरीन वॉरफेयर, खुफिया जानकारी इकट्ठी करने,
  • इसके अलावा माइंस बिछाने के साथ-साथ दुश्मन पर निगरानी करने में भी सक्षम है,
  • यह पनडुब्बी आधुनिक तकनीकियों से लैस है,
  • सबमरीन में लगे टॉरपीडो और ट्यूब को आधुनिक तकनीकी से डिजाइन किया गया है,
  • एंटी शिप मिसाइल से अंडरवॉटर और जमीन दोनों जगहों पर निशाना लगाने में सक्षम है। 

यहां पढ़ें: Air Force Satellite: भारतीय वायु सेना की ताकत में बढ़ोत्तरी, GSAT-7C Satellite और Ground Hubs को खरीदने की मंजूरी

INS वेला का निर्माण फ्रांस के मेसर्स नेवल ग्रुप के सहयोग से हुआ: 

INS वेला का निर्माण मुंबई स्थित मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड द्वारा फ्रांस के मेसर्स नेवल ग्रुप के सहयोग से किया गया है। सबमरीन का स्वरूप हाइड्रो-डायनामिक है। आईएनएस वेला का पिछला अवतार 31 अगस्त, 1973 को कमीशन किया गया था और सेवामुक्त होने से पहले 37 वर्षों तक भारतीय नौसेना में शामिल रहकर राष्ट्र की सेवा की थी और 25 जून, 2010 को सेवा से मुक्त हुई थी।

 प्रोजेक्ट 75 के तहत छह में से तीन पनडुब्बियों, कलवरी, खंडेरी, करंज को पहले ही कमीशन कर दिया गया है। 

  1. INS Kalvari प्रोजेक्ट की पहली पनडुब्बी आईएनएस कलवरी को अक्टूबर 2015 में लॉन्च की गई थी और दिसंबर 2017 में इसे कमीशन किया गया था। 
  2. INS Khanderi को जनवरी 2017 में टेस्ट के लिए लॉन्च किया गया था और सितंबर 2019 में इसे कमीशन किया गया। 
  3. INS Karanj- जनवरी 2018 में तीसरी पनडुब्बी आईएनएस करंज को लॉन्च किया गया था और 10 मार्च 2021 को ये कमीशन की गई थी। 
  4. INS Vela- प्रोजेक्ट की चौथी सबमरीन है जिसे वर्ष 2021 में कमीशन किया गया। 
  5. INS Vagir पांचवी सबमरीन आईएनएस वागीर नवंबर 2020 में लॉन्च की गई थी। 
  6. INS Vagsheer छठी पनडुब्बी आईएनएस वाग्शीर निर्माण के एडवांस स्टेज पर है। 

देखें यह वीडियो: Air Show by Indian Air Force 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

No comments

leave a comment