Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / October 16.
Homeकहानियांएक ऐसे लोकनायक की कहानी जिन्होंने की थी ‘सम्पूर्ण क्रांति’ आंदोलन की शुरुआत

एक ऐसे लोकनायक की कहानी जिन्होंने की थी ‘सम्पूर्ण क्रांति’ आंदोलन की शुरुआत

Jayprakash Narayan
Share Now

Jayaprakash Narayan birth anniversary: जयप्रकाश नारायण एक ऐसे समाज-सेवक थे, जिन्हें ‘लोकनायक’ के नाम से जाना जाता है। वर्ष 1999 में उन्हें मरणोपरांत ‘भारत रत्न’से सम्मानित किया गया। उनके सम्मान में पटना के एयरपोर्ट का नाम रखा गया (Jayprakash Narayan International Airport, Patna)। इसके अलावा दिल्ली के सबसे प्राचीन और बड़े अस्पताल का नाम भी ‘लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल’ रखा गया। लोकनायक को वर्ष 1965 में मैगससे पुरस्कार प्रदान किया गया। आज लोकनायक की जन्मतिथि पर दिग्गज राजनेताओं ने ट्वीट कर उन्हें नमन किया। 

जयप्रकाश नारायण का परिचय:-

बिहार में जन्में जयप्रकाश नारायण क्रांतिकारी और सामाजिक राजनेता थे उनका जन्म 11 अक्टूबर, 1902 में बिहार के एक कायस्थ परिवार में हुआ था। उन्होंने अपना विद्यार्थी जीवन पटना में व्यतीत किया, और बिहार विद्यापीठ का हिस्सा बन गए। उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए वर्ष 1922 में अमेरिका गए। वर्ष 1922 से 1929 के बीच कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय-बरकली, विसकांसन विश्वविद्यालय में समाज-शास्त्र का अध्ययन किया। अध्ययन के साथ वे मार्क्स के समाजवाद से काफी प्रभावित हुए। इस प्रकार उन्होंने ए. म. की डिग्री हासिल की और भारत लौट आए। जयप्रकाश गांधी जी से काफी प्रभावित और करीब थे। वर्ष 1920 में क्रांतिकारी का विवाह बिहार के प्रसिद्ध गांधीवादी बृज किशोर प्रसाद की पुत्री प्रभावती के साथ हुआ था।

देखें यह वीडियो: सादगी की मिसाल शास्त्री जी 

क्रांतिकारी ने भारतीय राजनीति को एक नई दिशा दिखाई:- 

क्रांतिकारी जयप्रकाश ने देश की राजनीति को एक अलग राह दिखाई, सामाजिक सुधारों पर उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा। लोकनायक ने भारतवासियों के ग्रामीणों की स्थित को अच्छी तरह से समझकर एक अलग राह दिखाने के अनेकों प्रयत्तन किए कई कार्यों में सफलता भी मिली। सम्पूर्ण जीवन राष्ट्रीयता की भावना एवं नैतिकता की स्थापना में व्यतीत किया। लोकनायक ने भारतीय ग्रामीण वासियों के मसीहा बनकर उनके कदम से कदम मिलकर खड़े रहे। वे राजनीति को एक उन्नत दिशा की ओर ले गए। 

वर्ष 1970 में ‘सम्पूर्ण क्रांति’ आंदोलन शुरू किया जिनमें सात क्रांतियां शामिल हैं:- 

लोकनायक ने वर्ष 1970 में सम्पूर्ण क्रांति आंदोलन शुरू किया, वे पहले नेता थे जिन्होंने इंदिरा गांधी के विरुद्ध विपक्ष का नेतृत्व किया। सम्पूर्ण क्रांति आंदोलन में सात क्रांतियां शमिल हैं- राजनैतिक, आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, बौद्धिक, शैक्षणिक व आध्यात्मिक क्रांति। इन सातों क्रांतियों पर अपना सम्पूर्ण योगदान दिया। बिहार में शुरू की गई क्रांति देश के कोने कोने में चिंगारी की तरह फैल गई।  उनकी इस क्रांति में लालमुनि चैबे, लालू प्रसाद, नीतीश कुमार, रामविलास पासवान जैसे दिग्गज नेताओं ने हिस्सा लिया आज भी यह क्रांति अग्रसर है।  
Jayprakash Narayan

Jayprakash Narayan Image Credit:Google.com

देश में स्वतंत्रता की लड़ाई से लेकर वर्ष 1977 में कई आंदोलनों में लोकनायक अग्रसर रहे। जयप्रकाश नारायण का नाम देश के ऐसे शख्स के रूप में उभरा जिन्होंने अपने विचारों, दर्शन तथा व्यक्तित्व से देश के लोगों के सामाजिक और राजनीतिक जीवन में अनेक बदलाव लाए। शारीरिक स्वास्थ्य सही न रहने के कारण लोकनायक का निधन उनके जन्म स्थान में 8 अक्टूबर 1979 में हुआ था। महान क्रांतिकारी के सम्मान के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह ने 7दिनों लिए के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की थी कई हजार व्यक्ति उनकी लोकयात्रा में शामिल हुए थे। 
देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment