Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / May 18.
Homeइंटरव्युजIPS Ajay Choudhary: गांव के स्कूल से निकल IIT से बने इंजीनियर, आज पुलिस में रोल मॉडल!

IPS Ajay Choudhary: गांव के स्कूल से निकल IIT से बने इंजीनियर, आज पुलिस में रोल मॉडल!

ips ajay chaudhary
Share Now

हर व्यक्ति जन्म से ही प्रतिभाशाली हो ऐसा स्वभविक नहीं, लेकिन व्यक्ति कड़ी मेहनत करे तो वह  बुद्धिमान और सफल जरूर हो सकता है। इस बात को साबित कर दिखाया है, अहमदाबाद के जेसीपी अजय चौधरीजी (JCP Ajay Choudhary) ने…

(IPS Ajay Choudhary) आईपीएस अजय चौधरी का परिचय:- 

आईपीएस अजय चौधरी मूलरूप से झारखंड राज्य के पलामू जिले की देवरीकला गांव के निवासी हैं। इनका जन्म 2 फरवरी 1975  में हुआ था। अजय चौधरी ने कभी सोचा नही था कि वो सरकारी अफसर बनेगें। अजय एक एवरेज स्टूडेंट थे। इन्होंने प्राथमिक शिक्षा गाँव से ही प्राप्त की थी। इसके बाद अजय चौधरी ने सिविल इंजीनियरिंग में बी टेक किया और इंजीनियरिंग आईआईटी की डिग्री दिल्ली प्राप्त की थी।

मध्यम वर्गीय परिस्थितियों का समाना करते हुए, अजय जी ने अपनी जिंदगी में ऐसे कई उत्तर चढ़ाव का सामना किया। अजयजी को जरा भी अंदाजा नहीं था कि वे जीवन में सफल हो पाएंगे, कोई बड़ा मुकाम हासिल कर पाएंगें। लेकिन 8वीं कक्षा के परिणाम के बाद उनमें एक जज्बा जागा तब उन्हें लगा कि वे जीवन में एक सफल व्यक्ति बन सकते हैं। 12वीं कक्षा के बाद से उनका शिक्षा के प्रति लगाव बढ़ता गया धीमे धीमे कड़ी महेनत करके सफल होते गए (JCP Ajay Choudhary)।

ajay choudhary 2

UPSC की तैयारियों के दौरान 24 घंटों रहते पढ़ाई में व्यस्त:- 

अजय चौधरी जब युपीएससी की तैयारीयां कर रहे थे तब बहुत कठिनायों का सामना करना पडा। 24 घंटों वे पढ़ाई में लगे रहते थे। अजय चौधरी कहते हैं कि महेनत करते रहना फल की आशा मत करीए, क्यूंकी उनका मनना है कि, उन्हें मेहनत का फल प्राप्त हुआ है। 

JCP Ajay Choudhary – अजय चौधरी मानते हैं कि आप सफल नही है यह तो बहोत अच्छी बात है, क्योकि आप के लिए आगे का दुसरा रास्ता सही होगा. जब आप असफल हो तो आप निराश होते  जाते है पर असफलता लोंग टर्म के लिए अच्छी बात है,  असफलता से ज्यादा कुछ सीखने को मिलता है ऐसा सोच के महेनत करना चाहिए।

ajay choudhary 3

कर्म करो फल की इच्छा मत रखो: 

आईपीएस अजय चौधरी कह रहे हैं कि हम तो कर्ता हैं जो भी है वो भगवान की कृपा है इसलिए जितना बने उतने अच्छे काम करने चाहिए, समय के हिसाब से चलना चाहिए, आगे का ज्यादा सोचना नहीं सोचना चाहिए।

युवाओं को संदेश देते हैं कि लक्ष्य के हिसाब से महेनत करनी चाहिए, और कोचिंग क्लास भी करनी चाहिए। निर्धारित लक्ष्य के आधार पर तैयारीयां करेगें और सही मार्गदर्शन मिलेगा तो सफलता आपको अवश्य मिलेगी। 

देखे वीडियो : UNSTREAMED TALKS WITH IPS PREMSUKH DELU

क्रिएटिव पेंटिंग और नेचर के बीच रहना पसंद करते हैं JCP Ajay Choudhary :- 

ajay choudhary..

आईपीएस अजय चौधरी को पेंटिंग का बेहद शोख है। वो बचपन से क्रिएटिव पेंटिंग करते हैं, एब्सट्रेक्ट पेंटिंग में उन्हें महारत हासील है। पिछले 40 साल पेंटिंग करते आ रहे हैं, लाइफ को बेलेन्स रखने के लिए पेंटिंग करते हैं, आगे भी एब्सट्रेक्ट पेंटिंग करते रहेंगें। पेंटिंग के अलावा आईपीएस अजय चौधरी नेचर के बीच रहना भी पसंद करते हैं। अजय जी लोगों के प्रति समानभाव की निष्ठा रखते हैं।

आइपीएस अजय चौधरी कहते है कि सभी लोग खास हैं, ईश्वर ने सभी को कुछ ना कुछ अच्छी प्रतिभाएं  प्रदान की है, सिर्फ प्रतिभाओं को पहचानकर उन्हें तराशने की जरूरत होती है।

अजय जी एक केस की बात करते हुए कहते हैं कि, ajay choudhary.

आईपीएस अजय चौधरी (JCP Ajay Choudhary)कहते हैं कि, किसी भी गुनाह को तलाशना और गुनेहगार को पकडना आसान नहीं है, लेकिन सायन्टिफिक युग में और भी आसान है। दाउद इब्राहिम का आदमी मूलरूप से पोरबंदर डिस्ट्रीक्ट से 10 साल भाग रहा था, को कि आरडीएक्स लेंडिग केस में इनवॉल्व था। आखिर वर्ष 2005 उसे अबुधाबी से पकडा गया था। आरोपी को पकड़ने के लिए कुल 15 एजेंसियां शामिल थीं, जिनमें से सीबीआई (CBI), रो (Raw), सीआडी(CID), क्राईम(Crime), लोकल पुलिस (Local Police), स्टेट एटीएस (State ATS) ने आरोपी को पकड़ने में साथ दिया। 

अजय चौधरी को मिली थी जान से मारने की धमकी:- 

अजय चौधरी 2008 में डीसीपी झोन 5 में कार्यरत थे। उस दौरान डीसीपी को टेलिफोनिक धमकी मिली थी, यह धमकी उनको डी गेंग द्वारा दी गई थी। और बोला था कि पहले डीसीपी को मारेंगे बाद में वीआईपी को मारेंगे। उस वक्त तीन जगहों पर कार्यक्रम हो रहे थे। उस दौरान अजयजी विआईपीओं को सुरक्षा प्रदान कर रहे थे। और आईपीएस की सतर्कता और साहस के आगे धमकी देने वाला क्रिमिनल कुछ न कर शका। 

आइपीएस अजय जी प्रेमभाव और शांत स्वभाव के हैं, अपने सभी सहकर्मियों की सहायता करते हैं और उनके परेशानियों में भागीदार बनते हैं।  नौजवानों को मोटिवेट करते है। कोरोनाकाल में गुजरात पोलीस ने लगातार सेवाए दी थी और आज भी सेवायें दे रहे है, कई बार स्वयं आईपीएस अजय चौधरी ने गरीब लोगों की मदद की, कोरोना काल में सेनेटाईज की प्रक्रिया में भी ध्यान दिया। 

इस तरह से जेसीपी अजय चौधरी के सभी कार्य सराहनीय हैं, OTT INDIA उनके कामों को सलाम करता है।

देखें वीडियो : UNSTREAMED TALKS WITH IPS AJAY CHOUDHARY

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment