Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / September 24.
Homeन्यूजअफगानिस्तान के हालात पर बोले बाइडन, कब तक मरते हमारे सैनिक

अफगानिस्तान के हालात पर बोले बाइडन, कब तक मरते हमारे सैनिक

Joe Biden on Afghanistan
Share Now

Joe Biden on Afghanistan: अफगानिस्तान के मौजूदा हालात देखकर जहां एक तरफ पूरी दुनिया हैरान है। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने हाथ खड़े कर दिए। सोमवार को उन्होंने देश के नाम संबोधन (Joe Biden on Afghanistan) में कहा कि वो अपने सेना वापसी के फैसले पर अडिग है। पिछले कई सालों में कई सैनिकों ने अपनी जान गंवाई है। इसके साथ उन्होंने असरफ गनी को भी इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है। बाइडन ने कहा कि गनी को इस संकट के समय अपने लोगों के साथ खड़ा होना चाहिए था, लेकिन वो बिना लड़े ही भाग गए।

Joe Biden

दुनियाभर में आलोचना झेल रहे बाइडन:

आपको बता दें पिछले बीस सालों से अमरीकी सेना वहां तालिबानियों ने लोहा ले रही थी। अमेरिका के सैनिकों ने अफगान में करीब 3 लाख सैनिकों की बड़ी फौज खड़ी करवाने में पूरी सहायता की। जिसमें हथियार चलाने से लेकर युद्ध लड़ने तक की ट्रेनिंग सहित अन्य सभी चीज़ों में उन्हें निपुण किया। लेकिन जो बाइडन के एक फैसले ने अफ़ग़ानिस्तान को वापस तालिबान के जंगल राज में धकेल दिया। ट्रंप के समय अफगानिस्तान में 15 हजार से ज्यादा अमेरिकी सैनिक थे, वहीं जो बाइडन के आने बाद सिर्फ दो हजार सैनिक रह गए थे।

बाइडन ने सैनिकों को वापस बुलाने के अपने फैसले को सही ठहराते हुए कहा कि अमेरिका ने बहुत त्याग किया है। अमेरिका का काम अफगानिस्तान में आतंकवाद के खिलाफ लड़ना था, राष्ट्र निर्माण करना नहीं। उन्होंने कहा कि एक राष्ट्रपति के तौर पर उन्हें कुछ फैसले लेने थे। वो अपने सैनिकों की जान को और खतरे में नहीं डाल सकते थे। इसके अलावा उन्होंने अफगानिस्तान के हालात को गंभीर बताते हुए दुनिया से मदद के लिए आगे आने को कहा।

trump

अमेरिकी इतिहास में सबसे बड़ी हार: डोनाल्ड ट्रंप

अफगानिस्तान में तालिबान के राज के लिए सभी अमेरिका को जिम्मेदार बता रहे है। इस घटनाक्रम को लेकर अमेरिकी पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ऐसे अमेरिका के इतिहास की सबसे बड़ी हार करार दिया है। उन्होंने बाइडन पर तंज कसते हुए कहा कि, जो बाइडेन ने अफगानिस्तान के साथ जो किया है वो महान है। यह एक बड़ी हार के तौर पर अमेरिकी इतिहास में दर्ज होगा।

ट्रंप के बाद पूर्व विदेश मंत्री माइक पोंपिओ ने भी बाइडन पर जमकर हमला।उन्होंने कहा कि अगर मैं डोनाल्ड ट्रंप जैसे कमांडर इन चीफ के साथ मंत्री होता तो तालिबान को उसकी औकात याद दिला देते। कासिम सुलेमानी को इसका सबक सिखाया था। तालिबान कभी ऐसी हिमाकत नहीं कर पता।

यहाँ पढ़ें: तीन लोगों ने गंवाई जान, काबुल एयरपोर्ट पर मची भगदड़!

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment