Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 1.
Homeन्यूजसीएम केजरिवल ने लगाए केंद्र सरकार पर आरोप!

सीएम केजरिवल ने लगाए केंद्र सरकार पर आरोप!

Share Now

दिल्ली में हर घर तक राशन पहुंचाने की केजरीवाल सरकार की योजना पर केंद्र की रोक के बाद अब आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। केंद्र की ओर से दिल्ली सरकार की ‘घर-घर राशन योजना’ पर रोक लगाने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की|

Image Source: Google

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि आप योजना पर रोक लगाकर राशन माफ़िया की मदद करना चाह रहे हैं। यह ठीक नहीं है। अगर आप राशन माफ़िया के साथ खड़े होंगे, तो गरीबों का साथ कौन देगा? केजरीवाल ने केंद्र से ये सवाल किया कि अगर इस देश में पिज्जा-बर्गर और स्मार्टफोन की होम डिलीवरी हो सकती है, तो फिर राशन की क्यों नहीं?

Image Source: Google

 उन्होंने कहा कि ये योजना लागू करने की पूरी तैयारी हो चुकी थी तो फिर आपने दो दिन पहले क्यों रोक लगा दी? केजरीवाल ने कहा कि आपने हमारी योजना ये कहकर खारिज कर दी कि हमने केंद्र से मंजूरी नहीं ली थी| लेकिन हमने केंद्र से इस योजना के लिए पहले 5 बार एप्रूवल लिया था| 

Image Source: Google

सीएम केजरिवल ने पीएम मोदी से मांगी अनुमति 

सीएम केजरीवाल ने कहा, “अगले हफ्ते से घर-घर राशन योजना शुरू होनी थी| सारी तैयारियां हो चुकी थीं, लेकिन आपने अचानक दो दिन पहले क्यों रोक दी? प्रधानमंत्री जी आज मैं बहुत व्यथित हूं| आज मुझसे कोई भूल हो जाए तो माफ कर देना| प्रधानमंत्री सर, इस स्कीम के लिए राज्य सरकार सक्षम है और हम केंद्र से कोई विवाद नहीं चाहते| हमने इसका नाम मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना रखा था| आपने तब कहा कि योजना में मुख्यमंत्री नाम नहीं आ सकता| हमने आपकी बात मानकर नाम हटा दिया| आपने अब हमारी योजना ये कहते हुए खारिज कर दी कि हमने केंद्र से अनुमति नहीं ली| केंद्र सरकार से इस योजना के लिए हमने 5 बार अनुमति ली|” 

यह भी पढ़ें: CA फायनल की परीक्षा पोस्टपोन कराने की मांग

Image Source: Google

 पिज्जा-बर्गर और स्मार्टफोन की होम डिलीवरी हो सकती है, तो फिर राशन की क्यों नहीं?

उन्होंने आगे कहा, “इस देश में अगर स्मार्टफोन, पिज्जा की डिलीवरी हो सकती है तो राशन की क्यों नहीं? आपको राशन माफिया से क्या हमदर्दी है प्रधानमंत्री सर? उन गरीबों की कौन सुनेगा? केंद्र ने कोर्ट में हमारी योजना के खिलाफ आपत्ति नही की तो अब खारिज़ क्यों किया जा रहा है? कई गरीब लोगों की नौकरी जा चुकी है| लोग बाहर नही जाना चाहते इसलिए हम घर-घर राशन भेजना चाहते हैं|” साथ ही उन्होंने केंद्र से कहा की आप अप्रूव कर दे इस योजना को मै सभी से यही कहूँगा की मोदी जी ने योजना लागू की है| ये राशन ना आम आदमी पार्टी का है, ना भाजपा का| ये राशन तो इस देश के लोगों का है और इस राशन की चोरी रोकने की जिम्मेदारी हम दोनों की है| इस वक्त देश बहुत भारी संकट से गुजर रहा है| ये वक्त एक-दूसरे का हाथ पकड़कर मदद करने का है| ये वक्त एक-दूसरे से झगड़ने का नहीं है|

Image Source: Google

बीजेपी ने कहा, आप कानून से ऊपर नहीं

बीजेपी प्रवक्ता हरीश खुराना ने ट्वीट करके  केजरीवाल के आरोपों का जवाब दिया| उन्होंने लिखा, “आपको समझना पड़ेगा सरकार तो संविधान और कानून के हिसाब से ही चलेगी| NFSA एक्ट का सेक्शन 12(2) कहता है कि केंद्र का अप्रूवल जरूरी है कोई नई स्कीम शुरू करने के लिए| दूसरा ये कि कोर्ट का स्टे है इस स्कीम को लागू करने के लिए|

हरीश खुराना आगे कहते है, “आप कानून के हिसाब से केंद्र से परमिशन क्यों नहीं ले रहे हैं? केजरीवाल जी आप कानून से ऊपर तो नहीं हो गए| उल्टा केंद्र तो आपको पूरी मदद करने को तैयार है और ज़्यादा राशन देने को तैयार है| वैसे आपको 7 साल लग गए राशन माफिया खत्म करने के लिए| राजनीति मत करो केजरीवाल और कानून के हिसाब से काम करो|” 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। केजरीवाल ने केंद्र से ये सवाल किया कि अगर इस देश में पिज्जा-बर्गर और स्मार्टफोन की होम डिलीवरी हो सकती है, तो फिर राशन की क्यों नहीं?

यहाँ पढ़ें: अस्पताल में नहीं बोली जाएगी ‘मलयालम’ भाषा?

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

 

No comments

leave a comment