Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 5.
Homeट्रैवेलजानें श्रीनगर के सौंदर्य में चार चांद लगाने वाले शिकारा और हाउसबोट फेस्टिवल के बारे में खास बातें

जानें श्रीनगर के सौंदर्य में चार चांद लगाने वाले शिकारा और हाउसबोट फेस्टिवल के बारे में खास बातें

Shikara
Share Now

जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) को यूं ही धरती का स्वर्ग नहीं कहा जाता, बल्कि इसकी प्राकृतिक सुंदरता और भौगोलिक संरचना इसे इस काबिल बनाती है. आम तौर पर अगर कोई पर्यटक जम्मू-कश्मीर घूमने के लिए जाए तो वह डल झील (Dal Lake) की सैर न करे ऐसा संभव नहीं है. क्योंकि डल झील पर्यटकों के लिए काफी आकर्षक जगहों में से एक है. डल झील का खूबसूरत नजारा हर किसी का मन मोह लेता है.

डल झील की शानदार तस्वीरें

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने भी 25 अक्टूबर की शाम डल झील का मनमोहक नजारा देखा और उसकी खूबसूरत तस्वीरें शेयर कीं. इन तस्वीरों में खास बात ये रही कि इनमें लेजर शो से लेकर म्यूजिकल फाउंटेन (Musical Fountane) और शिकारा (Shikara) से लेकर हाउसबोट फेस्टिवल (Houseboat Festival) तक की झलक देखने को मिली. ऐसे में जानते हैं कि आखिर शिकारा और हाउसबोट फेस्टिवल क्या है, इसे कैसे और क्यों मनाते हैं.

Shikara

Image Courtesy: Twitter.com

जम्मू-कश्मीर का सांस्कृतिक प्रतीक है शिकारा

दरअसल शिकारा एक तरह की बोट (नाव) का नाम है. इसकी खासियत यह है कि यह विशेष तौर पर श्रीनगर के डल झील में ही इस्तेमाल में लाई जाती है. मतलब अगर आपको शिकारा की सवारी करनी है तो डल झील की सैर करनी होगी. यही वजह है कि इसे जम्मू-कश्मीर के सांस्कृतिक प्रतीक के तौर पर देखा जाता है. इस तरह की ज्यादातर नाव तिरपाल से ढंकी होती हैं.

शिकारा महोत्सव का भी होता है आयोजन

सामान्य तौर पर गर्मी के मौसम में आयोजित होने वाले शिकारा महोत्सव (Shikara Festival) में इसे पूरी तरह सजाया जाता है फिर रेसिंग भी होती है. इसके अलावा केरल में भी शिकारा की तरह की नाव इस्तेमाल की जाती हैं. आम तौर पर इसमें छह लोग बैठ सकते हैं. इससे जुड़ी खास बात ये भी है कि ये न सिर्फ पर्यटकों के घूमने के लिए है बल्कि परिवहन के साधन के रूप में भी इसका इस्तेमाल होता है.

Shikara

Image Courtesy: Twitter.com

ये भी पढ़ें: हिमाचल, उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में बिछी बर्फ की चादर, चारधाम यात्रा एक बार फिर शुरू

हाउसबोट फेस्टिवल का मनमोहक नजारा

इसके अलावा वहां हाउसबोट फेस्टिवल (Houseboat Festival) का भी आयोजन किया जाता है. जिसका नजारा भी काफी मनमोहक होता है. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इस बार हाउसबोट फेस्टिवल का उद्घाटन किया. हाउसबोट का मतलब लकड़ी के बने एक ऐसे घर से है जो हमेशा पानी में तैरता रहता है और पर्यटक उसका लुत्फ उठाते हैं. एक तरफ शिकारा और दूसरी ओर हाउसबोट का आनंद पर्यटकों के मन को असीम शांति और आनंद का अनुभव प्रदान करता है.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment